For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    रियलिटी शो से प्रतिभा का विकास नहीं होता

    |

    भारत के सुप्रसिद्ध गजल गायक जगजीत सिंह का मानना है कि आज कल टीवी पर सुरों पर आधारित रीएलटी टीवी शो से प्रतिभा का विकास नहीं होता बल्कि ये दो पल का ही उत्साह होता है। वह ऐसे शो में स्वयं जज की भूमिका निभा चुके जगजीत का कहना है कि इससे प्रतिभागियों को कुछ समय की वाहवाही तो मिलती है, लेकिन एक समय के बाद उनका पतन भी होने लगता है।

    ऐसे शोज़ से केवल चैनल का ही फायदा होता है। अगर वे वास्तव में ऐसी प्रतिभाओं को प्रोत्साहन देना चाहते हैं तो शो के खत्म होने के बाद भी इन्हें प्रशिक्षण देना चाहिए। तब जाकर कहीं ये प्रतिभा सचमुच किसी लायक बनेंगी।

    जगजीत सिंह ने गज़ल की दुनिया में अपनी पहचान तब बनाई जब, जब नूरजहां, मलिका पुखराज, बेगम अख्तर, तलत महमूद और मेहदी हसन जैसे गज़ल गायकों का दबदबा चलता था। इन्होंने कहा कि संगीत के लिए समर्पण और रियाज की जरूरत होती है। यह अपने आप में बहुत बड़ा विषय है इसका अलग ही गणित और व्याकरण होता है। जब तक कोई इसका रियाज़ आच्छी तरह से नहीं करता तब तक वह अच्छा गायक नहीं बन सकता। इनका मानना है कि वास्तव में गजल गायकी शुरू करने से पहले गायक को 15 वर्ष तक संगीत सीखना ही चाहिए।

    English summary
    Ghazal King of India Jagjit Singh says that the singing based reality shows on TV these days are wasting talent rather than nurturing them.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X