For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    लाल सिंह चड्ढा के फ्लॉप होने और बायकॉट बॉलीवुड ट्रेंड पर आर माधवन का रिएक्शन-'लोगों की पसंद में बदलाव आया है'

    |

    आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा और अक्षय कुमार की फिल्म रक्षाबंधन ने बॉक्स ऑफिस पर दम तोड़ दिया है। एक हफ्ता में दोनों फिल्में 50 करोड़ तक भी नहीं पहुंच पाई। ऐसे में हाल ही में एक इवेंट के दौरान अभिनेता आर माधवन से लाल सिंह चड्ढा के फ्लॉप होने पर और बायकॉट बॉलीवुड ट्रेंड को लेकर सवाल किया गया, तो अभिनेता ने कहा कि, 'हम सभी को ये समझने की जरूरत है कि दर्शकों की पसंद में बदलाव आया है।'

    Recommended Video

    Boycott Bollywood | R. Madhavan | R. Madhavan Statement on Bollywood Boycott Trend | FilmiBeat

    आगामी फिल्म 'धोखा' के टीजर लॉन्च पर लाल सिंह चड्ढा पर बात करते हुए माधवन ने कहा, "अगर हमें पता होता (लाल सिंह चड्ढा ने काम क्यों नहीं किया), तो हम सभी हिट फिल्में बना रहे होते। कोई भी यह सोचकर शुरू नहीं करता कि हम गलत फिल्म बना रहे हैं।"

    तापसी पन्नू स्टारर अनुराग कश्यप की फिल्म 'दोबारा' का दूसरा ट्रेलर हुआ जारीतापसी पन्नू स्टारर अनुराग कश्यप की फिल्म 'दोबारा' का दूसरा ट्रेलर हुआ जारी

    एक्टर ने आगे कहा, "फिल्म बनाने के पीछे की मंशा, कड़ी मेहनत उतनी ही ज्यादा होती है, जितनी हर फिल्म में एक अभिनेता काम करता है। इसलिए, सभी बड़ी फिल्में जो रिलीज हुई हैं... इरादा एक अच्छी फिल्म बनाने और इसे काम करने का था।"

    रॉकेट्री किसी भी समय चलती

    रॉकेट्री किसी भी समय चलती

    एक्टर ने अपनी फिल्म "रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट" की सफलता पर भी बात की। उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि मैं भाग्यशाली था कि मेरी फिल्म एक बायोपिक थी। यह किसी भी समय काम करती, चाहे वह कोरोना के पहले रिलीज होती या कोरोना के बाद।"

    दर्शकों की पसंद में बदलाव आया है

    दर्शकों की पसंद में बदलाव आया है

    एक्टर ने आगे कहा, "लेकिन हम सभी को अब ये समझना पड़ेगा कि लॉकडाउन के बाद दर्शकों की पसंद और प्राथमिकता में बदलाव आया है। आज वो दुनियाभर का कंटेंट देख रहे हैं, तो जाहिर है वो उन्हीं से आपकी तुलना भी करेंगे। यहां भी फिल्ममेकर्स को थोड़ी प्रोग्रेसिव फिल्में बनानी पड़ेगी।"

    साउथ की भी सिर्फ 6 ही फिल्में चली हैं

    साउथ की भी सिर्फ 6 ही फिल्में चली हैं

    साउथ की फिल्में और बॉलीवुड की लगातार होती तुलना पर माधवन ने कहा, "देखिए, अगर फिल्म अच्छी है तो लोग थिएटर में आएंगे। साउथ की बात करते हैं, तो हां हमने अच्छा किया है, लेकिन बाहुबली 1 और 2, RRR, पुष्पा, केजीएफ 1 और 2 ऐसी फिल्म हैं जिन्होंने हिंदी फिल्मों से भी ज्यादा अच्छा कमाया। लेकिन ये केवल छह फिल्में हैं, हम इसे एक पैटर्न नहीं कह सकते। अगर अच्छी फिल्में आती हैं, तो वे काम करेंगी.. चाहे साउथ की हो या बॉलीवुड की।"

    मैं रीमेक में काम नहीं कर सकता

    मैं रीमेक में काम नहीं कर सकता

    वहीं, रीमेक फिल्मों में काम करने के सवाल पर माधवन ने कहा, "मैं अपनी फिल्मों का रीमेक नहीं बनाता हूं। मुझसे '3 इडियट्स' के तमिल रीमेक के लिए अप्रोच किया गया था, लेकिन मैंने नहीं किया। एक एक्टर के तौर पर यह मेरे लिए बहुत कठिन है कि पहले एक सीन करो और फिर वैसा ही फिर से कुछ करो। मेरे लिए यह असंभव है। साथ ही हमेशा रीमेक की ऑरिजनल फिल्म से तुलना की जाती है। तो मुझे लगता है कि फिल्म में काम करने का मजा और मेहनत बेकार चला जाता है।"

    English summary
    Recently at an event, actor R Madhavan talks about the reason behind Laal Singh Chaddha's box office failure and Bollywood boycott trend.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X