For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    REVIEW...कंगना रनौत का धमाका..लेकिन यहां मात खा गई 'सिमरन' !

    By Madhuri
    |

    Rating:
    2.5/5
    Star Cast: कंगना रनौत, हितेन कुमार, किशोरी शाहने, सोहम शाह
    Director: हंसल मेहता

    क्या है खास : कंगना रनौत।

    क्या है बकवास : सामान्य लेखन, कहानी में रोमांटिक एंगल।

    कब लें ब्रेक : इंटरवल में।

    कंगना रनौत क्वीन बनने के बाद से सब कुछ क्वीन जैसा ही करना चाह रही है और यही शायद उनकी गलती है। एक किरदार का जीवन एक फिल्म तक ही सीमित हो पाता है।

    सिमरन में कंगना रनौत, क्वीन की नई वाली रानी की झलक दिखाने की कोशिश करती हैं। और इसी कोशिश में कंगना बुरी तरह नाकाम दिखती हैं। हालांकि फिल्म की कहानी अच्छी है लेकिन फिल्म का लेखन ढीला है। डायलॉग्स असर नहीं छोड़ते और रानी की तरह सिमरन से किसी को प्यार नहीं हो पाता।

    प्लॉट

    प्लॉट

    बात की जाए फिल्म के प्लॉट की तो इसकी शुरुआत ऐसी है कि प्रफुल पटेल (कंगना रनौत) अपनी कज़िन जिसकी शादी होने वाली है, उससे ये कहती है कि एक अच्छी लड़की के पास एक ब्वॉयफ्रेंड है जबकि जो बुरी होती हैं वो एक साथ कइयों को मैनेज करती हैं। इस सीन से साफ झलक रहा है कि वो अंदर से कितनी भरी हुई है। बता दें कि प्रफुल 30 साल की तलाकशुदा महिला है जो ज्योर्जिया में रहती है और एक हाउसकीपर का काम करती है।

    तलाकशुदा महिला

    तलाकशुदा महिला

    बता दें कि प्रफुल 30 साल की तलाकशुदा महिला है जो ज्योर्जिया में रहती है और एक हाउसकीपर का काम करती है। वो ऐसी लड़की है जो हमेशा अपनी शर्तों पर जीती है। इसी बीच उसके पैरेंट्स हैं जो हमेशा उसकी असफल शादी के लिए उसे कोसते हैं। और वो चाहते हैं कि वो समीर (सोहम शाह) से शादी कर ले।

    जूए और चोरी की लत

    जूए और चोरी की लत

    लेकिन दूसरी ओर प्रफुल का सपना होता है कि वो खुद का अपना एक घर खरीदे। इसी बीच उसे Las Vegas जाने का मौका मिलता है। वहां जाने पर उसे जूए और चोरी की लत लग जाती है। आपको वो विदेश में बैंक लूटते भी नज़र आएगी।

    होगी मुसीबत

    होगी मुसीबत

    इसके बाद पुलिस की मुसीबत, कभी जेल की मुसीबत..कैसे सही होगा उसका जीवन..इसके लिए आपको थियेटर जाना चाहिए।

    निर्देशन

    निर्देशन

    बात की जाए फिल्म के निर्देशन की तो...आपने ये कहावत तो सुनी ही होगी कि हर चमकती चीज़ सोना नहीं होती..ऐसा कुछ सिमरन के साथ भी है। ऐसा लगता है कि फिल्म मेकर ने बेकार की बातों पर ज्यादा ध्यान दे दिया है और फिल्म के मेन प्लॉट को ही नज़रअंदाज़ कर दिया है। इसमें बैंक लूटना तो इस तरह दिखाया गया है जैसे कि कोई बच्चों का खेल हो। बैंक में कोई सिक्योरिटी नहीं। ऐसा कहां होता है भला। ऐसा लगता है कि ज़बरदस्ती इसमें रोमांटिक एंगल डाला है। अगर डायरेक्टर चाहते तो इस रोमांटिक ट्रैक को हटा भी सकते थे। इससे फिल्म का उद्देश्य थोड़ा स्पष्ट हो पाता।

    परफॉर्मेंस

    परफॉर्मेंस

    कंगना रनौत की परफॉर्मेंस पर तो कोई उंगली उठा नहीं सकता। शानदार एक्टिंग की है कंगना ने। वहीं सोहम शाह का रोमांटिक एंगल अजीब है।

    तकनीकी पक्ष

    तकनीकी पक्ष

    तकनीकी पक्ष पर नज़र दौड़ाएं तो अनुज धवन ने कैमरे का शानदार इस्तेमाल किया है।

    म्यूज़िक

    म्यूज़िक

    फिल्म में सिर्फ एक गाने 'सिंगल रहने दे' के अलावा ऐसा कोई गाना नहीं है जो आपकी ज़बान पर चढ़ सके।

    वर्डिक्ट

    वर्डिक्ट

    कंगना रनौत की सिमरन आपको ज्यादा इम्प्रेस नहीं कर पाएगी। इसकी जान हैं तो बस खुद कंगना ही।

    English summary
    Kangana Ranaut's Simran Movie Review Stroy Plot Rating.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X