»   » All Is Well में बहुत कुछ नॉट वेल- फिल्म रिव्यू

All Is Well में बहुत कुछ नॉट वेल- फिल्म रिव्यू

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

निर्देशन- उमेश शुक्ला
निर्माता- भूषण कुमार, कृष्ण कुमार
एक्टर्स- अभिषे बच्चन, आसिन, ऋषि कपूर, सुप्रिया पाठक
संगीत- हिमेश रेशमिया
स्टार- 2

ऑल इज वेल की शुरुआत होती है रॉक गान से जिसमें हैंडसम इंदर (अभिषेक बच्चन) परफॉर्म कर रहे हैं और याद कर रहे हैं अपने पेरेंट्स के साथ बिताए गये बचपन की। इंदर का बचपन बहुत ही परेशानियों से भरा रहा जिसके दौरान उसने अक्सर ही अपने माता-पिता को एक दूसरे से पैसों को लेकर लड़ते हुए देखा था।

'मांझी द माउंटेन मैन' फिल्म रिव्यू- शानदार, जबरदस्त!

अभिषेक बच्चन, सुप्रिया पाठक ऋषि कपूर जैसे बेहतरीन अभिनेताओं से सजी फिल्म ऑल इज वेल में सबकुछ वेल नहीं है। ऐसा हम ही नहीं बल्कि दर्शक भी कह रहे हैं। कॉमेडी की बात करें तो ऑल इज वेल बहुत ही एवरेज है और फिल्म में इमोशनल सीन्स के नाम पर भी एक दो सीन्स हैं जो कि कुछ खास नहीं हैं।

ऑल इज वेल फिल्म के पोस्टर से ये तो जाहिर हो जाता है कि ये एक बेटे की कहानी है जो जो कि अपने पेरेट्स की काफी इज्जत करता है और उनके लिए कुछ भी करने को तैयार रहता है। 2015 का श्रवण कुमार।

कहानी
  

कहानी

इंदर ने बचपन से ही अपने माता-पिता को फाइनेंशियल मुश्किलों को सहते हुए देखा है। बड़े होने के बाद इंदर अपने परिवार से दूर रहने की कोशिश करता है क्योंकि वो दोबारा से उस माहौल में वापस नहीं जाना चाहता। उसके पिता मिस्टर भल्ला चाहते हैं कि इंदर उनका बेकरी बिजनेस संभाले जबकि इंदर अपने हिसाब से अपनी जंदगी गुजरना चाहता है। इंडिया वापस आने के बाद उसे पता चलता है कि उसके पिता ने करीब 10 लाख रुपये उधार लिये हैं। इँदर काफी परेशान होता है लेकिन आखिरकार वो अपने पिता की मदद करने की तैयारी करता है।

अभिनय
  

अभिनय

अभिषेक बच्चन और ऋषि कपूर की बाप-बेटे की कैमिस्ट्री बेहद ही मजेदार है। हालांकि इस कैमिस्ट्र को और भी खूबसूरत और मजेदार बनाया जा सकता था। अभिषेक बच्चन कॉमेडी के मामले में हमेशा ही बेस्ट रहे हैं।इस बार भी उन्होंने पूरी कोशिश की है। आसिन अपने किरदार में खूबसूरत क्यूट दिखी हैं। ऋषि कपूर भी अपने किरादार में लाजवाब हैं। सुप्रिया पाठक के हिस्से में कुछ खास सीन्स नहीं हैं इमोशनल पार्ट उनपर ही निर्भर है।

निर्देशन
  

निर्देशन

निर्देशन के मामले में उमेश शुक्ला ने फिल्म में काफी झोल किये हैं। ऑल इज वेल में बहुत कुछ नॉट वेल नजर आया। किरदारों के अलावा फिल्म की कहानी और कुछ सीन्स में काफी सुधार किया जा सकता था। हालांकि ऑल इज वेल में पंजाबी टच डालने में उमेश शुक्ला काफी बेहतर रहे।

म्यूसिक
  

म्यूसिक

ऑल इज वेल का म्यूज़िक बेहतरीन है। मिथुन, हिमेश रेशमिया ने मिलकर फिल्म को बेहतरीन म्यूसिक से सजाया है। बातों को तेरी, मेरे हमसफर जैसे रोमांटिक सॉंग्स काफी खूबसूरत हैं। वहीं चार शनिवार, नचन फराटे जैसे डांस नंबर्स भी बेहतरीन हैं।

लोकेशन
  

लोकेशन

ऑल इज वेल की लोकेशन्स खूबसूरत हैं। रोड ट्रिप है तो जाहिर है कि लोकेशन्स पर काफी ध्यान देना था। जिसपर उमेश शुक्ला ने पूरा ध्यान दिया भी।

कॉमेडी
  

कॉमेडी

कॉमेडी के मामले में ऑल इज वेल अप टू दि मार्क नहीं थी। सुप्रिया पाठक , अभिषेक बच्चन और ऋषि कपूर से दर्शकों को काफी उम्मीदें थीं जो कि पूरी नहीं हो सकीं।

देखें या नहीं
  

देखें या नहीं

ऑल इज वेल एक लाइट फिल्म है जिसमें कॉमेडी, एंटरटेनमेंट सबकुछ है। हालांकि ये उस लेवल की नहीं बनी जितनी फैंस को उम्मीद थी। एक बार फिल्म देखी जा सकती है अगर अभी तक लगी हर फिल्म आप देख चुके हों तो।

Please Wait while comments are loading...