»   » "मुझे पता था कि इस साल का हर अवार्ड मेरी फिल्म को मिलेगा!"

"मुझे पता था कि इस साल का हर अवार्ड मेरी फिल्म को मिलेगा!"

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

बहुत कम ऐसे लोग होते हैं जिन्हें अपने काम पर पूरा कॉन्फिडेंस होता है और तापसी पन्नू उन्हीं चंद लोगों में से एक हैं। कम से कम उनकी बातें और उनका कॉन्फिडेंस तो यही कहता है।

तापसी की फिल्म पिंक ने इस साल की बेस्ट सामाजिक फिल्म का नेशनल अवार्ड जीता है औऱ अब तापसी ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि उन्हें पता था कि इस साल का हर अवार्ड पिंक ही लेकर जाएगी। 

tapsee-pannu-proves-that-every-award-on-earth-should-go-film
 

कुछ चीज़ों पर आपको विशवास होता है और पिंक के लिए भी पूरी टीम को ऐसा ही कॉन्फिडेंस था। गौरतलब है किअमिताभ बच्चन, कीर्ति कुल्हारी, एंड्रिया तारियांग और तापसी पन्नू स्टारर पिंक इस साल की सबसे सशक्त फिल्म मानी गई। हर किसी ने कहा कि फिल्म सबको देखनी ज़रूरी है।
[#AlsoRead: "अब मैं क्या करूं कि मुझे भी अवार्ड मिल जाए पता नहीं!"] 

लड़का या लड़की, दिल्ली वाला या मुंबई वाला, मम्मी पापा या पति पत्नी कोई फर्क नहीं पड़ता। फिल्म हर किसी के लिए ज़रूरी है। फिल्म एक बेहद सशक्त उदाहरण है कि आज हमारे समाज में क्या गलत है। हर लड़की को एक ही नज़र से देखा जाता है और हर लड़की का कैरेक्टर, वो नहीं लोग तय करते हैं।

पिंक की जान थे पिंक के डायलॉग्स। अब जब इसे बेस्ट फिल्म का नेशनल अवार्ड मिल चुका है तो हमें लगा कि एक बार और आपको 2016 के बेस्ट डायलॉग्स याद दिला दें जो तीन लड़कियों और उनके वकील ने कहे -
 

 हम सेक्स वर्कर हैं।

हम सेक्स वर्कर हैं।

फिल्म में एक किरदार दूसरे पक्ष के वकील से कहती है कि हम जिस राज्य से आते हैं, हम पर ये तोहमत लगाना आसान हो जाता है कि हम सेक्स वर्कर हैं।
और अमिताभ बच्चन साफ साफ एंड्रिया का पक्ष रखते हैं -
मुकेश कुमार से नहीं पूछा क्या वो राजस्थान से हैं, सरला प्रेमचंद से नहीं पूछा कि वो हरियाणा से क्यों हैं...एंड्रिया से ये पूछा जा रहा है कि वो नॉर्थ ईस्ट से हैं तो उसके कोई मायने तो होंगे!

किसी लड़के को मत दो HINT

किसी लड़के को मत दो HINT

किसी भी लड़की को किसी भी लड़के के साथ हंस हंस कर बात नहीं करना चाहिए और उसे छूना नहीं चाहिए क्योंकि लड़का उसे इशारा 'HINT' समझता है। उसकी हंसी को हां समझता है। लड़की का हंसने बोलने वाला स्वभावउसके चालू होने का सुबूत बन जाता है।

मेरा मन मैं जो करूं

मेरा मन मैं जो करूं

हां मैं मान लेती हूं हमने पैसे लिए। लेकिन पैसे लेने के बाद मन बदल गया, उसे नहीं करना था सेक्स। उसके बाद भी ये आदमी छूता रहा। क्या कानून की नज़र में ये सही था?

स्वतंत्र लड़कियां

स्वतंत्र लड़कियां

लड़कियों को अकेले नहीं रहना चाहिए। Independent लड़कियां कन्फ्यूज़ कर देती हैं। लड़कियों को हंसकर बात नहीं करनी चाहिए हमेशा सीरियस रहना चाहिए।

 छूने का लाइसेंस

छूने का लाइसेंस

किसी भी लड़की को किसी भी लड़के के साथ कहीं भी अकेले नहीं जाना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने पर लोग ये मान लेते हैं कि लड़की 'चाहती' थी आना और उसे छूने का लाइसेंस लड़के को मिल जाता है।

 घड़ी की सुई = कैरेक्टर

घड़ी की सुई = कैरेक्टर

हमारे यहां घड़ी की सुई कैरेक्टर तय करती है। रात को जब लड़कियां सड़क पर अकेले जाती हैं तो गाड़ियां रूक जाती हैं और उनके शीशे नीचे उतरने लगते हैं। दिन में ये महान आईडिया किसी को नहीं सूझता।

शराब - सिगरेट ना बाबा ना

शराब - सिगरेट ना बाबा ना

जो लड़कियां पार्टी में जाती हैं और खासकर जो शराब पीती हैं उन पर पुश्तैनी हक बन जाता है लड़कों का। आपके घर की लड़कियां नहीं पीतीं वो अच्छी हैं, ये लड़कियां पीती हैं तो खराब हैं। चूंकि ये खराब हैं इनके साथ कुछ भी किया जा सकता है।

कपड़ों से होती है गलती

कपड़ों से होती है गलती

जीन्स, टी शर्ट, स्कर्ट लड़कियों को नहीं पहनना चाहिे क्योंकि लड़कों को खतरा हो जाता है। बेचारे उत्तेजित हो जाते हैं और बिना किसी गलती के गलती कर देते हैं। हमें लड़कों को बचाना है, लड़कियों को नहीं।

शराब पी ली तो सो भी जाएगी

शराब पी ली तो सो भी जाएगी

किसी भी लड़की को किसी भी लड़के के साथ बैठकर शराब नहीं पीनी चाहिए क्योंकि लड़के को लगता है कि शराब पी सकती है तो सोने में भी नहीं कतराएगी। शराब लड़की का खराब कैरेक्टर तय करता है। लड़कों का नहीं, लड़कों के लिए बस ये खराब आदत है।

AVAILABLE का साइन

AVAILABLE का साइन

जब लड़कियां किसी के साथ रात में खाना खाने या शराब पीने जाती हैं तो उनका मन है, इसलिए नहीं कि वो आपके लिए AVAILABLE का साइन बोर्ड नहीं हैं। लेकिन ऐसे पढ़े लिखे अमीर लड़के ये तय कर लेते हैं कि ये अच्छी लड़की नहीं है और इसके साथ कुछ भी करने का हक है।

लड़की करे तो ड्रामा

लड़की करे तो ड्रामा

ना कहा था मैंने सर, लेकिन फिर भी ये मुझे छुए जा रहा था। गुस्सा आ गया मुझे, करना नहीं चाहती थी पर ये छोड़ ही नहीं रहा था। बोतल मारनी पड़ी। दोबारा करेगा ना तो सर पर मारूंगी इसके मैं।

लाइसेंस वाली महिला

लाइसेंस वाली महिला

उन्हें लगा कि आप एक लाइसेंस वाली महिला हैं। आपने पहले सेक्स किया है इसलिए एक बार और हो जाएगा तो क्या फर्क पड़ेगा। ये शायद इतना समझदार नहीं है कि समझ पाए कि पहले हुआ, आपकी मर्ज़ी से, बिना किसी दबाव के,
बिना पैसे लिए।

ना मतलब ना...No Means No

ना मतलब ना...No Means No

ना सिर्फ एक शब्द नहीं, अपने आप में पूरा वाकया है। इसे किसी तर्क की, किसी स्पष्टीकरण की ज़रूरत नहीं। ना का मतलब ना होता है और मेरी क्लाइंट ने ना कहा था। और लड़कों को समझना चाहिए कि NO means NO, उसे कहने वाली लड़की परिचित हो, गर्लफ्रेंड हो, सेक्स वर्कर हो या आपकी बीवी अगर कोई ना कह रहा है तो आपको रूकना पड़ेगा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary
    Tapsee Pannu proves that every award on earth should go to film.

    रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more