For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    बॉलीवुड में महिला प्रधान फिल्म बनाना टेढी खीर: सुधीर मिश्रा

    |

    लीक से हटकर फिल्म बनाने का शौक रखने वाले निर्माता-निर्देशक सुधीर मिश्रा ने कहा कि बॉलीवुड में महिला प्रधान फिल्में बनाना आसान नहीं हैं। महिला प्रधान फिल्में बनाने के लिए काफी पापड़ बेलने पड़ते हैं। इस टॉपिक पर फिल्म बनाने पर फिल्म की सफलता में भी फीफ्टी-फीफ्टी का चांस होता है इसलिए महिला प्रधान फिल्में बॉलीवुड में कम ही बनती हैं।

    इस टॉपिक पर निर्माता भी कम ही मिलते हैं लेकिन पिछले कुछ समय में समय में बदलाव आया है, अनुराग कश्यप, दिबाकर बैनर्जी जैसे लोग अब महिला प्रधान फिल्में बना रहे हैं लेकिन अब भी लोगों का रूझान इस ओर कम ही है।

    गौरतलब है कि चमेली, हजार ख्वाहिशें ऐसी औऱ इंकार जैसे फिल्में बनाने वाले सुधीर मिश्रा बहुत जल्द 'मेहरून्निसा' जैसी फिल्म को लेकर दर्शकों के सामने आने वाले हैं। इस फिल्म का टाईटल चेंज हो सकता है। वैसे इस फिल्म में अमिताभ बच्चन, ऋषि कपूर, चित्रांगदा सिंह लीड रोल में हैं।

    फिल्म की सारी शूटिंग यूपी के लखनऊ में हुई है। यह फिल्म 40 साल बाद मिले दो दोस्तों की कहानी है। 1996 में निर्देशक सुधीर मिश्रा द्वारा लिखी गई इस पटकथा में कहानी दो दोस्तों के इर्द गिर्द घूमती है जो एक ही महिला से प्यार करते हैं और अलग हो जाते हैं। जिस महिला से वे दोनों प्यार करते हैं, वह 60 साल की उम्र में फिर से उनके जीवन में वापस आ जाती है।

    फिल्म की कहानी 1945 से शुरू होकर चार दशकों तक चलती है।'मेहरून्निसा' के निर्माता निखिल आडवाणी हैं।

    English summary
    Director Sudhir Mishra says it is actually difficult to convince people to back such projects in Bollywood.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X