»   » 200 फिल्मों में किया काम..दो-दो बीवियां..इस एक्टर की लाइफ स्टोरी जानकर चौंक जाएंगे

200 फिल्मों में किया काम..दो-दो बीवियां..इस एक्टर की लाइफ स्टोरी जानकर चौंक जाएंगे

Written By: Utkarsh
Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड के कई एक्टर्स की कहानी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है। कुछ ऐसी ही कहानी है अभिनेता राज बब्बर की भी थी। उनकी इस रियल लाइफ कहानी एक नहीं बल्कि दो-दो एक्ट्रेसेस थीं और दोनों का ही लीड रोल था। जिसके चलते ये कहानी इस एक्टर की अजीब कहानी बन गई। आज राजब्बर के जन्मदिन पर जानें उनकी फिल्मीं लाइफ की दिलचस्प कहानी।  

राजब्बबर को दो-दो लड़कियों से प्यार हुआ। पहली बार जब प्यार हुआ तो उन्होंने सीधा शादी कर ली और लव स्टोरी भी इतनी दिलचस्प कि कोई ऐसी स्क्रिप्ट क्या लिखेगा। वहीं खुशहाल शादी के कुछ समय बाद ही उन्हें फिर से प्यार हो गया अबकी बार कहानी में ट्विस्ट था उनकी शादीशुदा जिंदगी और इस लड़की के लिए पागलपान।

actor-raj-babbar-fell-love-twice-had-filmy-love-story

वहीं पागलपन हो भी क्यों न, ये लड़की थी जानी-मानी अभिनेत्री स्मिता पाटिल। स्मिता ये जानते हुए भी उनकी जिंदगी में आईं कि वे शादीशुदा थे। दोनों का प्यार इस तरह परवान चढ़ गया कि राजब्बबर सबकुछ छोड़-छाड़ के स्मिता के पास आ गए। लेकिन ये कहानी यहीं खत्म नहीं हुई और न ही इसकी हैप्पी एंडिंग हुई। आगे जाने इस कहानी में क्या हुआ और क्यों नहीं हो पाई हैप्पी एंडिंग-

200 फिल्मों में किया काम

200 फिल्मों में किया काम

अभिनेता राजब्बबर सबसे सफल अभिनेताओं में से एक हैं। उन्होंने अब तक कुल 200 फिल्मों में काम किया है।

[SHOCK..बाहुबली की गर्लफ्रेंड..बॉलीवुड की सुपरस्टार एक्ट्रेस..वायरल हो गया KISSING सीन]

आज है जन्मदिन

आज है जन्मदिन

राज बब्बर का आज जन्मदिन है। 23 जून 1952 को उत्तर प्रदेश के टूण्डला में जन्मे राज 6 भाई बहनों में सबसे बड़े थे। फिल्मों में अभिनय के जुनून के चलते राज ने साल 1972 में दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला लिया।

5 साल ठोकरें खाईं

5 साल ठोकरें खाईं

काफी कोशिशों के बाद भी राज बब्बर को फिल्मों में काम नहीं मिल रहा था। 5 साल ठोकरें खाने के बाद राज बब्बर ने 1977 में आई फिल्म 'किस्सा कुर्सी का' से बॉलीवुड में कदम रखा।

इस फिल्म से मिली पहचान

इस फिल्म से मिली पहचान

पहली फिल्म में राज बब्बर को कोई खास पहचान नहीं मिल पाई। जिसके बाद 1980 में बीआर चोपड़ा की फिल्म 'इंसाफ का तराजू' के बाद लोग राज बब्बर को पहचानने लगे।

फिल्म फेयर तक पहुंच गए

फिल्म फेयर तक पहुंच गए

फिल्म इंसाफ के तराजू में राज एक बलात्कारी के किरदार में थे। 'इंसाफ का तराजू' में राज को फिल्म फेयर के बेस्ट एक्ट अवॉर्ड के लिए भी नॉमिनेट किया गया था।

नादिरा से मुलाकात

नादिरा से मुलाकात

राज जब फिल्मों में जगह बनाने के लिए जद्दोजहद कर रहे थे, तभी उनकी मुलाकात सज्जाद जहीर की बेटी नादिरा से हुई। इन मुलाकातों के दौरान दोनों के बीच प्यार हो गया। साल 1975 में राज ने मशहूर थिएटर आर्टिस्ट और फिल्म निर्देशक नादिरा से शादी कर ली।

फिर मिल गईं स्मिता

फिर मिल गईं स्मिता

साल 1982 में राज ने स्मिता पाटिल के साथ एक फिल्म की 'भीगी पलकें'। इस फिल्म की शूटिंग के समय ही स्मिता राज के शांत स्वभाव एवं अभिनय प्रतिभा से प्रभावित हुई और दोनों एक दूजे के प्रेम-बंधन में बंधते चले गए।

शादी तक पहुंच गई बात

शादी तक पहुंच गई बात

फिल्मो में काम करते-करते शादी तक पहुच गई। राज के प्यार के किस्से राज की पत्नी नादिरा के कानों तक पहुंचें तो उन्होंने राज से साफ कह दिया कि मुझे या स्मिता दोनों में से किसी एक को चुनना होगा।

स्मिता को चुना

स्मिता को चुना

स्मिता के प्यार में पागल राज ने प्यार के लिए घर छोड़ दिया और साल 1986 में स्मिता पाटिल के साथ शादी कर ली। दोनों का एक बेटा भी हुआ प्रतीक बब्बर. प्रतीक के जन्म के बाद ही स्मिता का देहांत हो गया।

लौट आए पहले प्यार के पास

लौट आए पहले प्यार के पास

स्मिता की मृत्यु के बाद राज फिर से अपनी पहली पत्नी नादिरा के पास लौट आए।

English summary
actor raj babbar fell in love twice and had a filmy love story..know here
Please Wait while comments are loading...