»   » Review..खूब हंसाएगी ये 'जेन्ट्स प्रॉब्लम'... धमाकेदार डायलॉग्स.. क्लाईमैक्स करेगा निराश

Review..खूब हंसाएगी ये 'जेन्ट्स प्रॉब्लम'... धमाकेदार डायलॉग्स.. क्लाईमैक्स करेगा निराश

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
Rating:
2.5/5

फिल्म की कास्ट : आयुष्मान खुराना, भूमी पेडनेकर, सीमा पाहवा
निर्देशक : आर.एस. प्रसन्ना
प्रोड्यूसर्स : आनंद एल राय, कृशिका लूला
लेखक : हितेश केवल्या
क्या है खास : परफॉर्मेंस, कॉन्सेप्ट, डायलॉग्स
क्या है बकवास : घिसापिटा क्लाइमेक्स
कब लें ब्रेक : इंटरवल में।
शानदार पल : फिल्म का वो सीन जिसमें सीमा पहवा अपनी बेटी सुगंधा (भूमि पेडनेकर) को सुहागरात के बारे में समझाने के लिए अली बाबा और बंद गुफा की मदद लेती हैं। ये सीन आपको लोट-पोट पर हंसने के लिए मजबूर कर देगा।

प्लॉट

प्लॉट

फिल्म में मुदित (आयुष्मान खुराना) और सुगंधा (भूमि पेडनेकर) को एक-दूसरे को पसंद करते हैं लेकिन दोनों में से कोई भी पहली बार एप्रोच करने को तैयार नहीं होता। वहीं बाद में मुदित हिम्मत जुटा कर किसी करता है और देखते ही देखते उनका आंखों-आंखों वाला प्यार दोनों परिवारों की सहमति से शादी तक पहुंच जाता है। दोनों डेट पर जाते हैं गाना गाते हैं और प्यार हो जाता है।

प्लॉट

प्लॉट

शादी की एक रात पहले जब मुदित सुगंधा के साथ इंटीमेट होने की कोशिश करता है तब दोनों को पता चलता है कि मुदित को कुछ मुश्किलें हैं। जिसके चलते दोनों की सेक्स लाइफ पर असर पड़ सकता है। वहीं इसके बाद जो होता है वो पूरी तरह कॉमेडी है। किस तरह मुदित प्यार के लिए अपनी मेडिकल कंडीशन पर काबू पाने की कोशिश करता है।

निर्देशन

निर्देशन

शुभ मंगल सावधान एक तमिल फिल्म कल्याना सामायाल साधाम का रीमेक है। भूमी पेडनेकर और आयुश्मान खुराना की इस इस फिल्म को तमिल फिल्म के ही निर्देशक आर.एस प्रसन्ना ने ही डायरेक्ट किया है।


इस फिल्म की सबसे खास बात ये है कि स्तंभन दोष के इस संवेदनशील मुद्दे को छूती हुई ये फिल्म आपको न को फूहड लगेगी और न ही असुविधाजनक महसूस करवाएगी। प्रसन्ना ने 'जेन्ट्स प्रॉब्लम' को बड़ी ही मसखरे और मजाकिया लहजे में दिखाने की कोशिश की है।


वहीं दूसरी तरफ, फिल्म के सेकेंड हाफ में फिल्म थोड़ा डगमगा जाती है। फिल्म के इस भाग में ऐसे झटके मिलते हैं जौ स्टोरी में फिट नहीं होते। जहां फिल्म की शुरूआत और फर्स्ट पार्ट बेहतरीन है वहीं इसका ढ़ीला-ढ़ाला क्लाइमैक्स आपको निराश कर सकता है।

परफॉर्मेंस

परफॉर्मेंस

मुदित के किरदार में आयुष्मान खुराना एकदम परफेक्ट लगे हैं। चाहे वो शर्मीलापन हो या पौरुष को लेकर प्रॉब्लम, चेहरे पर हर भाव आयुष्मान ने बखूबी निभाया और दिखाया है।


वहीं भूमी पेडनेकर ने भी अपने शानदार अभिनय से साबित कर दिया है कि क्यों उन्हें बॉलीवुड की सबसे प्रॉमिसिंग अभिनेत्री माना जा रहा है।

आयुष्मान के साथ भूमी की बेहतरीन केमिस्ट्री आपको खुश कर जाएगी।
दूसरी तरफ सीमा पहवा ने भी अपने दमदार टैलेंट से हर सीन को यादगार बना दिया है। वहीं ब्रिजेश काला अपने किरदार में इतने परफेक्ट लगे हैं कि उन्हें देखकर आपको अपने नखरीले रिश्तेदारों की याद आ जाएगी।

तकनीकि पक्ष

तकनीकि पक्ष

अनुज राकेश धवन कि सिनेमैटोग्राफी काफ साफ, सिंपल और फिल्म की थीम के हिसाब से परफेक्ट है। वहीं निनाज खानोलकर की एडिटिंग भी ठीक-ठाक है वहीं फिल्म का सेकेंड हाफ देखकर लगता है कि ये और बेहतरीन हो सकती थी। फिल्म में हितेश केवल्य के हंसाने वाले बेहतरीन डायलॉग्स ने लोगों का दिल जीत लिया है।

म्यूजिक

म्यूजिक

तनिष्क-वायु के गाने फिल्म की सिचुएशन में बेहतरीन तरीके से फिट होते हैं लेकिन एल्बम के तौर पर कुछ खास नहीं लगते। फिल्म के गाने रॉकेट सैंय्या के अलावा कोई भी गाना ऑडिएंस को खास इंप्रेस करता नहीं दिखता।

Shubh Mangal Saavdhan Movie Review: Ayushmann and Bhumi Pednekar Love Story is Good | FilmiBeat
वर्डिक्ट

वर्डिक्ट

शुभ मंगल सावधान की धमाकेदार कॉमेडी और बेहतरीन अभिनय आपको इंप्रेस करेगा, वहीं फिल्म का क्लाईमैक्स आपको ढीला-ढ़ाला लगेगा। वहीं इन सबके बावजूद फिल्म का बेहद फ्रेश और अलग स्टोरी प्लॉट इस फिल्म को मस्ट वॉच बनाता है।

English summary
Shubh Mangal Savdhan movie review story plot and ratings
Please Wait while comments are loading...