For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    दिशा सालियान की मौत के बाद सुशांत की ज़िंदगी को खतरा था - सिद्धार्थ पिठानी का CBI स्टेटमेंट

    |

    सुशांत सिंह राजपूत केस में सीबीआई ने अब तक मर्डर एंगल को खारिज नहीं किया गया है और अब रिपब्लिक टीवी के पास सिद्धार्थ पिठानी का सीबीआई स्टेटमेंट है जिसमें सुशांत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी ने सुशांत सिंह राजपूत और दिशा सालियान केस के बीच कुछ अहम बयान दिए हैं।

    सिद्धार्थ पिठानी के इस बयान में कहा गया कि दिशा सालियान की मौत के बाद सुशांत को अपनी ज़िंदगी पर भी खतरा लग रहा था और वो अपनी सिक्योरिटी बढ़ाना चाहते थे।

    सिद्धार्थ ने इस स्टेटमेंट में कहा कि 8 जून को दिशा की मौत की खबर सुनकर सुशांत बहुत रोए और बेहोश हो गए। होश में आने के बाद वो काफी डरे हुए थे और कह रहे थे कि उन्हें भी मार दिया जाएगा।

    गौरतलब है कि इसी दिन रिया चक्रवर्ती सुशांत का घर छोड़ चुकी थीं और अपने साथ सुशांत के लैपटॉप और हार्ड ड्राइव लेती गई थीं। रिया के पास सुशांत के सारे पासवर्ड्स थे और सुशांत इस वजह से भी काफी परेशान थे।

    गौरतलब है कि दिशा सालियान की मौत को लेकर भाजपा नेता नितेश राणे भी बड़ा बयान दे चुके हैं। वहीं सिद्धार्थ पिठानी की भूमिका शुरू से ही इस केस में संदिग्ध रही है।

    परिवार का दे रहे थे साथ

    परिवार का दे रहे थे साथ

    गौरतलब है कि सिद्धार्थ पिठानी पहले सुशांत सिंह राजपूत के परिवार का साथ दे रहे थे। ऐसा सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह का कहना है। लेकिन फिर अचानक सिद्धार्थ पिठानी परिवार के विरूद्ध जाकर रिया चक्रवर्ती का साथ देने लगे।

    मुंबई पुलिस को लिखी थी चिट्ठी

    मुंबई पुलिस को लिखी थी चिट्ठी

    सिद्धार्थ पिठानी ने मुंबई पुलिस को एक चिट्ठी लिखी थी जिसमें उन्होंने लिखा था कि सुशांत का परिवार उन्हें रिया के खिलाफ बयान देने को कह रहा है। और साथ ही उनसे रिया और सुशांत के खर्चों का हिसाब मांग रहा है।

    नहीं पता कैसे थे रिश्ते

    नहीं पता कैसे थे रिश्ते

    सिद्धार्थ पिठानी ने पहली बार अर्णब गोस्वामी के शो पर माना था कि वो सुशांत और रिया के रिश्ते के बारे में बेहद कम जानते थे। उन्हें नहीं पता कि 8 जून की रात रिया क्यों घर छोड़कर गईं। हालांकि रिया ने उन्हें बताया कि वो जा रही हैं और सुशांत का ख्याल रखा। साथ ही रिया ने ये भी कहा कि वो बस एक फोन कॉल करने पर आ जाएंगी अगर कोई दिक्कत हो तो।

    नहीं जानते थे डिप्रेशन है

    नहीं जानते थे डिप्रेशन है

    सिद्धार्थ पिठानी ने ये भी कहा कि उन्हें नहीं पता था कि सुशांत डिप्रेशन के शिकार है या फिर उन्हें किसी तरह की कोई मानसिक दिक्कत है। अगर उन्हें पता होता तो वो शायद सुशांत से बात करते या फिर उसकी मदद कर पाते।

    रोया था सुशांत

    रोया था सुशांत

    लेकिन यही सिद्धार्थ पिठानी अपने बयानों में ये भी कह चुके हैं कि सुशांत उन्हें फोन करके रोया था कि उसका कोई नहीं है। वहीं सिद्धार्थ ने ये भी कहा कि 13 जून की रात आखिरी बार सुशांत ने उनसे बात की थी, लगभग रात के 1 बजे।

    खुद देते थे दवाएं

    खुद देते थे दवाएं

    सिद्धार्थ पिठानी को रिया और सुशांत के बारे में ज़्यादा नहीं पता था फिर भी रिया की लाई हुई दवाएं वो खुद सुशांत को देते थे। उनका कहना था कि रिया ने उन्हें दवाई दी थी जिससे दो टैबलेट वो खुद सुशांत को देते थे। लेकिन पूछने पर ये नहीं बता पाए कि टैबलेट का नाम क्या था या फिर वो किस चीज़ की दवा थी।

    डायरी के फटे पन्ने

    डायरी के फटे पन्ने

    सुशांत सिंह राजपूत की जो डायरी बरामद हुई उससे कुछ पन्ने फटे थे। इस बारे में सवाल किए जाने पर पहले तो सिद्धार्थ ने किसी डायरी के बारे में पता होने से इंकार किया और फिर खुद ही बताया कि सुशांत की एक आदत थी कि वो लिख कर खुद फाड़ देता था क्योंकि उसने जो लिखा वो उसे पसंद नहीं आता था।

    चाभी वाले को बुलाया था

    चाभी वाले को बुलाया था

    14 जून की सुबह जब सुशांत का दरवाज़ा नहीं खुला तो सिद्धार्थ ने ही फोन कर चाभी वाले को बुलाया था। उन्होंने कहा था कि कमरे के अंदर कोई काफी देर से सो रहा है और उठ नहीं रहा है, इसलिए चाभी बनवानी है। चाभी वाले को ये नहीं बताया गया था कि कमरे के अंदर कौन है। नई चाभी बनने के बाद चाभी वाले को भेज दिया गया और फिर कमरा खोला गया था।

    बहन को किया था फोन

    बहन को किया था फोन

    कमरा खुलने के बाद जब सिद्धार्थ ने सुशांत को देखा तो उन्होंने पहले उनकी बहन मीतू को फोन कर बताया और फिर पुलिस को फोन किया। इसके बाद सिद्धार्थ ने खुद चाकू से फंदा काटा था और नीरज के साथ सुशांत को नीचे उतारा था।

    दोस्त का दावा

    दोस्त का दावा

    वहीं सुशांत सिंह राजपूत की फैमिली फ्रेंड स्मिता ने दावा किया है कि उन्होंने सुशांत की मौत के पांच दिन बाद सिद्धार्थ पिठानी से बात की और वो काफी खुश था। उसे मुंबई पुलिस पर पूरा भरोसा था। सिद्धार्थ पिठानी ने स्मिता को कहा कि मुंबई पुलिस से बात करके उसे लग रहा है कि कोई थेरेपी सेशन था। उसे लग रहा है कि जैसे उसके सीने से बहुत बड़ा बोझ उतर गया है।

    English summary
    Siddharth Pithani in his CBI statement revealed that Sushant was scared for his life after Disha Salian’s suicide. Rhea had took his laptop and hard drives while leaving the house.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X