»   » Review..कन्फ्यूजन और हल्की फुल्की कॉमेडी का डोज है बहन होगी तेरी

Review..कन्फ्यूजन और हल्की फुल्की कॉमेडी का डोज है बहन होगी तेरी

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
Rating:
2.0/5

कास्ट- राजकुमार राव, श्रुति हासन, हैरी टंगड़ी
प्रोड्यूसर और डायरेक्टर - अजय के पन्नालाला, टोनी डिसूजा
शानदार पॉइंट - राजकुमार राव की परफॉर्मेंस
निगेटिव पॉइंट - श्रुति हासन की एक्टिंग
शानदार मोमेंट - जब गट्टू और भूरे शराब पीकर राहुल नाम को कोसने लगते हैं जो शाहरुख खान का पर्यायवाची नाम बन चुका है। शाहरुख खान हर फिल्म में किसी और की गर्लफ्रेंड ले जाते हैं।

   

प्लॉट

प्लॉट

गट्टू बिन्नी से प्यार करत है! गट्टू बड़ा जरूर है लेकिन उसकी हरकतें टीनएजर वाली है। उसे दोस्तों के साथ घूमना पसंद है। कोई नौकरी नहीं है, वो अपने मोहल्ले से रक्षा बंधन पर भाग जाता है। गली में क्रिकेट खेलता है और पैरेंट्स से पॉकेटमनी मांगता है। वो अपनी पड़ोसी बिन्नी अरोड़ा (श्रुति हासन) से बहुत प्यार करता है। उसे बचपन से सिखाया गया है कि पड़ोस की लड़कियां उसकी मां और बहन जैसी है और एक लड़का होने के नाते उसकी जिम्मेदारी है को वो सबकी सुरक्षा करे।

प्लॉट

प्लॉट

अपनी जिंदगी को बेहद हल्के तरीके से लेने वाला गट्टू (राजकुमार राव) और बिन्नी के बीच प्यार हो जाता है। कहानी में मोड़ तब आता है जब गट्टू का बेस्ट फ्रेंड भूरे बिन्नी को बाइक से छोड़ने जाता है और गट्टू के पापा उसे देख लेते हैं। वो सब जगह अफवाह फैला देते हैं कि भूरे और बिन्नी का सीक्रेट अफेयर है।

डायरेक्शन

डायरेक्शन

बॉलीवुड में टिपिकल देसी लव स्टोरी खूब चलती है। डायरेक्टर अजय पन्नालाल ने इसे रोमांटिक कॉमेडी के अंदाज में बनाया है। फिल्म का डायरेक्शन साधारण है और फिल्म 12 8 मिनट लंबी और बोरिंग है। फिल्म के कई ट्विस्ट हैं लेकिन स्क्रीनप्ले और स्टोरीलाइन इसके साथ मैच नहीं करती। फिल्म एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है लेकिन फिल्म से कॉमेडी गायब है। फिल्म में कन्फ्यूजन को ज्यादा हाइलाइट किया गया है। कैरेक्टर में गहराई नहीं है। हमें उम्मीद थी कि क्लाइमैक्स सीन में शायद परिपक्वता दिखाई दे लेकिन उससे भी निराशा ही हाथ लगी।

परफॉर्मेंस

परफॉर्मेंस

इस रोमांटिक कॉमेडी फिल्म को अगर कोई बचाता है तो राजकुमार राव है। उन्होंने कम से कम फिल्म को देखने लायक बना दिया है और उनकी भी बिल्कुल नैचुरल लगती है।वो फिल्म में इतने अच्छे लगे हैं कि कभी कभी तो अंतर महसूस करना मुश्किल हो जाता है कि फिल्म है या असल जिंदगी। वो कैमरे के आगे इतने शानदार हैं कि जो भी रोल मिल जाए उसके साथ न्याय करते हैं।

श्रुति हासन फिल्म में खूबसूरत लगी हैं और बस खूबसूरत ही लगी हैं। उनकी एक्टिंग दमदार नहीं है। ऐसा लग रहा है कि वो खुद भी फिल्म में कुछ खास दिलचस्पी नहीं ले रही हैं। एक छोटे से रोने के सीन में भी ऐसा लगता है कि उन्हें कितना मेहनत करना पड़ रहा है।

भूरे (हैरी टंगड़ी) ने भी अपने रोल के साथ न्याय किया है। फिल्म में गट्टू और भूरे की दोस्ती को अच्छे से दिखाई गई है लेकिन फिल्म में मजबूत स्क्रीनप्ले की कमी है। बाकी एक्टर्स ने भी अच्छा काम किया है लेकिन फिल्म का प्लॉट ही कमजोर है।

तकनीकी पक्ष

तकनीकी पक्ष


फिल्म बहन होगी तेरी में कुछ भी खास किया गया हो। फिल्म में सबकुछ आखिर तक एवरेज ही लगता है। सिनेमेटोग्राफी भी फिल्म की बहुत ही सिंपल है जो टीवी पर आने वाली किसी फिल्म में दिख जाएगी। फिल्म में कोई भी शानदार सीन नही है और कैमरा एंगल भी बेहद बेसिक हैं।

म्यूजिक

म्यूजिक

पूरी फिल्म की तरह म्यूजिक भी साधारण है। कोई भी गाना ज्यादा देर तक आपके साथ नहीं रह पाएगा।

 Verdict

Verdict

बहन होगी तेरी एक औसत फिल्म है जिसमें मसाला नहीं है। फिल्म में रोमांस और कॉमेडी भी कुछ खास नहीं है।

English summary
Behan hogi teri movie review story plot and rating,Know how the movie is,
Please Wait while comments are loading...