»   »  मैं शादीशुदा हूं: संपदा वजे

मैं शादीशुदा हूं: संपदा वजे

Posted By: Super
Subscribe to Filmibeat Hindi
सम्पदा वजे के नाम से तो सभी वाकिफ ही हैं। इंडस्ट्री में धीरे धीरे सही लेकिन सम्पदा को अपनी पहचान मिलती जा रही है। सम्पदा के बारे में अलग अलग लोगों की अलग अलग राय है। कुछ का कहना है कि सम्पदा पूरी तरह पश्चिमी सभ्यता में ढली हुई लड़की है तो कुछ के ख्याल इसके विपरीत हैं। आइये पेश है सम्पदा से की गई बातचीत के कुछ अंश जिसमें उन्होंने शादी जैसी संस्था को लेकर अपने विचार व्यक्त किए हैं। वैसे बहुत ही कम लोग इस बात से वाकिफ हैं कि सम्पदा का विवाह हो चुका है।

आप अपने जीवन साथी में किन गुणों की अपेक्षा करती हैं?
मैं यह देखती हूं कि वे क्या बात कर रहे हैं। वह मधुर बोलने वाला, दुनिया के बारे में जानकारी रखने वाला हो। मैं स्वयं के बलबूते पर बने व्यक्ति का सम्मान करती हूं। वह महिलाओं और मेरे पारिवारिक सदस्यों का सम्मान करने वाला हो।

क्या वह दिखने में खूबसूरत होना चाहिए?
नहीं, नहीं, बिल्कुल नही। मैं घमंडी खूबसूरत स्त्रियों और पुरुषों को भाव नहीं दे सकती। मुझे नहीं लगता कि खूबसूरती ही किसी के बेहतर होने का मानक है।

आप एक तरफा प्रेम पर विश्वास करती हैं क्या?
नहीं, मुझे एकतरफा प्यार पर बिल्कुल विश्वास नहीं है। मैं सोचती हूं कि यह एक तरह से आकर्षण है जिसे आप बढाते जाते हैं।

आपको पहली बार कब आकर्षित हुई थी?
(हंसते हुए) मैं जब छठी कक्षा में थी तो मेरे क्लब हाउस में एक बहुत प्यारा लडका था। वह अच्छा तैराक था और उसका अजीब सा नाम दुसांद था। इतने साल के बाद मुझे उसका चेहरा तो याद नहीं है लेकिन नाम याद है।

क्या किसी व्यक्ति को जानने के लिए आप उसके साथ बाहर जाना पसंद कर सकती हैं?
हां, जरुर। क्योंकि इससे आप किसी को बेहतर तरीके से जान सकते हैं। हमारे माता पिता और दादा दादी भले ही इस बात के समर्थन में नहीं हो लेकिन मैं इसका समर्थन करती हूं। हमें इस अवसर का फायदा उठाकर जागरुक बनना चाहिए।

क्या आप चाहती हैं कि आपका जीवन साथी आपको फूल आदि देकर प्रभावित करे?
मैं इन सबसे ज्यादा प्रभावित नहीं होती। मैं सीधी साधी बातचीत और अच्छा व्यवहार पसंद करती हूं। सही बात कहूं तो जब मैं कालेज में थी तो मुझे फूल ही फूल मिला करते थे, इसलिए मुझ पर इसका कोई प्रभाव नहीं पडता।

क्या पुरुष व महिला में भिन्नता है?
हां, उनमें काफी भिन्नता है।

अपने जीवन साथी को स्वत्रता देने के बारे में आपका क्या विचार है?
मैं अपने जीवन साथी को स्वतंत्रता देने के पक्ष में पूरी तरह से हूं। मेरा मानना है कि अपने जीवन साथी को अपने व्यवसाय, दोस्त बनाने और अपना व्यक्तिगत जीवन जीने की स्वतंत्रता होनी चाहिए।

विवाह जैसे मामले में क्या मां बाप की मर्जी शामिल होनी चाहिए?
बिल्कुल, मां बाप ने हमें पैदा किया है और उनकी राय और निर्णय हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है। यदि वे तार्किक तरीके से अपनी बात रखते हैं तो हमें दस बार सोचना चाहिए।

किस एतिहासिक चरित्र से मिलना पसंद करेंगी?
हे भगवान..! जान एफ. केनेडी से। उनका व्यक्तित्व करिश्माई है। मैंने उनकी पुस्तकें पढी और मुझे लगता है वे आश्चर्यजनक हैं।

आप विवाह संस्था में क्या विश्वास करती हैं?
मैं विवाह संस्था पर पूरी तरह से विश्वास करती हूं। कुछ जोडे बिना विवाह किए साथ रहना पसंद करते हैं, उन पर विवाह का दबाव नहीं डाला जाना चाहिए। लेकिन मैं व्यक्तिगत रुप से यही सोचती हूं कि विवाह कर लेना महत्वपूर्ण है।

आप क्या करेंगी अगर आपको पता चले कि आपका सहभागी समलैंगिक है?
इसके लिए मैं उसे बधाई दूंगी क्योंकि वह काफी स्मार्ट व्यक्ति होगा जो मुझे इतने लंबे समय तक धोखे में रख सके।

क्या आपका कोई प्रेमी है?
मुझे मेरा जीवन साथी मिल चुका है। बहुत कम लोगों को पता है कि मैं विवाहित हूं।

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

X