»   » REVIEW.. फिल्म के सारे मसाले हैं बादशाहो में.. लेकिन यहां निराश कर दिया

REVIEW.. फिल्म के सारे मसाले हैं बादशाहो में.. लेकिन यहां निराश कर दिया

By: madhuri
Subscribe to Filmibeat Hindi
Rating:
3.0/5

फिल्म की कास्ट : अजय देवगन, इमरान हाशमी, इलियाना डिक्रूज, ईशा गुप्ता, विद्युत जामवाल, संजय मिश्रा
निर्देशक : मिलन लूथरा
प्रोड्यूसर्स : भूषण कुमार, कृष्ण कुमार, मिलन लूथरा
लेखक : रजत अरोड़ा
क्या है खास : अजय देवगन, इमरान हाशमी, बेहतरीन डायलॉग्स और दमदार एक्शन
क्या है बकवास : विद्युत जामवाल और क्लाइमेक्स
कब लें ब्रेक : इंटरवल
शानदार पल : बादशाहो में कई सीटीमार डायलॉग्स आपको बोर नहीं होने देंगे। वहीं इस फिल्म का वो सीन सबसे जबरदस्त है, जिसमें भवानी और उसके साथी सेहर के ट्रक का पीछा करते हैं। वहीं एक दूसरा सीन जिसमें पहली बार दलिया से मिलने पर सेहर उसके पीछे पड़ जाता है।

प्लॉट

प्लॉट

फिल्म की शुरूआत में रानी गीतांजली (इलियाना डिक्रूज) के परिचय से, जिसके तुरंत बाद 2 साल का लीप दिखाया जाता है। कहानी शुरू होती है रानी के जयपुर स्थित रॉयल मैंशन में बॉम्बिंग से, जिसके बाद इलियाना को इमरजेंसी के वक्त छुपे सोने के बारे में सरकार को खबर नहीं देने के लिए अरेस्ट कर लिया जाता है।

जहां एक तरफ गीतांजली जेल में होती हैं। वहीं दूसरी तरफ उसे पता होता है कि उसके पीछे एक शख्स है जो सब संभाल लेगा। वो है गीतांजली का बॉडीगार्ड और लवर भवानी सिंह (अजय देवगन), जिसका पसंदीदा जुमला है 'चार दिन की जिंदगी है और आज चौथा दिन है..ये सोचकर इतने साल निकाल दिए' .. भवानी एक सख्त दिल इंसान है।

फिल्म में फ्लैशबेक में भवानी और गीतांजली का रोमांस दिखाने के बाद सामने आता है कि गीतांजली चाहती है कि भवानी उसका शाही सोना लूट ले, जिससे कि वो भ्रष्ट पॉलीटिशियन संजीव के हाथों में जाने से बच जाए।
यहां से शुरू होता है भवानी का आखिरी दांव। इसमें भवानी का साथ देता है उसका दोस्त दलिया (इमरान हाशमी)। 'शर्म और मैं तो एक सेंटेंस में नहीं आते'.. दलिया खुद को कुछ इस तरह संजना (ईशा गुप्ता) से इंट्रोड्यूस करता है। संजना इसी गैंग की पार्ट होती है। वहीं इसके बात एंट्री होती है तिकला (संजय मिश्रा) की जो कि एक उम्रदराज, पियक्कड चोर है।

चारों, एक साथ मिलकर आर्मी ऑफिसर सेहर (विद्युत जामवाल) से निपटने की कोशिश करते हैं। सेहर को गीतांजली के महल से बरामद हुए सोने को दिल्ली भेजने का काम सौंपा जाता है। जो कि उस आसान काम नहीं है क्योंकि उस इलाके में हर तरफ खतरा, धोखा और विश्वासघात है। वहीं इसी वक्त एक ऐसा ट्विस्ट है जिससे ऑडिएंस ये समझने में इंगेज हो जाती है कि खिलाड़ी कौन है और खेल किसके साथ हो रहा है।

Baadshaho Movie Review: Ajay Devgan | Emraan Hashmi | IIeana D'Cruz | Esha Gupta | Boldsky
निर्देशन

निर्देशन

मिलन लूथरा आपको उस दौर में ले जाएंगे जहां लोग थियेटर में पैसा वसूल एंटरटेमेंट के लिए जाते थे। उनकी ये फिल्म सिंगल स्क्रीन ऑडिएंस को काफी पसंद आएगी क्योंकि ये एक हार्डकोर मसाला फिल्म है।

फिल्म में कैरेक्टर्स को दिखाने का मिलन का अपना एक अलग अंदाज है, जो कि बादशाहो में साफ नजर आ रहा है। जहां एक तरफ प्लॉट बेसिक है वहीं रजत अरोड़ा के धमाकेदार डायलॉग्स ने तालियां बटोरीं है। नैरेशन में थोड़ा-बहुत भटकाव होने के बावजूद उनकी लाइन्स और बेहतरीन तरीके से फिल्माए गए एक्शन सीक्वेंस ने फिल्म को बचा लिया है।

वहीं इस फिल्म का सारा मजा तब खराब हो जाता है, जब लोगों को इसके बेहद बकवास क्लाइमैक्स के बारे में पता चलता है। कहा जा सकता है कि फिल्म की शुरूआत को धमाकेदार थी लेकिन खत्म होते-होते सब कबाड़ा कर दिया।

परफॉर्मेंस

परफॉर्मेंस

जहां एक तरफ अजय देवगन अपने चिरपरिचत माचो अंदाज में नजर आते हैं, वहीं दूसरी तरफ इमरान हाशमी अपने भड़कीलापन से लाइमलाइट चुरा लेते हैं। इमरान की कॉमिक टाइमिंग भी कमाल की है। वहीं संजय मिश्रा के साथ उनकी मजाकिया झिड़क फिल्म को मसखरा टच देती है।

इलियाना ने इस फिल्म में ऐसी महारानी का किरदार बखूबी निभाया है तो मर्दों को अपनी उंगलियों पर नचाना बहुत अच्छे से जानती है। वहीं उनके किरदार में कहीं न कहीं कुछ कमी लगती है। दूसरी तरफ ईशा गुप्ता फिल्म में महज एक प्रॉप की तरह मालूम होती हैं। वहीं विद्युत जामवाल भी अपने अभिनय से कुछ खास इंप्रेस नहीं कर पाए।

फाइनली, संजय मिश्रा अपने किरदार में विश्वसनीय लगे हैं।

तकनीकि पक्ष

तकनीकि पक्ष

सुनीता राडिया ने बेहतरीन तरीके से मरुस्थल को दिखाया है, जो की तारीफ के काबिल है। वहीं दूसरी तरफ आरिफ शेख की एडिटिंग ने भी ठीक-ठाक काम किया है। हालांकि इस फिल्म को थोड़ा शॉर्ट किया जा सकता था।

म्यूजिक

म्यूजिक

मेरे रश्के कमर ने अजय और इलियाना की कैमिस्ट्री को बेहतरीन तरीके से दिखाया है। वहीं सनी लियोन के आइटम सॉन्ग पिया मोरे ने भी काफी इंप्रेस किया है। फिल्म का गाना होशियार रहना फिल्म के नैरेशन को आगे लेके गया है। वहीं सोचा है कुछ खास इप्रेस नहीं कर पाया।

वर्डिक्ट

वर्डिक्ट

बादशाहो एक तरीके से पुरानी कहानी में गढ़े गए नए किरदार है। फिर भी अगर आप इस वीकेंड पर एक धमाकेदार एक्शन और मसालों से भरपूर फिल्म देखना चाहते हैं तो बादशाहो देखने जरूर जाएं।

English summary
Baadshaho movie review plot and rating..know here
Please Wait while comments are loading...