»   » टीवी धारावाहिकों का मुरीद हुआ पुरूष वर्ग

टीवी धारावाहिकों का मुरीद हुआ पुरूष वर्ग

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
टीवी आज घर-घर का चेहरा बन गया है। अक्सर टीवी चैनलों पर कहा जाता है कि फलां कहानी आपकी जिदगी से जुड़ी हुई है इसलिए इसे आप जरूर देखें। और जब आप सीरियल्स को देखेगें तो आपको कुछ उसमें हिंदी फिल्मों की झलकियां और कुछ जीवन की सच्चाईयां दिखायी देगीं। लेकिन ताज्जुब ये है कि हर कहानी का अगला पहलू पता होने के बावजूद लोग इसे काफी पसंद करते हैं और इसे देखने वालों में हर उम्र के लोग हैं।

एक न्यूज पेपर के सर्वे के मुताबिक टीवी सीरियल्स देखने वालों में केवल महिलाएं और लड़कियां ही नहीं बल्कि आईटी और मेडिकल क्षेत्रों में काम करने वाले पुरूष वर्ग भी शामिल हैं। यही नहीं कॉलेज के लड़के भी अपनी पसंद के कुछ चैनलों पर सीरियल्स देखते हैं, ये बात और है कि वो इसका खुलासा नहीं करते हैं लेकिन फिर भी उनकी पसंद की लिस्ट में सीरियल्स आते हैं।


अब आप पूछेगें कि कौन से है वो धारावाहिक जिसे पुरूष वर्ग भी देखना पसंद करता है। तो वो है आजकल सोनी टीवी पर रात साढ़े दस बजे प्रसारित होने वाले डेली सोप ...बड़े अच्छे लगते है..हैं। एक तीस प्लस के उम्र वाली इस प्रेमकहानी को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। एक आईटी कंपनी में काम करने वाले आईटी कार्यकर्ता संतोष भार्गव ने कहा कि इस सीरयल्स में कुछ तो खास है,  जो औरों से इसे अलग  करता है, अन्य डेलीसोप की तरह ये बोरिंग और थकाऊ नहीं है। तो वहीं बीटेक के छात्र शान्तनु श्रीवास्तव को भी रामकपूर और साक्षी तंवर के बीच के अंडरस्टैंडिग काफी अच्छी लगती है। उनका कहना है कि उनके हॉस्टल में इस टीवी शो को देखने के लिए मारा-मारी होती है।


तो वहीं एक टीवी चैनल के नामी-गिरामी मेल एंकर को भी 'बालिका वधू' बहुत लुभाता है, वो अपनी व्यस्त दिनचर्या के चलते शो को उसके निर्धारित समय रात आठ बजे देख नहीं पाते हैं तो रात में आकर इसका रीपिट टेलिकास्ट देखते हैं। ऐसा ही कुछ हाल एशियन हास्पिटल दिल्ली के सीनियर एमडी डा. रजत शुक्ला का है जिन्हें स्टार प्लस पर आने वाले दो धारावाहिक..'इस प्यार को क्या नाम दूं' और' नव्या' काफी भाता है। औरों की तरह उन्हें भी शो को देखने का वक्त नहीं मिलता है, इसलिए वो इन दोनों शो को अपने घर में रिकार्ड करवा लेते हैं और घर लौटने के बाद इन्हें देखकर ही सोते हैं।


जबकि अपोलो हॉस्पिटल के डा. सुधीर शर्मा को स्टार प्लस का 'साथ निभाना साथिया' काफी भाता है, मिस्टर सुधीर शर्मा जिनकी उम्र 28 साल है, वो अभी अविवाहित है, उन्होंने तो ये फैसला ले लिया है कि उनकी जीवन संगिनी बिल्कुल शो में लीड रोल निभा रहीं गोपी जैसी होगी। गोपी की सादगी के ही कारण वो ये शो देखते हैं।

कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि अब टेलीविजन के धारावाहिक केवल महिलाओं या लड़कियों को ही पसंद नहीं आ रहे हैं बल्कि इसे समाज के पुरूष भी काफी पसंद करते हैं और इस पसंद में इस वर्ग की युवा पीढ़ी भी शामिल है। जो सीरियल्स की सफलता का प्रमुख कारण हैं।

English summary
Male are very fond of Hindi TV Serial. for example, Bade Achhe Lagte Hain is a popular Indian Television drama series that premiered on May 30, 2011 on Sony TV, based on the story of two unmarried strangers who are in their mid 30s, is avery different says College Boys.
Please Wait while comments are loading...