For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    हीरोइन ने अपना पल्लू गिराया तो अनुराग कश्यप ने ये किया था; बॉलीवुड ने दिया डायरेक्टर का साथ

    |

    अनुराग कश्यप पर मीटू के आरोप लगे हैं और उनके असिस्टेंट से लेकर बॉलीवुड साथियों तक सब उनके साथ मज़बूती से आकर खड़े हो गए हैं। एक असिस्टेंट ने अपने ट्विटर पर लिखा - “ये सही समय है अनुराग कश्यप के बारे में ये किस्सा बताने का।

    मैं 2004 में अनुराग कश्यप का असिस्टेंट था। मैं गुलाल की कास्टिंग देख रहा था और कई हीरो हीरोइनों से मिल रहा था। एक हीरोइन को काम चाहिए था और उसने अनुराग से मिलने की गुज़ारिश की।

    वो इंतज़ार करती रही। अनुराग उससे मिलने को तैयार हुए। उस हीरोइन को लगा बॉलीवुड में काम मिलने का तरीका है डायरेक्टर को खुश करना और इस बात का हिंट उसने अनुराग को कई बार दिया।

    अनुराग ने बहुत ही सभ्यता से मना कर दिया। फिर उस हीरोइन ने अपने साड़ी का पल्लू गिरा दिया। कई बार। अनुराग उठे और हीरोइन को ये नहीं करने को कहा। उन्होंने कहा कि अगर आपको रोल चाहिए तो तभी मिलेगा जब आप रोल में फिट बैठेंगी। और कुछ काम नहीं करेगा।

    इतना कह कर अनुराग कमरे से बाहर निकल गए। मैं हैरान रह गया जो मैंने देखा। मेरे सामने एक हीरो था जो इस अजीब सी सिचुएशन से पूरी मर्यादा के साथ और उस लड़की के प्रति भी सम्मान और चिंता के साथ बाहर निकला। बाद में उन्होंने मुझे बताया कि ये दुखद है कि कई लड़कियां सोचती हैं कि ऐसे ही काम मिलता है। मैं उस औरत को दोष नहीं देता।

    उसके जैसी बहुत सी लड़कियां फिल्म इंडस्ट्री में आती हैं और मानती हैं कि फिल्मों में ऐसे ही काम मिलता है। और ये सच भी है। जैसा कि बाकी किसी भी क्षेत्र में होता है। अनुराग के साथ काम करते हुए मैंने एक चीज़ जो देखी वो ये थी कि वो औरतों की कितनी इज़्जत करते थे।”

    बॉलीवुड में भी कई लोग अनुराग कश्यप के समर्थन में आगे आए -

    गुनीत मोंगा

    गुनीत मोंगा

    गुनीत मोंगा ने लिखा - मैं अनुराग कश्यप की कंपनी AKFPL 5 साल के लिए चलाती थी। जब उन्होंने कंपनी बंद करने का तय किया तो मेरा दिल टूट गया। लेकिन उन्होंने मुझे कहा कि अपने पंख फैलाओ और उड़ना सीखो। हमारे बीच काफी मुद्दों को लेकर बहस होती थी लेकिन हम सब इसी तरह के वातावरण में काम करना सीख गए जहां सबको अपनी बात और राय कहने का हक था। मैंने उनका हमेशा सम्मान किया है क्योंकि वो अपने आस पास के लोगों को सशक्त करने पर खूब ज़ोर देते थे। वो कभी सच बोलने से पीछे नहीं हटते और इसी का इस्तेमाल करते हुए बाकियों की मदद करते हैं। उनके अंदर ये शानदार बात है दूसरों को अपने आप पर भरोसा करने की कला देना। और अगर उन्हें भी आप पर भरोसा है तो ये कला दोगुनी हो जाती है। अगर हम औरतों को समाज में सशक्त करना चाहते हैं तो हमें अनुराग जैसे आदमी भी चाहिए जो औरतों के उठने के लिए अलग जगह बनाते हैं। मैं 24 साल की थी और उन्होंने मुझे अपनी कंपनी का सीईओ बना दिया था।

    आरोप की जांच हो

    आरोप की जांच हो

    गुनीत ने आगे लिखा - मैंने हमेशा मीटू मूवमेंट का समर्थन किया है। लेकिन ये आरोप जिस समय पर आ रहा है इसमें संदेह की गुंजाईश पूरी है और ये बदले की भावना से आता दिखता है। खासतौर से तब जब अनुराग अपने लिए स्टैंड ले रहे हैं। उम्मीद करती हूं कि इस आरोप की जांच हो।

    गुलशन देवैया

    गुलशन देवैया

    एक्टर गुलशन देवैया ने ट्वीट करते हुए लिखा - मैं मी टू मूवमेंट का पूरा साथ देता हूं। लेकिन मैं अनुराग कश्यप का भी पूरा साथ देता हूं। उन्होंने आउटसाइडर के लिए इतना ज़्यादा किया है जितना ये नेपोटिज़्म का शोर मचाने वाले एक साथ बोल भी नहीं पा रहे हैं। मैं नहीं मानता कि उनके खिलाफ लगे आरोपों में कोई भी सच्चाई है। सच जल्दी सामने आए। हमें भगवान पर भरोसा है।

    तापसी पन्नू

    तापसी पन्नू

    तापसी पन्नू ने अपने मनमर्ज़ियां डायरेक्टर का सपोर्ट करते हुए लिखा - तुम मेरे दोस्त सबसे बड़े feminist हो। जल्दी मिलते हैं सेट पर एक और शानदार और जादुई दुनिया में जहां औरतें बेहद मज़बूत हैं।

    सुरवीन चावला

    सुरवीन चावला

    उन्हें नीचा गिरने दो, रगड़ने को तुम मेरे दोस्त, हमेशा ऊपर ही उठते जाओगे। ये feminism का झंडा उठाने वाले झूठे लोग, मौके का फायदा उठाने वाले लोग। इन्हें तुम्हारे जैसे आदमियों की कद्र नहीं है। तुम्हें समझने जितना ज्ञान और समझ इनके पास है ही नहीं। - सुरवीन चावला

    तुम्हारे साथ खड़ी रहूंगी

    तुम्हारे साथ खड़ी रहूंगी

    सुरवीन ने आगे लिखा - तुम्हारी ज़िंदगी, तुम्हारा काम, जो महिला किरदार तुमने गढ़े हैं वो बहुत कुछ कह देते हैं। मैं भाग्यशाली हूं कि तुम्हें जानती हूं। और मैं तुम्हारे साथ खड़ी रहूंगी।

    राजनीतिक मुद्दा मत बनाइए

    राजनीतिक मुद्दा मत बनाइए

    स्वरा भासकर ने लिखा - हर तरह का यौन उत्पीड़न गलत है और हर आरोप, कानून के दायरे के अंदर जांच किया जाना चाहिए। लेकिन कठुआ गैंगरेप के बचाव वाले, सेंगार और चिन्मयानंद का बचाव करने वाले भी इसी दायरे में आएंगे। ज़ाहिर सी बात है कि आपको समस्या की चिंता नहीं है, आप केवल इसे राजनीतिक मुद्दा मत बनाइए।

    इसे तो छोड़ देते

    इसे तो छोड़ देते

    मोहम्मद ज़ीशान अयूब ने ट्वीट करते हुए लिखा - अबे यार, मी टू जैसे ज़रूरी मूवमेंट को तो छोड़ दो। बाकी सब तो बर्बाद कर ही दिया है।

    सयानी गुप्ता

    सयानी गुप्ता

    सयानी गुप्ता ने ट्वीट करते हुए लिखा - सबसे बुरे इंसान जो मैंने पिछले कुछ महीनों में देखे - पहले जो किसी की मौत का फायदा उठाते हैं और दूसरे वो जो किसी अहम मूवमेंट को राजनीतिक फायदों के लिए इस्तेमाल करते हैं।

    हो ही नहीं सकता

    हो ही नहीं सकता

    अंजना सुखानी ने ट्वीट करते हुए लिखा - हो ही नहीं सकता कि अनुराग कभी किसी महिला के साथ ऐसा बर्ताव करें। हो ही नहीं सकता।

    English summary
    Anurag Kashyap was accused of sexual assault by an actress and Bollywood has come out to support him.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X