»   » #FilmReview: कितना 'लाल रंग' चढ़ाओ...हर कोई नहीं होता हरियाणा का 'सुलतान'

#FilmReview: कितना 'लाल रंग' चढ़ाओ...हर कोई नहीं होता हरियाणा का 'सुलतान'

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
Rating:
2.0/5

डायरेक्टर - सैयद अहमद अफज़ल
स्टारकास्ट - रणदीप हुडा, अक्षय ओबेरॉय, रजनीश दुग्गल, पिया बाजपेयी 

रणदीप हुडा स्टारर लाल रंग रिलीज़ हो चुकी है और फिल्म से आपको ट्रेलर देखने के बाद भले ही कुछ ज़्यादा उम्मीदें हों, पर फिल्म आपकी उम्मीदों पर पानी फेर देगी। हर चमकती चीज़ सोना नहीं होती, वैसे ही हर हरियाणा की फिल्म सुलतान इफेक्ट के साथ नहीं आ सकती। लाल रंग भी कुछ वैसे ही है। फिल्म में पूरी कोशिश की गई है, हरियाणा के शेर जैसा माहौल बनाने की पर फिल्म केवल भटकती हुई किसी तरह अपने अंत तक पहुंचती है।

निर्देशक सैयद अहमद अफजल कि फिल्म ‘लाल रंग' ब्लड स्मगलिंग को उजागर करती है।आजकल हर विभाग में भ्रष्टाचार है और लाल रंग मेडिकल विभाग में फैले करप्शन को उजागर करती है। इस करप्शन से जुड़ा है एक ब्लड माफिया शंकर जो कितने लोगों को एचआईवी या ऐसी ही बीमारीयों का शिकार बना चुका है।

देखिए देखें या नहीं देखें ये उम्दा कहानी की फिल्म -
 

कहानी

कहानी

यह कहानी हरियाणा के करनाल की है जहां ब्लड बैंक से खून की स्मगलिंग एक धंधा है जिसका सरगना है शंकर। बहुत चालाकी से वो अपना रैकेट एक मेडिकल स्कूल में फैलाता है और फिर शुरू होता है ज़िंदगियों से खिलवाड़ करने का सिलसिला...लेकिन तब तक जब तक रजनीश दुग्गल जैसा पुलिस ऑफिसर सीन में आता है।

डायरेक्शन

डायरेक्शन

एक बेहतरीन विषय को उठाने के लिए सैयद अहमद की जितनी तारीफ की जाए कम है। लेकिन फिल्म को कॉमर्शियल बनाने के चक्कर में वो कहानी के साथ खिलवाड़ कर बैठते हैं।आज कल जहां फिल्में नाच गाना से दूर भाग रही हैं वहीं लाल रंग की सबसे बुरी बात है बेतुके गाने जो फिल्म की कहानी में कहीं फिट नहीं बैठते हैं।

अभिनय

अभिनय

फिल्म में रणदीप हुडा शानदार हैं वहीं अक्षय ओबेरॉय की हरियाणवी भी आपको अच्छी लगेगी। लेकिन कहानी के साथ धीरे धीरे ये किरदार कुछ ज़्यादा ही खुले हुए और बिखरे लगेंगे।

अच्छी - बुरी बातें

अच्छी - बुरी बातें

फिल्म का बेहतरीन पार्ट है डायलॉग्स। वहीं फिल्म की एडिटिंग काफी कमज़ोर है और धीरे धीरे कहानी को खो देने में एडिटिंग का काफी बड़ा हाथ है।

देखें या नहीं

देखें या नहीं

अगर एक अच्छे विषय की समझ चाहिए तो फिल्म देखी जा सकती है वरना फिल्म को मिस करना ही बेहतर होगा। हमारी तरफ से फिल्म को 2 स्टार।

English summary
Salman Khan shoots with a security of 1000 policemen in Uttar Pradesh.
Please Wait while comments are loading...