»   » आज के संगीत में तो फूहड़ता भर गई है: रविंद्र जैन

आज के संगीत में तो फूहड़ता भर गई है: रविंद्र जैन

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

बड़जात्या प्रोडक्शन के फेवरेट और रामानंद सागर के साथ इतिहास रचने वाले पाश्र्व गायक एवं संगीतकार रवींद्र जैन ने अपनी जिंदगी में असंभव को संभव कर दिखाया है। अगर आप कुछ करना चाहते हैं तो आपको कोई रोक नहीं सकता है, इस बात को पूरी तरह से चरितार्थ करने वाले रविंद्र जैन ने कहा कि आज का संगीत तो शार्ट-कट हो गया है। पिछले  पांच-दस वर्षो से संगीत के क्षेत्र में काफी परिवर्तन आया है लेकिन हमेशा कि तरह इस परिवर्तन से फायदा भी है और नुकसान भी।

 Do Not use Short Cut For Success said Music Director Ravindra Jain

रविंद्र जैन ने कहा कि संगीत एक साधना है जिसे बड़ी मेहनत से सीखा जाता है लेकिन आजकल लोग इसमें भी शॉर्टकट अपना लिए हैं जिसकी वजह से आपको कुछ समय के लिए दौलत और शौहरत हासिल हो सकती है लेकिन यह चमक थोड़े ही देर के लिए है।

आज के संगीत में तो फूहड़ता भर गई है, आज तो लोग शार्ट-कट अपनाते हैं

जबकि संगीत तो साधक को अपने आप पर भरोसा और धैर्य रखना सीखाता है लेकिन यह बात आजकल की पीढ़ी नहीं समझती है क्योंकि उसके पास धैर्य नहीं है। हालांकि रविंद्र जैन ने क्लीयर किया कि सब लोग आज के एक जैसे हैं, यह कहना गलत होगा।

संगीत में चाहिए धैर्य और साधना : रवींद्र जैन

पचास से अधिक फिल्मों और धारावाहिक 'रामायण' के लिए संगीत एवं स्वर देने वाले रवींद्र जैन ने कहा कि आजकल फिल्मी गानों में अश्लील शब्दों का बहुत प्रयोग हो रहा है। इस पर कुछ लोगों का कहना है कि निमार्ताओं का दबाव उन पर रहता है। वे उसी तरह के गीत गाने के लिए कहते हैं। मगर ये ठीक नहीं है।

मन की आंखों से सबकुछ देखने वाले संगीतकार ने कहा कि उन्होंने 1971 में संगीत के क्षेत्र में कदम रखा, लेकिन उन्होंने कभी अपने काम के साथ समझौता नहीं किया। उनका पिछली सुपरहिट फिल्म बड़जात्या की विवाह थी, जिसके सारे गाने सुपरहिट थे और देसी धुनों पर आधारित थे।

<center><iframe width="100%" height="360" src="//www.youtube.com/embed/_NIFoqfSO6E?feature=player_detailpage" frameborder="0" allowfullscreen></iframe></center>

English summary
Do Not use Short Cut For Success said Music Director Ravindra Jain. Music is a gift of God.
Please Wait while comments are loading...