For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    बधाई हो, बालिका वधू एक्टर सुरेखा सीकरी दिमागी दौरे के बाद अस्पताल में भर्ती, को स्टार्स कर रहे मदद

    |

    बालिका वधू की प्यारी दादी सा, सुरेखा सीकरी, ब्रेन स्ट्रोक के बाद अस्पताल में भर्ती हैं। उनकी हालत गंभीर है, हालांकि वो होश में हैं। सुरेखा सिकरी आखिरी बार फिल्म बधाई हो में दिखाई दी थीं। फिल्म में वो आयुष्मान खुराना की दादी, गजराज राव की मां और नीना गुप्ता की सास के रोल में दिखाई दी थीं।

    उनकी तबीयत के बारे में सुनकर बधाई हो में उनके बेटे का किरदार निभा चुके एक्टर गजराज राव ने उनके सेक्रेटरी विवेक से संपर्क किया। गजराज राव ने बताया कि सुरेखा जी की पूरी मदद करने की कोशिश कर रहे हैं।

    वहीं बधाई हो के डायरेक्टर अमित शर्मा भी लगातार सुरेखा जी के सेक्रेटरी से संपर्क कर उनकी पूरी मदद कर रहे हैं।

    साथी कर रहे हैं मदद

    साथी कर रहे हैं मदद

    अमित शर्मा ने बताया कि मैं गोवा में हूं लेकिन सुरेखा जी के परिवार के संपर्क में हूं। वो अभी आईसीयू में हैं और उन्हें under observation रखा गया है।

    पैसों की कमी नहीं

    पैसों की कमी नहीं

    अमित शर्मा ने साफ किया कि वो पूरी कोशिश करेंगे कि सुरेखा जी के ईलाज में कोई भी कमी ना रहे। उन्होंने साफ किया कि उन्हें नहीं लगता है कि उनके ईलाज में पैसों की कोई कमी आएगी।

    नर्स ने बताई हालत

    नर्स ने बताई हालत

    सुरेखा सीकरी के साथ उनके घर में रहने वाली नर्स ने बताया कि उन्होंने सुरेखा जी को छोटे से अस्पताल में भर्ती करवाया है। वो उन्हें बड़े अस्पताल में भर्ती नहीं करवा पाईं क्योंकि उनकी माली हालत ज़्यादा अच्छी नहीं हैं और वो बड़े अस्पताल में ईलाज करवाना afford नहीं कर सकतीं।

    75 साल की सुरेखा सिकरी

    75 साल की सुरेखा सिकरी

    गौरतलब है कि सुरेखा सीकरी की उम्र 75 साल की है। उन्होंने 2018 में आई फिल्म बधाई हो के लिए काफी सराहना पाई थी। इस फिल्म के लिए उन्हें सपोर्टिंग एक्ट्रेस के अवार्ड भी मिले।

    बधाई हो के लिए नेशनल अवार्ड

    बधाई हो के लिए नेशनल अवार्ड

    बधाई हो में दादी की शानदार भूमिका के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला। फिल्म में वो एक ऐसी सास की भूमिका में थीं जो अपनी 50 साल की गर्भवती बहू का अपने परिवार के विरूद्ध जाकर पूरा साथ देती है।

    तीन बार नेशनल अवार्ड

    तीन बार नेशनल अवार्ड

    सुरेखा सीकरी को तीन बार नेशनल अवार्ड मिल चुका है। 1988 में तमस और 1995 में उन्हें मम्मो के लिए नेशनल अवार्ड मिला था।

    आ चुका है स्ट्रोक

    आ चुका है स्ट्रोक

    गौरतलब है कि सुरेखा सीकरी को 2018 में एक बार पहले भी ब्रेन स्ट्रोक पड़ चुका है जिसके बाद उनके शरीर का एक हिस्सा लकवा मार गया था। लॉकडाउन के बाद सीनियर एक्टर्स को काम ना करने के आदेश के खिलाफ बात करते हुए उन्होंने पूछा था कि उनके ईलाज का खर्च लगभग 2 लाख रूपये महीना है। वो अपने बिल कैसे चुकाएंगी। सरकार उनका खुद का ख्याल रख पाने का मूल अधिकार छीन रही है।

    काम की कमी नहीं

    काम की कमी नहीं

    सुरेखा सीकरी ने ये भी बताया था कि उनके पास काम और ऑफर की कमी नहीं है। लेकिन वो काम कैसे करें जब सेट पर जाने की अनुमति ही नहीं दी जा रही है।

    फिल्मों में बेहतरीन काम

    फिल्मों में बेहतरीन काम

    सुरेखा सीकरी फिल्मों में बेहतरीन पारी खेल चुकी हैं। उन्हें ज़ुबैदा, सरदारी बेगम, रेनकोट के अपने किरदारों के लिए दर्शकों से काफी प्रोत्साहन मिला था।

    दादी सा से मशहूर

    दादी सा से मशहूर

    सुरेखा सीकरी टीवी पर बालिका वधू की दादी सा के नाम से मशहूर हैं। सीरियल में वो मुख्य किरदार आनंदी और जगिया की कड़क दादी सा के किरदार में दिखाई दी थीं और इस किरदार से उन्होंने लोगों का दिल जीता था। टीवी पर वो बनेगी अपनी बात, एक था राजा एक थी रानी, सात फेरे जैसे सीरियलों के लिए मशहूर हैं।

    English summary
    Senior actor Surekha Sikri has been hospitalised after a brain stroke. Sikri’s Badhaai ho team is helping her with finances.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X