For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'मुझे ज्यादा सांवली, ज्यादा लंबी- चौड़ी बोलकर बॉलीवुड में काफी ताने मारे गए'- एक्ट्रेस का खुलासा

    |

    बॉलीवुड में खूबसूरती के मापदंड को लेकर कई अभिनेत्रियों ने अपने अनुभव शेयर किये हैं। जहां बिपाशा बसु ने बताया था कि अपने सांवले रंग की वजह से उन्हें मॉडलिंग और एक्टिंग के दिनों में काफी टिप्पणी सुनने को मिली थी। वहीं, अब अभिनेत्री समीरा रेड्डी ने भी इस बारे में बात करते हुए कहा कि बॉलीवुड में उन्हें ज्यादा सांवली, ज्यादा चौड़ी, ज्यादा लंबी कहकर कई फिल्मों से रिजेक्ट किया गया है।

    मैंने दिल तुझको दिया, प्लान, मुसाफिर, दे दना दन, नो एंट्री जैसी फिल्मों का हिस्सा रहीं अभिनेत्री समीरा रेड्डी बताया कि लुक्स की वजह से उन्हें बॉलीवुड में काफी रिजेक्शन सहना पड़ा था।

    समीरा रेड्डी ने कहा, मैंने बॉलीवुड में जगह बनाने की बहुत कोशिश की लेकिन इसमें सफल नहीं हो सकीं। मैं थक गई थी। लोगों ने मुझे कहा कि मैं बहुत सांवली और बहुत लंबी-चौड़ी हूं और इसके कारण सामान्य भारतीय लड़की जैसी नहीं दिखती हूं। लेकिन मुझे कोई अफसोस नहीं है कि क्योंकि मैंने जितना ही काम किया, उससे मैंने काफी कुछ सीखा है।

    यह भेदभाव से भी ज्यादा है

    यह भेदभाव से भी ज्यादा है

    समीरा ने कहा कि लुक्स के कारण मौका न मिलना केवल भेदभाव नहीं बल्कि उससे भी आगे की बात है। कई बार लड़कियों को खास दिखने के लिए काफी जतन करने पड़ते हैं।

    खुद से प्यार करें

    खुद से प्यार करें

    समीरा ने कहा कि यदि इन तानों के कारण खुद से नफरत करने लगते हैं तो आप टूट जाएंगे। लोग आपको वहां तक ले जाएंगे.. जहां आप खुद को देखना भी पसंद ना करें। बेहतर है कि खुद से और अपने शरीर से हमेशा प्यार करें।

    शुरु किया था कैंपेन

    शुरु किया था कैंपेन

    समीरा ने दूसरी बार मां बनते समय सोशल मीडिया पर #ImperfectlyPerfect नाम से एक कैंपेन शुरू किया है जिसमें वह बॉडी इमेज के मुद्दे पर बात करती हैं और लोगों को अपने नैचरल लुक्स से प्यार करने की सलाह देती हैं।

    बिपाशा बसु ने भी शेयर किया था अनुभव

    बिपाशा बसु ने भी शेयर किया था अनुभव

    अभिनेत्री बिपाशा बसु ने अपना पोस्ट शेयर करते हुए मॉडलिंग और एक्टिंग के दिनों को याद करते हुए कहा कि उन्हें हमेशा सांवले रंग को लेकर खास टिप्पणी सुननी पड़ी थी, लेकिन उन्होंने इसे अपना ताकत बनाया।

    सांवली लड़की बनी विनर

    सांवली लड़की बनी विनर

    बिपाशा बासु ने लिखा, "जबसे मैं बड़ी हो रही थी तो मुझे हमेशा यही सुनने को मिलता था कि बोनी सोनी से ज्यादा डार्क है। वो थोड़ी सावंली है ना?"

    "15-16 की उम्र में मैंने मॉडलिंग शुरू की और मैंने सुपरमॉडल का कॉन्टेस्ट भी जीता। सभी न्यूजपेपर में पढ़ा, कोलकाता की सांवली लड़की बनी विनर। मैं दोबारा हैरान रह गई कि सांवला रंग मेरी पहली विशेषता कैसे हो सकती है?"

    फिल्मों में डेब्यू

    फिल्मों में डेब्यू

    "इसके बाद मैं न्यूयॉर्क और पेरिस गई और बतौर मॉडल काम किया। मुझे अहसास हुआ कि वहां मेरे स्किन कलर को काफी पसंद किया गया और मुझे ज्यादा काम और अटेंशन मिली। मैं इंडिया वापस आई और फिल्में मिलनी शुरू हो गईं। मैंने पहली मूवी की और हिंदी फिल्म इंडस्ट्री से पूरी तरह अनजान थी। अचानक मुझे स्वीकार कर लिया गया और प्यार मिलने लगा, लेकिन वो विशेषण (रंग) साथ में रहा और फिर मैं इसे पसंद करने लगी।"

    बिपासा ने लिखा, "हर जगह लिखा गया इस सांवले रंग की लड़की ने अपनी डेब्यू मूवी में दर्शकों का दिल जीत लिया, मैंने जितने भी आर्टिकल्स में काम किया, मेरा सांवला रंग चर्चा का मुख्य विषय होता था।"

    मेरा सांवला रंग मुझे बयां नहीं करता

    मेरा सांवला रंग मुझे बयां नहीं करता

    "आप देख सकते हैं कि मैं आत्मविश्वासी थी और जो हूं उस पर बचपन से ही गर्व महसूस किया। ये मुझे पसंद है और मैं इसमें कोई बदलाव नहीं देखना चाहती। पिछले 18 सालों से बहुत सारी स्किन केयर कंपनियों ने मुझे बहुत सारे पैसों के साथ ऑफर दिया, लेकिन मैं हमेशा अपने सिद्धांतों पर टिकी रही। इन सब चीजों को रोकने की जरुरत है।"

    नेपोटिज्म डिबेट को लेकर आलिया भट्ट के हाथों से निकल रही हैं बड़ी फिल्में? यहां जानें सच्चाई

    English summary
    ‘I was told I was too dark, too tall', actress Sameera Reddy opens up bollywood rejections she faced. She said, I found it exhausting to fit the beauty standards.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X