»   » यादें: इस ठाकुर के अभिनय की 'आंधी' ने पर्दे पर भड़का दी थी 'शोले'

यादें: इस ठाकुर के अभिनय की 'आंधी' ने पर्दे पर भड़का दी थी 'शोले'

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

शोले का ठाकुर यानि की संजीव कुमार फिल्म इंडस्ट्री के ऐसे नाम हैं, जिन्होंने अपने दमदार और संजीदा अभिनय से सबको चकाचौंध कर दिया। महज 47 वर्ष की आयु में मृत्यु हो जाने के बावजूद उन्होंने एक समय में बॉलीवुड पर राज किया। गुलजार की फिल्म कोशिश, आंधी, मौसम, अंगूर और सीता और गीता जैसी फिल्मों से उन्होंने बुलंदियों को छुआ।

आपको बता दें, इतने छोटे फिल्मी करियर में भी संजीव कुमार को 2 बार राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुका है। पहली बार फिल्म 'दस्तक' के लिए जबकि दूसरी बार फिल्म 'कोशिश' में संजीदा किरदार निभाने के लिए। विडंबना है कि जिस हीरो ने पर्दे पर ज्यादातर उम्रदराज व्यक्ति का किरदार अदा किया, उनकी मृत्यु इतनी जल्दी हो गई।

बहरहाल, यहां हम आपको संजीव कुमार से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जो शायद आप नहीं जानते होगें:

 संजीदा एक्टिंग के पर्याय

संजीदा एक्टिंग के पर्याय

संजीव कुमार का असली नाम हरिहर जरीवाला था। और अपने दो भाईयों के साथ मिलकर संजीव कुमार बिजनेस में मसरूफ थे। लेकिन समय बीतने के साथ इन्हें अपने एक्टिंग के प्रति लगाव का अहसास होता गया और इन्होंने एक गुजराती थियेटर ज्वॉइन किया।

संजीव कुमार होते 'आनंद' का हिस्सा

संजीव कुमार होते 'आनंद' का हिस्सा

आपको फिल्म आनंद तो याद होगा ही, राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन की बेमिसाल अभिनय ने इस फिल्म को आज भी जिंदा कर रखा है। लेकिन क्या आपको पता है कि आनंद फिल्म में अमिताभ बच्चन ऋषिकेश मुखर्जी की पहली पसंद नहीं थे। बल्कि वे अमिताभ की भूमिका में संजीव कुमार को लेना चाहते थे।

शोले में धर्मेंद्र बनते ठाकुर

शोले में धर्मेंद्र बनते ठाकुर

वहीं, फिल्म शोले में भी भूमिकाओं को लेकर काफी कंफ्यूजन था। क्या आपको पता है कि फिल्म के वीरू पाजी धर्मेंद्र ठाकुर का रोल करना चाहते थे। संजीव कुमार ने ठाकुर के रोल में जो जान भरी है, वो शायद ही धर्मेंद्र कर पाते। गौरतलब है कि, जब निर्देशक ने धर्मेंद्र को बताया कि फिल्म में हीरोइन हेमा मालिनी है और अंत में हेमा वीरू के पास जाएगी। तो धर्मेंद्र ने तुरंत अपना इरादा बदल लिया। और इस तरह शोले के ठाकुर बन गए संजीव कुमार।

महज 47 वर्ष में हुई थी मृत्यु

महज 47 वर्ष में हुई थी मृत्यु

संजीव कुमार की मृत्यु काफी कम उम्र हो गई थी। महज 47 वर्ष की आयु में हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई थी। इस वक्त फिल्म जगत में संजीव कुमार काफी हिट अभिनेता थे, और उनकी काफी फिल्में पोस्ट प्रोडक्शन में थी। लिहाजा, उनकी कई फिल्मों (लव एंड गॉड, कत्ल, प्रोफेसर की पड़ोसन आदि) में सुदेश भोषले ने अपनी आवाज दी थी।

गब्बर का किरदार निभाना चाहते थे

गब्बर का किरदार निभाना चाहते थे

सुपरहिट फिल्म शोले में अमिताभ बच्चन और संजीव कुमार दोनों गब्बर की भूमिका निभाना चाहते थे। लेकिन रमेश सिप्पी ने सिरे से नकार दिया। और फिर यह दमदार रोल गई अजमद खान की झोली में। जो निगेटिव किरदार के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित हुई।

संजीव कुमार मार्ग

संजीव कुमार मार्ग

सूरत, गुजरात में संजीव कुमार के नाम पर एक सड़क बनाई गई है। जिसका नाम है 'संजीव कुमार मार्ग'। इस मार्ग का उद्घाटन सुनील दत्त ने किया था।

English summary
On the Death Anniversary of great actor Sanjeev Kumar, here are some facts about him.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi