For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    ''संजय दत्त से मनमुटाव के बाद कोई मुझे काम नहीं दे रहा था, मेरे पास कोई फिल्म नहीं थी''

    |

    निर्देशक संजय गुप्ता ने फिल्म इंडस्ट्री में दो दशक से ज्यादा का समय गुजारा है। हाल ही में पीटीआई से इंटरव्यू के दौरान निर्देशक ने अपने करियर के उतार- चढ़ाव पर बात किया और बताया कि फिल्म कांटे के दौरान संजय दत्त से उनका मनमुटाव हो गया था। जिसके बाद लंबे समय तक कोई उन्हें काम नहीं दे रहा था, ना ही उनकी फिल्म में काम करने को तैयार होता था।

    'ऋतिक रोशन की बहन सुनैना खतरे में, पीटता है रोशन परिवार..'

    कौफ, कांटे, मुसाफिर, शूटआउट एट लोखंडवाला, जज्बा, काबिल जैसी फिल्में देने वाले निर्देशक संजय गुप्ता ने हाल ही में अपनी अगली मल्टीस्टारर फिल्म 'मुंबई सागा' की घोषणा की है। फिल्म 2020 में रिलीज होगी। इस गैंगस्टर ड्रामा में मुख्य किरदारों में दिखेंगे- जॉन अब्राहम, इमरान हाशमी, सुनील शेट्टी, जैकी श्राफ, प्रतीक बब्बर, गुलशन ग्रोवर और रोहित रॉय।

    संजय गुप्ता ने फिल्म इंडस्ट्री में अपने 25 साल पूरे कर लिये हैं। साल 1994 में उन्होंने फिल्म 'आतिश' के साथ अपने सफर की शुरुआत की थी। संजय दत्त स्टारर यह फिल्म हिट रही थी। संजय दत्त के साथ संजय गुप्ता की दोस्ती लंबे समय तक चली। लेकिन फिल्म कांटे के बाद दोनों के बीच एक दरार आ गई।

    संजय दत्त के साथ पहली फिल्म

    संजय दत्त के साथ पहली फिल्म

    निर्देशक ने बताया- 25 साल पहले मेरी पहली फिल्म आतिश आई थी। उसकी कास्टिंग मेरे लिए मुश्किल नहीं थी। संजय दत्त की वजह से वो फिल्म आसानी से बन पा रही थी क्योंकि बिना स्टार की मौजूदगी में उस दौर में फिल्में बनाना आसान नहीं था।

    संजय दत्त का शुक्रगुज़ार हूं

    संजय दत्त का शुक्रगुज़ार हूं

    उन्होंने कहा- मैं संजय दत्त का शुक्रगुज़ार हूं कि उन्होंने मेरी पहली फिल्म की।

    बहरहाल, कांटे तक संजय गुप्ता कुछ और फिल्मों का निर्देशन कर चुके थे और बॉलीवुड में जाना पहचाना नाम बन चुके थे। लिहाजा, कांटे में उन्होंने संजय दत्त के साथ अमिताभ बच्चन, सुनील शेट्टी और अन्य के साथ एक मल्टीस्टारर फिल्म बनाई। फिल्म हिट रही, लेकिन यहीं से संजय दत्त के साथ उनके रिश्ते में कड़वाहट आ गई।

    मेरे पास काम नहीं था

    मेरे पास काम नहीं था

    निर्देशक ने कहा- कांटे रिलीज़ हुई और मेरे लिए चीज़ें खराब होती चली गईं। मेरी फिल्म शूटआउट एट वडाला की रिलीज के चार साल पहले तक मेरे हालात खराब थे। फिल्म इंडस्ट्री के 90 प्रतिशत लोग मेरे साथ काम नहीं करना चाहते थे क्योंकि मेरा संजू के साथ मनमुटाव हो गया था।

    संजय दत्त ने किसी को मना नहीं किया था

    संजय दत्त ने किसी को मना नहीं किया था

    संजय गुप्ता ने कहा- संजय दत्त ने कभी लोगों को सीधे तौर पर नहीं कहा कि वे मेरे साथ काम ना करें लेकिन संजू के आसपास रहने वाले लोगों ने गुप्ता के साथ प्रोजेक्ट में शामिल ना होने के लिए कहते थे।

    मैंने हार मान ली थी

    मैंने हार मान ली थी

    निर्देशक ने कहा कि वह मेरे लिए बहुत ही बुरा दौर था। मैंने खंडाला के एक होटल में काम करना भी शुरु कर दिया था और उसे ही भविष्य मान लिया था। लेकिन फिर मैंने खुद को संभाला और नई शुरुआत करने की ठानी

    शूटआउट एट वडाला

    शूटआउट एट वडाला

    फिर मैंने एकता कपूर के साथ शूटआउट एट वडाला की शुरुआत की। मैंने जॉन अब्राहम और अनिल कपूर से फिल्म की बात की। अनिल कपूर ने इस मामले में सीधा कहा था कि अगर संजू मुझे सीधे तौर पर कहेगा कि मैं संजय गुप्ता के साथ काम ना करूं तो मैं नहीं करूंगा।

    रिश्ते में सुधार

    रिश्ते में सुधार

    बहरहाल, शूटआउट एट वडाला बनी। इधर संजय दत्त और संजय गुप्ता के बीच अब चीज़ें सामान्य हो चुकी हैं। संजय गुप्ता अब अपनी अगली फिल्म 'मुंबई सागा' के साथ तैयार हैं।

    English summary
    Director Sanjay Gupta remembers his 25 years in Bollywood and said in an interview that no one was ready to work with him after his fallout with Sanjay Dutt.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X