»   » #Review: रमन राघव, दो टूक बात, स्टार नवाज़...कश्यप की शानदार दुनिया

#Review: रमन राघव, दो टूक बात, स्टार नवाज़...कश्यप की शानदार दुनिया

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
Rating:
3.5/5

फिल्म - रमन राघव 2.0
स्टारकास्ट - नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी, विक्की कौशल, शोभिता धूलिपाला
डायरेक्टर - अनुराग कश्यप

WARNING:
  • ये अनुराग कश्यप की दुनिया है इसलिए यहां किसी भी चीज़ को झेलने की क्षमता चाहिए, आपमें है...तो ही प्रवेश करें। वरना इंतज़ार करें, 2 हफ्तों में सबके एक भाईजान आएंगे। 
  • इस फिल्म की तुलना अनुराग कश्यप की अगली से करने के लिए फिल्म मत देखिए। अगली एक बेंचमार्क फिल्म थी, और अलग विषय पर थी।
  • आखिरी के आधे घंटे में फिल्म का सस्पेंस इतना शानदार है कि आपको अपने पैसे वसूल लगेंगे।
 कभी डर लगा है? लगा होगा। लेकिन सड़क चलते कभी किसी आदमी से डर लगा है? एक बार रमन राघव 2.0 देखकर आइए, लग जाएगा। पहली बात तो ये कि अनुराग कश्यप को बहुत दिन बात अपने फॉर्म में देखकर आपको सुकून मिलने वाला है। 

हर एक सीन में आपकी नज़रें नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी से नहीं हटेंगी। इस फिल्म में उन्हें एकदम किसी सुपरस्टार से भी बेहतरीन तरीके से फिल्म की कहानी के साथ दंगा काटते देख बहुत खुश होने वाले हैं।

नवाज़ के चक्कर में विक्की कौशल जैसे ब्रिलियंट एक्टर भी थोड़ा इग्नोर होते नज़र आएंगे। लेकिन उनका किरदार ही फिल्म में ऐसा था, एक कमज़ोर इंसान जो अपनी कमज़ोरियों को और मज़बूत बनाने में जुटा हुआ है और उसका साथ देने के लिए है ड्रग्स।

फिल्म एक साइको थ्रिलर है। इसे नियो - नॉइर कहा गया है - New Black। फिल्म अंधेरी है, देखने में नहीं, सोचने में, समझने में और गहराई में जाने में! किसी को मारना क्या किसी के लिए रोज़मर्रा का काम हो सकता है? उठने बैठने खाने पीने जैसा? रमन के लिए है, क्योंकि उसे अपने राघव से मिलना है।

जानिए फिल्म की पूरी समीक्षा - 

कहानी

कहानी

रमन को अपने राघव से मिलना है। हालांकि रमन्ना यानि कि नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी का किरदार एक सीरियल किलर है जो एक रॉड के सहारे लोगों को मारता है। वहीं अपने राघव यानि कि राघवन (विक्की कौशल) की हर एक चीज़ पर उसकी नज़र है। लेकिन रमन को अपने राघव से क्यों मिलना है यही फिल्म की कहानी है।

अभिनय

अभिनय

जहां फिल्म में विक्की कौशल और शोभिता धूलीपाला ने बेहतरीन काम किया है वहीं नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी पूरी फिल्म में शानदार तरीके से चमके हैं। वो सुपरस्टार क्यों हैं, ये जानने के लिए बिना पलक झपकाए उन्हें इस फिल्म में देखिए! उनकी बिल्ली जैसी आंखें, भिखारियों के कपड़े में भी एक से एक जानलेवा एक्सप्रेशन!

किरदार

किरदार

फिल्म में तीन मुख्य किरदार हैं - रमन्ना जिसे अपने साथी को ढूंढना है। हर समय उसे कोई राह दिखा रहा है और उसके लिए वो रास्ते में आए हर इंसान को खत्म करेगा। वहीं राघवन एक इंस्पेक्टर है जो ड्रग्स से घिरा है और अपनी गर्लफ्रेंड को कोई वादा नहीं करना चाहता है। ये तीनों किरदार आपस में इस तरह बंधेंगे कि आप अपनी कुर्सी से नहीं हिलेंगे।

सस्पेंस

सस्पेंस

फिल्म का सस्पेंस शानदार है। हालांकि फिल्म की तुलना आप अनुराग कश्यप की अगली से अगर करते हैं तो केवल फिल्म के सस्पेंस के लिए कीजिएगा। दोनों फिल्मों की अपनी अलग खासियत है।

निर्देशन

निर्देशन

अनुराग कश्यप बॉस हैं और वो साबित करते हैं कि एक फिल्म के कैलकुलेशन में बस थोड़ा गड़बड़ हुआ था। उन्हें पता है कि अपना काम कैसे करना है और एक बार फिर बस आप उनके कायल होकर रह जाएंगे।

म्यूज़िक

म्यूज़िक

फिल्म का बैकग्राउंड म्यूज़िक कहीं ना कहीं फिल्म को ढीला छोड़ता है। अब ये बेतरतीब अंदाज़ कश्यप ने जानबूझ कर डाला है या म्यूज़िक इग्नोर किया गया, ये आप नहीं समझ पाएंगे। जहां अंधेरी रात के सड़कों के सीन हों या फिर दिन के उजाले में एक नाले में दिन बिताता एक आदमी। फिल्म का सस्पेंस कहीं भी म्यूज़िक के साथ नहीं चलता।

स्क्रिप्ट

स्क्रिप्ट

रमन राघव एक उम्दा फिल्म है। फिल्म की स्क्रिप्ट कसी हुई है लेकिन कहानी में बहुत बड़ा रिस्क था क्योंकि हर सीन के पहले आपको पता है कि क्या होने वाला है। फिर भी नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के हैरान कर देने वाले अभिनय ने संभाला है। वो इस पूरी फिल्म के कर्ता धर्ता है और शुरू से लेकर अंत तक वो आपको डराते रहेंगे चाहे वो डायलॉग्स हों या फिर एक्सप्रेशन।

अच्छी बातें

अच्छी बातें

फिल्म 2016 की सबसे बेहतरीन थ्रिलर साबित होगी। ऐसा नहीं है कि फिल्म का सस्पेंस आपको नहीं मालूम होगा, उसमें कुछ नया भी नहीं होगा लेकिन फिर भी हर एक ट्वविस्ट के साथ आप और हैरान होते जाएंगे।

निगेटिव बातें

निगेटिव बातें

फिल्म इंटरवल के बाद थोड़ी ढीली पड़ती है। वहीं फिल्म में विक्की कौशल को थोड़ा सा नज़रअंदाज़ किया गया है। उनके किरदार के शेड्स फिल्म में खुलकर नहीं आते। क्यों, ये पता नहीं।

 
English summary
Raman Raghav 2.0 film review - Anurag Kashyap's Nawazuddin Siddiqui film is Intriguing!
Please Wait while comments are loading...