For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

    INTERVIEW: मुझे कॉमेडी फिल्में करना सबसे ज्यादा पसंद है, वेलकम बैक जैसी - जॉन अब्राहम

    |

    1998 में भारत में हुए परमाणु परीक्षण पर फिल्म बनाना किसी चैलेंज से कम नहीं। लेकिन यह चैलेंज लिया है कि निर्माता- एक्टर जॉन अब्राहम ने। 25 मई को रिलीज होने वाली इस फिल्म का निर्देशन किया है अभिषेक शर्मा ने। फिल्म में जॉन के साथ दिखेंगें डायना पेंटी और बोमन ईरानी। सह निर्माता से काफी समय तक विवादों में उलझे रहने के बाद आखिरकार फिल्म रिलीज हो रही है, जिसे लेकर सभी उत्साहित हैं।

    John Abraham

    फिल्म के प्रमोशन पर जॉन ने सीधे सपाट शब्दों में कहा कि परमाणु वर्ड ऑफ माउथ की फिल्म है। हमने इस विषय पर सिंपल फिल्म बनाई है, जो दर्शकों को जरूर पसंद आएगी। इसी दौरान फिल्मीबीट ने भी जॉन से कुछ खास बातचीत की। जहां उन्होंने अपनी फिल्मों के साथ साथ बॉलीवुड के अन्य पक्षों पर भी अपने विचार सामने रखे।

    यहां पढ़ें इंटरव्यू से कुछ प्रमुख अंश-

    इतनी मुश्किलों के बाद, परमाणु अब रिलीज हो रही है। बतौर प्रोड्यूसर कैसा महसूस कर रहे हैं आप?

    इतनी मुश्किलों के बाद, परमाणु अब रिलीज हो रही है। बतौर प्रोड्यूसर कैसा महसूस कर रहे हैं आप?

    राहत महसूस कर रहा हूं। अक्सर फिल्म रिलीज के पहले हमें टेंशन होती है कि फिल्म को रिस्पॉस कैसा मिलेगा, दर्शकों को पसंद आएगी या नहीं। लेकिन यहां हम उस स्टेज तक पहुंच ही नहीं पाए। हमारी टीम खुश है कि फिल्म रिलीज हो रही है और मैं इसके लिए हाई कोर्ट का बहुत शुक्रगुज़ार हूं कि उन्होंने सही फैसला सुनाया।

    बतौर प्रोड्यूसर आपने परमाणु परीक्षण जैसे विषय को फिल्म बनाने के लिए कैसे और क्यों चुना?

    बतौर प्रोड्यूसर आपने परमाणु परीक्षण जैसे विषय को फिल्म बनाने के लिए कैसे और क्यों चुना?

    निर्देशक अभिषेक शर्मा मे मुझे यह आइडिया सुनाया। मैंने सिर्फ यही सोचा कि 20 सालों में अब तक किसी ने आखिर इस विषय पर फिल्म बनाई क्यों नहीं। यह भारत के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि थी, वह क्षण हर भारतवासी के लिए महत्व रखता है। हम एक ही विषय पर फिल्म बनाते जाते हैं, बनाते जाते हैं। वही लव स्टोरी चलती रहती है। लेकिन आज तक किसी ने इस उपलब्धि पर फिल्म नहीं बनाई।

    जब अभिषेक ने मुझे आइडिया सुनाया तो मैंने सिर्फ दो बातें सोची- पहली कि यह आसान फिल्म नहीं होगी। दूसरी ये कि क्या मैं इसे कर पाऊंगा? और जैसे ही ये दो सवाल मेरे दिमाग में आए, मैंने फिल्म को तुरंत हां कर दिया। मैं खुद को एक चांस देना चाहता था। इस फिल्म के लिए पूरी क्रेडिट अभिषेक शर्मा और उनकी टीम को देना चाहूंगा। और दिल से मैं डायना पेंटी का शुक्रिया करूंगा कि उन्होंने इस फिल्म को चुना। मैं बताना चाहूंगा कि पूरी कास्ट ने इस फिल्म को रिकॉर्ड टाइम पर खत्म किया है। हमने शेड्यूल से दो दिन पहले ही फिल्म खत्म कर ली थी।

    यह फिल्म सच्ची घटना पर आधारित है, ऐसे में फिल्म बनाते समय आपने किन किन बातों का खास ध्यान रखा?

    यह फिल्म सच्ची घटना पर आधारित है, ऐसे में फिल्म बनाते समय आपने किन किन बातों का खास ध्यान रखा?

    परमाणु सच्ची घटना है। लिहाजा, जो पहली और सबसे अहम चीज थी, वह थी रिसर्च। ऐसे में आप फिल्म के प्लॉट के साथ खेल नहीं सकते। हमारी फिल्म की प्लॉट 85 से 90 प्रतिशत तथ्य पर आधारित है, जबकि बाकी 10 प्रतिशत काल्पनिक है। जाहिर है फिल्म में हम एपीजे अब्दुल कलाम, पी चिदंबरम और अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे, इसीलिए हमने कुछ नाम और कुछ किरदारों को खुद से जोड़ा है। खासकर मेरे किरदार को भी इसीलिए गढ़ा गया है क्योंकि कहानी कहने के लिए आपको किसी ज़रिये की जरूरत होती है।

    फिल्म में काफी तथ्य डाले गए हैं, जिससे दर्शकों को जोड़ने के लिए हमने 20-25 मिनट का समय रखा है। मैं जरूरत से ज्यादा शिक्षात्मक फिल्म नहीं बनाना चाहता था, इसीलिए हमने प्लॉट को सिंपल रखा है। ताकि 1998 में भारत में क्या हुआ, यह बच्चे से लेकर बूढ़े, एमएनसी में काम करने वाले से लेकर चाय बेचने वाले तक को पता चले। आप कह सकते हैं कि परमाणु देशभक्ति वाली फिल्म नहीं है, यह एक तरह का थ्रिलर है। लेकिन जब आप थियेटर से बाहर कदम रखेंगे, तो जरूर सोचेंगे- I am proud to be an Indian.

    इस फिल्म के लिए आपने क्या तैयारी की?

    इस फिल्म के लिए आपने क्या तैयारी की?

    फिल्म के लिए हमने वर्कशॉप किये थे क्योंकि आर्मी यूनिफॉर्म पहनना ही खुद में बड़ी जिम्मेदारी है। लेकिन मुख्य तौर पर जो भी तैयारी थी वह रिसर्च के स्तर पर ही थी। फिल्म में आप जो कुछ भी देंखेगे, जो भी हमने किया है, वह बिल्कुल सही है। जब आप फिल्म के अंत में क्रेडिट देखेंगे, तब आपको इसका अंदाजा होगा कि हमने कितनी बारीकी से रिसर्च किया है।

    एक फिल्म के पीछे काफी मेहनत की जाती है, लेकिन कभी कभी कुछ फिल्में नहीं चलती हैं। क्या आपको यह प्रभावित करता है?

    एक फिल्म के पीछे काफी मेहनत की जाती है, लेकिन कभी कभी कुछ फिल्में नहीं चलती हैं। क्या आपको यह प्रभावित करता है?

    सच कहूं तो नहीं। मुझे लगता है कि सब कुछ यहां इतनी तेज़ी से होता है कि आपके पास यह सोचने का समय ही नहीं होता कि फिल्म चली तो क्यों चली, नहीं चली तो क्यों नहीं चली। यूं भी एक फिल्म से कई चीजें जुड़ी होती हैं, फिल्म फ्लॉप होने के पीछे कोई एक कारण नहीं होता, चाहे वह एक्टर हो, या डाइरेक्टर।

    खैर, परमाणु के लिए मैं इतना ही कहना चाहूंगा कि यह पूरी तरह से वर्ड ऑफ माउथ पर निर्भर फिल्म है।

    जॉन अब्राहम बतौर निर्माता अलग तरह की फिल्मों को चुनते हैं और बतौर एक्टर अलग तरह की फिल्में। ऐसा क्यों?

    जॉन अब्राहम बतौर निर्माता अलग तरह की फिल्मों को चुनते हैं और बतौर एक्टर अलग तरह की फिल्में। ऐसा क्यों?

    दरअसल, बतौर प्रोड्यूसर मैं अलग ढ़ंग से सोचता हूं और एक एक्टर के तौर पर दर्शकों को मुझसे कुछ अलग तरह की अपेक्षाएं हैं। सच कहूं तो मुझे सबसे ज्यादा मज़ा कॉमेडी फिल्में करने में आता है। मुझे वेलकम बैक जैसी फिल्में करना पसंद है। मैं कॉमेडी फिल्म प्रोड्यूस भी करना चाहूंगा, एडल्ट कॉमेडी को छोड़कर। लेकिन दर्शक मुझे मद्रास कैफे जैसी फिल्म में देखना ज्यादा पसंद करते हैं। ऐसे में मैं बैलेंस बनाकर चलने की कोशिश करता हूं।

    खबर है कि आपकी आने वाली फिल्म RAW की स्क्रिप्ट काफी हद तक राज़ी से मिलती जुलती थी। लिहाजा, अब उसकी स्क्रिप्ट में काफी बदलाव किये जा रहे हैं?

    खबर है कि आपकी आने वाली फिल्म RAW की स्क्रिप्ट काफी हद तक राज़ी से मिलती जुलती थी। लिहाजा, अब उसकी स्क्रिप्ट में काफी बदलाव किये जा रहे हैं?

    फिल्म की स्क्रिप्ट वही है, जो मुझे सुनाया गया था लगभग 4 या 5 महीने पहले। मैं अब तक राज़ी देख नहीं पाया हूं, लेकिन मैंने सुना है कि वह बेहतरीन फिल्म है। लेकिन मैंने फिल्म देखी नहीं है तो मैं बता भी नहीं सकता कि रॉ की स्क्रिप्ट वैसी है या नहीं। फिलहाल तो फिल्म की स्क्रिप्ट वही है, जो मुझे सुनाई गई थी।

    English summary
    In an interview with Filmibeat, John Abraham shares views on his upcoming film Parmanu. And his experience as a producer.

    रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more