For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    रिया चक्रवर्ती की ज़मानत पर हाईकोर्ट का फैसला सुरक्षित, NCB ने सुबूतों के साथ किया Bail का विरोध

    |

    रिया चक्रवर्ती और शौविक चक्रवर्ती की ज़मानत याचिका पर सुनवाई हो चुकी है और बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया है। बुधवार, 30 सितंबर को इस मामले में फैसला सुनाया जा सकता है।

    वहीं NCB ने सुबूतों के आधार पर इस ज़मानत का विरोध किया है। गौरतलब है कि रिया चक्रवर्ती को 8 सितंबर को ड्रग्स की खरीद फरोख्त के मामले में NCB ने तीन दिन की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था।

    इससे पहले उनके भाई, शौविक चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत के हाउस मैनेजर सैमुएल मिरांडा और सुशांत सिंह राजपूत के कुक दीपेश सावंत को इस मामले में 4 सितंबर को ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

    तब से ये सभी लोग जेल में हैं। रिया चक्रवर्ती भायखला जेल में कैद हैं। इसी जेल में शीना बोरा मर्डर केस की आरोपी इंद्राणी मुखर्जी भी सज़ायाफ्ता हैं।

    NCB ने किया ज़मानत का विरोध

    NCB ने किया ज़मानत का विरोध

    NCB ने रिया और शौविक की ज़मानत के खिलाफ शपथ पत्र (affidavit) फाईल किया है जिसमें रिया और शौविक की ज़मानत का विरोध किया गया है। NCB के ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने ये एफिडेविट फाईल किया है जिसमें रिया और शौविक की ज़मानत का विरोध किया गया है।

    काफी सुबूत

    काफी सुबूत

    समीर वानखेड़े का कहना है कि रिया और शौविक के खिलाफ काफी सुबूत है ये साबित करने के लिए कि रिया ड्रग ट्रैफिकिंग को फाईनेंस करती थीं। उन्होंने ना सिर्फ ड्रग्स की खरीद फरोख्त की है बल्कि ड्रग्स की गैर कानूनी ढंग से दलाली भी की है।

    सुबूतों की भरमार

    सुबूतों की भरमार

    रिया के खिलाफ सुबूत के तौर पर वॉट्सएप चैट हैं। वहीं उनके मोबाईल, लैपटॉप और हार्ड डिस्क से भी इस बाबत काफी सुबूत इकट्ठा किए गए हैं जो उनके खिलाफ सारे आरोप साबित करते हैं।

    अपने ही दावों में उलझीं रिया

    अपने ही दावों में उलझीं रिया

    रिया चक्रवर्ती ने अपने बयान में दावा किया था कि सुशांत सिंह राजपूत ड्रग एडिक्ट थे। NCB ने दावा किया कि ये जानते हुए भी कि सुशांत ड्रग्स लेते हैं, रिया ने ना सिर्फ उनका सहयोग किया, बल्कि इस बात को छिपाया जो कि कानून की दृष्टि में उतना ही गलत है।

    घर का होता था इस्तेमाल

    घर का होता था इस्तेमाल

    NCB ने अपने एफिडेविट में ये भी कहा कि रिया चक्रवर्ती एक आदमी का गैर कानूनी काम करने में साथ दे रही थीं। साथ ही उनका घर सुशांत के ड्रग्स के इस्तेमाल के लिए इस्तेमाल किया जाता है और ड्रग्स वहीं रखा जाता था।

    ड्रग्स तस्करी को आसान बनाया

    ड्रग्स तस्करी को आसान बनाया

    NCB ने अपने एफिडेविट में कहा कि रिया ना सिर्फ ड्रग्स सिंडिकेट का हिस्सा हैं बल्कि उन्होंने ड्रग्स की तस्करी को भी आसान बनाया। और उनको ज़मानत मिलने से सुबूतों से छेड़छाड़ का डर बना रहेगा।

    ड्रग सिंडिकेट का हिस्सा

    ड्रग सिंडिकेट का हिस्सा

    NCB ने साफ किया है कि रिया और सैमुएल करमजीत सिंह नाम के ड्रग पेडलर से ड्रग्स लेते थे और NCB की हिरासत में बंद धर्मा प्रोडक्शन्स के असिस्टेंट डायरेक्टर क्षितिज रवि प्रसाद भी उसी से ड्रग्स लेते थे।

    NCB ने की ज़बरदस्ती

    NCB ने की ज़बरदस्ती

    गौरतलब है कि इससे पहले भी अपनी ज़मानत याचिका में रिया ने साफ किया था कि NCB ने रिया से सारे बयान बिना किसी महिला ऑफिसर की उपस्थिति में ज़बरदस्ती लिए हैं। रिया की अपील में कहा गया है कि उनसे केवल पुरूष ऑफिसर्स ने पूछताछ की। रिया से ज़बरदस्ती बयान कुबूल करवाए गए थे।

    मारा था छापा

    मारा था छापा

    NCB ने रिया चक्रवर्ती और शौविक चक्रवर्ती की गिरफ्तारी के बाद उनके बयानों के आधार पर सुशांत सिंह राजपूत के पावना फार्महाउस पर छापा मारा। छापे में फार्महाउस से काफी दवाईयां, हुक्का और एश ट्रे बरामद की गईं थीं।

    सुशांत की हाई प्रोफाईल पार्टियां

    सुशांत की हाई प्रोफाईल पार्टियां

    एक रिपोर्ट के अनुसार, NCB को रिया और शौविक ने अपने बयानों में बताया कि सुशांत के इस फार्महाउस पर काफी ड्रग्स पार्टियां होती थीं जिनमें बड़े लोग शामिल होते थे। इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि ये सारी पार्टियां उस दौर में हुआ करती थीं जब रिया चक्रवर्ती के बयान के मुताबिक सुशांत सिंह राजपूत डिप्रेशन में थे। वो इस दौरान steroids भी लेते थे।

    English summary
    Bombay Highcourt has reserved order on Rhea Chakraborty and Shouvik Chakraborty's bail plea.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X