For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    इस देश में डॉक्टरों को पत्थर मारना या किसी को पीटना तो आम बात है - सैफ अली खान

    |

    सैफ अली खान ने हाल ही में इंडिया टुडे के ई कॉन्क्लेव में भाग लिया और इस दौरान उन्होंने दिल खोलकर कई मुद्दों पर बात की। लेकिन सबसे ज़रूरी बात थी फिलहाल देश के हालात। और सैफ से भी इस बारे में सवाल पूछे गए।

    उनसे सबसे पहले इस समय के सबसे ज़रूरी मुद्दे पर बात की गई जो था देश में डॉक्टर्स और नर्स पर लगातार हो रहे हमले। लेकिन सैफ अली खान का जवाब हर किसी को चौंका गया।

    सैफ अली खान ने इस बारे में बात करते हुए कहा - भारत हर तरह की सोच और मानसिकता वाले लोगों का देश है। यहां कुछ लोगों की सोच रूढ़ीवादी है जो आज भी टोना टोटका कर सकती है और कुछ लोग हैं जो बिल्कुल वैज्ञानिक दृष्टिकोण रखते हैं।

    चीज़ें खराब हो सकती थीं लेकिन लोगों को मानना पड़ेगा कि वो लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। अगर इस देश में लोग एक दूसरे को पीट रहे हैं तो मुझे हैरानी नहीं होती है। भारत में इस तरह की घटनाएं हैरानी वाली बात ही नहीं है। बस उम्मीद करता हूं कि ज़्यादातर लोग दिमाग और संयम से काम लें।

    ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता

    ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता

    मुझे पॉलिटिक्स से ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता है। इस देश में भारतीय होने की और राष्ट्रवादी होने की परिभाषा हमेशा बदलती रहती है। मैं इस बारे में सोच कर अपना खून नहीं जला सकता। मैं उम्मीद करता हूं कि भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है, ये बात हमारे साथ हमेशा रहे। क्योंकि देश किस तरह जाएगा ये तो बहुमत ही बताएगा।

    ढेर सारे काम

    ढेर सारे काम

    लॉकडाउन में अपनी ज़िंदगी के बारे में बात करते हुए सैफ अली खान ने बताया कि उनकी ज़िंदगी में ज़्यादा कुछ नहीं बदला है। एक्टर्स अकसर ही अकेले रहने के आदी होते हैं। लेकिन फिलहाल उनके साथ तैमूर है यानि कि उनके पास करने के लिओ 150 काम हो चुके हैं।

    मदद करिए

    मदद करिए

    सैफ अली खान ने लोगों को याद दिलाया कि ये लॉकडाउन का समय कोई छुट्टी नहीं है। आप खुशनसीब हैं कि अपने परिवार के साथ हैं। लेकिन ये मत भूलिए कि हम लगातार एक जंग लड़ रहे हैं। उम्मीद करता हूं कि लोग साथ आकर काम करें और चीज़ों को ठीक कर पाएं।

    आपको मदद करनी ही पड़ेगी

    आपको मदद करनी ही पड़ेगी

    समाज में हमेशा से कुछ लोग संपन्न होते हैं और कुछ लाचार। हमें हमेशा उनकी मदद करनी चाहिए। केवल कोरोना के समय ही नहीं, दैनिक जीवन में भी। और ये मदद किसी चैरिटी के तौर पर नहीं होनी चाहिए। मैंने हाल ही में नेस वाडिया से बात की और उसके पास एक ब्रिलियंट प्लान है। जो भी देने की पोज़ीशन में है उसे देना ही पड़ेगा। इस समय हमें साथ काम करते हुए उनकी मदद करनी है जिनके पास मूलभूत चीज़ें भी नहीं बची हैं।

    तैमूर के साथ समय

    तैमूर के साथ समय

    तैमूर के बारे में बात करते हुए सैफ अली खान ने बताया कि उसके आस पास होने से हम सब बहुत ही ज़्यादा आशावादी और पॉज़िटिव रहते हैं। हम पेंट करते हैं, एक दूसरे के साथ समय बिताते हैं। हम एक परिवार के तौर पर खुश हैं और शायद यही इस लॉकडाउन के बीच एक अच्छी बात है।

    करीना के साथ समय

    करीना के साथ समय

    करीना के साथ समय बिताने के बारे में बात करते हुए सैफ अली खान ने कहा कि उसके अंदर एक अनुशासन है। वो समय पर उठती है, अपनी एक्सरसाइज़ करती है, स्पैनिश शो देखती है और फिर हम सब लगभग 4 बजे के करीब एक साथ मिलते हैं और साथ बैठकर कुछ ना कुछ करते हैं। एक दिन उसने मुझे खाना बनाने को कह दिया।

    सैफ और अक्षय

    सैफ और अक्षय

    90 के दशक की फिल्मों के बारे में बात करते हुए सैफ अली खान ने बताया कि उस दौर में कुछ भी याद करने को नहीं था। केवल कुछ दोस्तियां याद रखने लायक थीं जैसे कि मेरी और अक्षय कुमार की।

    दिल चाहता है

    दिल चाहता है

    दिल चाहता है में काम करने के बारे में सैफ अली खान का कहना था कि मुझे खुशी है कि मुझे इस फिल्म में याद रखा गया क्योंकि इस फिल्म में पहले ही आमिर खान और अक्षय खन्ना जैसे लाजवाब एक्टर्स थे। उनके साथ खड़ा होना ही अपने आप में एक अनुभव था।

    बदली इमेज

    बदली इमेज

    अपनी एक और फिल्म एक हसीना थी के बारे में बात करते हुए सैफ ने बताया कि श्रीराम राघवन के साथ उनकी ये फिल्म उनके करियर का टर्निंग पॉइंट थी। उन्होंने कल हो ना हो की थी जिसके बाद उनकी इमेज चॉकलेट बॉय में बंध कर रह गई थी।

    बदल दी दिशा

    बदल दी दिशा

    सैफ ने बताया कि वो एक निगेटिव इमेज चाहते थे और यही वजह थी कि जैसे ही राम गोपाल वर्मा ने उन्हें श्रीराम राघवन से मिलवाया उन्होंने बिना देरी के हां कर दी। इस फिल्म ने सैफ अली खान के करियर की दिशा ही बदल दी थी।

    English summary
    Saif Ali Khan in an interview stated that pelting stones or beating people up is not surprising in india.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X