»   » 3 साल बाद, जब 4 दिन तक फूट-फूटकर रोए थे संजय दत्त, बताई चौंकाने वाली कहानी

3 साल बाद, जब 4 दिन तक फूट-फूटकर रोए थे संजय दत्त, बताई चौंकाने वाली कहानी

Subscribe to Filmibeat Hindi

हाल ही में बॉलीवुड के संजू बाबा पर बायोपिक बन रही है, इस बायोपिक में रणबीर कपूर संजय दत्त के किरदार में नजर आएंगे। वहीं फिल्म के अलावा संजय दत्त की जिंदगी पर लिखी गई एक किताब इन दिनों खूब सुर्खियों में है। इस किताब में कई चौंकाने वाले खुलासे किए गए हैं। जिसमें से एक वाकया संजय दत्त के उस दौर के बारे में भी है जब वे 4 दिनों तक फूट-फूट कर रोए थे।

[कमाल करते हैं सलमान खान, ये काम कोई और करे तो पिट जाए.. क्या बात है!]

संजय दत्त की जिंदगी शुरू से ही कॉन्ट्रोवर्सीज और उतार-चढ़ाव से भरी रही है। जिसके चलते राजकुमार हिरानी उन पर फिल्म बना रहे हैं। फिल्म के रिलीज से पहले ही एक किताब रिलीज हुई है। यासीर उस्मान की किताब 'संजय दत्त: द क्रेजी अनटोल्ड स्टोरी ऑफ बॉलीवुड बैड ब्वॉय' में एक्टर की अच्छी-बुरी आदतें, गलतियों, संघर्ष समेत संजय के हर पल की की दास्तान का बयान है।

sanjay-dutt-once-cried-4-days-after-3-years-her-mother-s-demise

इस किताब की मानें तो वहीं उनके लिए सबसे मुश्किल दौर तब था जब वे अपनी मां से अलग हो गए थे। हैरानी की बात ये है कि वे अपनी मां नरगिस के निधन पर रोए तक नहीं थे। आगे जानें अपनी मां के निधन पर नहीं रोने वाले संजय दत्त आखिर किस बात पर 4 दिनों तक रोए थे और जानें कुछ और चौंकाने वाले खुलासे-

लिखी गई है किताब

लिखी गई है किताब

हाल ही में लेखक यासीर उस्मान ने संजय दत्त पर किताब लिखी है। ‘संजय दत्त: द क्रेजी अनटोल्ड स्टोरी ऑफ बॉलीवुड बैड ब्वॉय' में संजय दत्त की जिंदगी से जुड़ी चौंकाने वाली बातें बताई गई हैं।

मां के निधन पर नहीं रोए

मां के निधन पर नहीं रोए

संजय दत्त की मां नरगिस का निधन 3 मई 1981 को एक्टर की पहली फिल्म रॉकी के रिलीज से ठीक पहले हुई थी। उस दौरान संजय अपनी मां की मौत पर नहीं रोए।

तीन साल बाद हुआ ये

तीन साल बाद हुआ ये

वहीं मां की मौत के तीन साल बाद एक दिन टेप में मां की आवाज सुनते ही बच्चों की तरह फूट-फूटकर चार दिन तक रोते रहे थे।

पिता ने भेजा था

पिता ने भेजा था

उस्मान ने लिखा है, ‘मां की मौत के तीन साल बाद संजय अमेरिका में नशीली दवा की लत से छुटकारा के लिए उपचार केंद्र में थे। उपचार के दौरान मदद के लिए पिता सुनील दत्त ने नरगिस के अंतिम दिनों के कुछ रिकॉर्ड कि‍ये हुए टेप उन्हें भेजे थे।

गूंजने लगी मां की आवाज

गूंजने लगी मां की आवाज

किताब में कहा गया है, ‘संजय को जब अपने पिता से टेप मिला तो उन्हें पता नहीं था कि उसमें क्या है। उन्होंने उसे बजाया और अचानक ही कमरे में नरगिस की आवाज गूंजने लगी।

नरगिस के आखिरी दिन

नरगिस के आखिरी दिन

उनकी मां की आवाज कमजोर, रुक-रुक कर और दर्द से भरी हुई थी, लेकिन तब भी नरगिस अपने प्यारे बेटे के सपनों की बात कर रही थीं और उन्हें सलाह दे रही थीं।

चीख-चीख कर रोया

चीख-चीख कर रोया

किताब में संजय के हवाले से कहा गया है, ‘मैं चीख-चीखकर रोने लगा। चार दिनों तक आंखों से आंसू नहीं थमे। मुझे लगता है कि जब उनका निधन हुआ तब मैं सदमे में नहीं था. लेकिन उनकी आवाज और टेप ने मेरी जिंदगी हमेशा के लिए बदल दी।'

किए कई खुलासे

किए कई खुलासे

जगरनॉट द्वारा प्रकाशित किताब में संजय की हमसफर, उनके नशीली दवा लेने जैसे कई किस्सों का जिक्र किया गया है।

कॉन्ट्रोवर्शियल लाइफ

कॉन्ट्रोवर्शियल लाइफ

संजय दत्त की जिंदगी कॉन्ट्रोवर्सीज से भरी रही है। वे एक मामले में जेल भी जा चुके हैं।

बन रही फिल्म

बन रही फिल्म

वहीं संजय दत्त पर राजकुमार हिरानी बायोपिक भी बना रहे हैं। इस बायोपिक में रणबीर कपूर संजय दत्त का किरदार निभाते दिखेंगे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary
    sanjay dutt life is been so full of twist and turns and controversies that now his biopic is being made. recently an author wrote a book on his life which is going viral.

    रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more