»   » Exclusive Interview..वो SUPER स्टार घर पर बैठा है..मैं काम कर रहा हूं...

Exclusive Interview..वो SUPER स्टार घर पर बैठा है..मैं काम कर रहा हूं...

By: PRACHI DIXIT
Subscribe to Filmibeat Hindi

विक्रम भट्ट की वेब सीरीज स्पॅाटलाइट इन दिनों सुर्खियां बटोर रही हैं। इसकी वजह इस वेब सीरीज का बोल्ड कंटेंट है। इस सीरीज में मुख्य भूमिका सिड मक्कड़ निभा रहे हैं।

लाजवंती और ये हैं मोहब्बतें के बाद स्पॅाटलाइट में दिखाई दे रहे हैं। वेब सीरीज, स्टारडम और न्यूड सीन को लेकर सिड ने बेबाक तरीके से फिल्मी बीट से खास बातचीत की।

Sid Makkar

गौरतलब है सिड मक्कड़ जल्द ही कोंकणा सेन शर्मा और कल्कि कोचलिन स्कॉलरशिप फिल्म में प्रमुख भूमिका में दिखाई देंगे। वह जल्द ही टीवी वेब सीरीज से छोटे पर्दे पर दस्तक देने की तैयारी में हैं।

यहां पढ़ें इंटरव्यू के प्रमुख अंश...

विक्रम भट्ट ने कहा देख मैं तुझे नहीं जानता..

विक्रम भट्ट ने कहा देख मैं तुझे नहीं जानता..

विक्रम भट्ट राइटर कमाल के हैं वो खुद ये बात स्वीकार करते हैं।मेरी जब उनसे इस वेब सीरीज को लेकर मुलाकात हुई तो उन्होंने कहा कि देख मैं तुझे जानता नहीं हूं। मेरा डायरेक्टर तुझे पसंद करता है और मैं उसे ना नहीं कह सकता हूं।यह उनका पहला शब्द था मेरे लिए।खैर,मैं उनके काम से बेहद प्रभावित हूं। ऐसे लोग बहुत कम मिलते हैं जिनसे हर पल सिखने का मौका मिले। उन्होंने स्क्रिप्ट के ड्राफ्ट में भी कई तरह के बदलाव किए। वह इस सीरीज के निर्माता और लेखक है। वह अपने एक्टर और डायरेक्ट के काम में कभी दखलअंदाजी नहीं करते हैं।

बोल्ड सीन है तो हो..

बोल्ड सीन है तो हो..

स्पॅाटलाइट ट्रेलर रिलीज होने के बाद अपने बोल्ड सीन को लेकर चर्चा में है। बोल्ड सीन इस वजह से है कि वह कहानी के फ्लो में आता है। ये सीरीज इंटरटेनमेंट दुनिया के असलीयत को जाहिर करती है। एक सुपरस्टार के प्यार,परिवार और सस्पेंस से घिरी हुई कहानी है। मैं खुश हूं कि स्पॅाटलाइट को की VIU के ऐप और वेबसाइट पर दिखाया जा रहा है। दर्शकों तक पहुँचने के लिए VIU जैसा प्लेटफार्म का होना जरूरी है।

मतलबी होने में भलाई

मतलबी होने में भलाई

मेरे लिए काम केवल पैसे तक सीमित नहीं है। इस वजह से मैंने लाजवंती के बाद कोई टीवी शो बतौर लीड नहीं किया है। टीवी पर जो कंटेंट चलता है दर्शक वही देखना पसंद करते हैं। मैं वैसे भी एक मतलबी एक्टर हूं। मेरे लिए वही कंटेंट मायने रखता है जो मुझे पसंद हो।कई बार मैंने पॉपुलर शो को ना कहा है। हालांकि मुझे आईडिया रहता है कि यह शो चल सकता है। कई बार मैं सही भी रहा हूं और गलत भी। मेरे लिए हमेशा से यही जरूरी रहा है कि मुझे हमेशा एक एक्टर ही रहना है। मुझे शार्ट टर्म स्टारडम नहीं चाहिए। मुझे जीवन भर एक एक्टर ही रहना है। मुझे अपने आप को चैलेंज करना है। अलग अलग मीडियम में काम करना है।मैंने अपने करियर में पैसों के लिए भी काम किया है। कई बार मैंने भी गलत चीजों से जुड़ा हूं। लेकिन अपने सोच से आगे बढ़ने में एक क्रिएटिव एंगल पर काम करना मेरी प्राथमिकता है। सफलता नहीं मेरे लिए काम में सुकून होना जरूरी है।

वो सुपरस्टार..मैं एक्टर..

वो सुपरस्टार..मैं एक्टर..

मुझे आज तक ब्रेकआउट हिट नहीं मिला है।हमेशा से ही मुझे क्रिटिकली सराहना मिली है। मैंने भी अपने करियर में कई बड़े शो को ना कहा है। अगर हां कहता तो एक सुपरहिट शो का सुपरहिट एक्टर होता। हां , दूसरी तरफ यह भी है कि अगर मैं वो शो करता तो आज यह भी जानता हूं कि वो सुपरहिट एक्टर वर्तमान में घर पर बैठा है। मैं काम कर रहा हूं।

बोल्ड सीन करने में झिझक नहीं

बोल्ड सीन करने में झिझक नहीं

यह भी सही है कि उसके जैसी स्टारडम मैंने तब नहीं देखी जो उसने देखी है। शुरू से ही मैंने तय किया था कि अपना रास्ता तय करूंगा। उसके बाद जहां पर मंजिल मुझे ले जाए। मैं क्रिएटिव तौर पर खुद को फ्री रखना चाहता हूं। फिर चाहे वह किसिंग सीन हो या न्यूड सीन। वैसे देखा जाए तो बोल्ड सीन हो या किसिंग सीन हमारे देश के लिए बहुत बड़ी बात है। आज कल आप कहीं पर भी देख लें मसालेदार फैक्टर हर जगह काम कर रहा है। टीवी न्यूज से लेकर फिल्म,टीवी और वेब सीरीज की कहानी में। मेरे ख्याल से इंटरनेट पर बोल्ड कंटेंट को अधिक पसंद किया जा रहा है। लेकिन बिकता वही है जिसकी कहानी में दम हो।

सेंसरशिप में यकीन नहीं..

सेंसरशिप में यकीन नहीं..

सेंसरशिप को लेकर मेरी राय बेहद अलग है। सेंसर का रोल अभी तक केवल फिल्मों तक सीमित है। मैंने हाल ही में एक फ़िल्म की है टर्निंग 30 की है। इसी के प्रोडक्शन कंपनी ने लिपस्टिक अंडर माय बुर्का बनाई है । लेकिन यह फ़िल्म सेंसर में अटक गयी। मैंने पढ़ा कि A सर्टिफिकेट के साथ इस फिल्म को रिलीज करने का फैसला किया गया है। कई कट के बाद इस फ़िल्म को रिलीज़ किया जायेगा। कुलमिलाकर मेरे कहने का मतलब यह है कि ऑनलाइन में अभी सेंसर का रोल शामिल नहीं किया गया है। वहां पर टीवी या फ़िल्म जितने नंबर आॅफ दर्शक नहीं है। मैं वैसे भी सेंसरशिप में विश्वास नहीं करता हूं। हम इन सब चीजों को रोक नहीं सकते हैं।

सही और गलत पता है..

सही और गलत पता है..

आप एडल्ट हो तो आप में उतनी समझ है। सेंसर शिप ना रखी जाये तो बेहतर है। बच्चों के लिए मैं समझ सकता हूं लेकिन एडल्ट तो अपनी पसंद के हिसाब से सही और गलत का मापदंड कर सकते है। जबकि आज के जमाने में जहां इंटरनेट पर सब मौजूद है। कोई भी गाली गलौच डायलॉग में आने पर उसे वेब सीरीज में बीप नहीं किया जाता है। अंत में आप चाहे कुछ भी दिखा लो अच्छा कंटेंट ही आगे बढ़ता है। कहानी की मांग के हिसाब से ही बोल्ड सीन दिखाए जाते हैं। बतौर एक्टर हमें क्रिएटिव तौर पर हर एंगल से जुड़ना ही होता है। इंटनेशनल शो और फिल्मों के लिए किसिंग सीन आम बात है। यहां पर अभी हम उतना आगे नहीं बढ़े हैं।

सोशल मीडिया का दबाव

सोशल मीडिया का दबाव

निजी जिंदगी में मैं काफी अलग हूं। मुझे सोशल मीडिया से दूर रहना पसंद है। फिल्मों के लिहाज से सोशल मीडिया का फायदा एक्टर को होता है। मैंने अभी दोस्तों के दबाव के कारण अपना इंस्टाग्राम अकाउंट खोला है। मुझे अपने काम से मतलब है। कोई बड़ा हो तो ठीक है वरना हर चीज़ पर कमेंट देना मैं जरूरी नहीं समझता हूं। हालांकि कई एक्टर दबाव में आकर सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं। केवल फैंस के लिए वह सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं।उनके लिए यह बड़ा काम होगा। लेकिन मेरे लिए निजी लाइफ से ज्यादा प्रोफेशनल लाइफ मायने रखती है।

English summary
Exclusive Interview with Sid Makkar talk about his recent Vikram Bhatt web series Spotlight and said that i did not believe in censorship..Here read full shocking detail...
Please Wait while comments are loading...