For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    प्रकाश झा की 'राजनीति' के पीछे राजनीति

    By नेहा नौटियाल
    |

    पिछले हफ्ते आई 'काइट्स' के बाद इस हफ्ते प्रकाश झा की फिल्‍म 'राजनीति' रिलीज़ को तैयार है। काइट्स की ही तरह फिल्‍म को हिट कराने के पैंतरें आजमाने में राजनीति ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी है।

    राजनीति से जुड़ी सबसे बड़ी खबर यही चल रही है कि फिल्‍म कांग्रेस के आंगन में झांकने वाली है। यही कारण है कि कांग्रेस फिल्‍म का विरोध भी कर रही है। दरअसल फिल्मों को हिट कराने के लिए तमाम तरह की पब्लिसिटी के तरीके अब आम बात है।

    क्लिक करें- काइट्स के पीछे कई पब्लिसिटी स्‍टंट्स

    फिल्मों से जुड़े एक जानकार का कहना है, ''अच्छी पब्लिसिटी अच्छी होती है, बुरी, बेहतर और घटिया किस्म की पब्लिसिटी व्‍यवसायिक दृष्टि से बेहतरीन होती है, क्योंकि ये तेजी से फैलती हैं और इसका प्रभाव बहुत ज्यादा होता है। किसी भी फिल्म के लिए सबसे बुरा होता है उसकी पब्लिसिटी ना होना होता है।''

    आज के दौर में एक फिल्म के निर्माण में जो लागत आती हो उससे कहीं ज्यादा खर्चा फिल्म की मार्केटिंग यानी प्रचार में लगाया जाता है। फिल्मों को हिट कराने की रणनीति के अंतर्गत तरह-तरह के विवादों को खड़ा करना अब आम हो चला है। इससे लोगों के अंदर फिल्‍म देखने की इच्‍छा प्रबल होती है, कि आखिर फिल्‍म में ऐसा क्‍या है, जो विवाद खड़े हुए।

    राजनीति के प्रचार के लिए फिल्म की आकर्षक जोड़ी कैटरीना- रणबीर ने देश के कुछ चुनिंदा शहरों में छात्रों से वर्तमान राजनीति पर बातचीत भी की। ये कुछ- कुछ वैसा ही है जैसा कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले प्रत्याशी जनता के बीच जाकर उनके सरोकारों से जुड़े मुद्दों पर बहस किया करते हैं।

    फिल्‍म पर सेंसर बोर्ड का कैंची चलाना और उसके बाद 'ए' सर्टिफिकेट दिए जाने पर विवाद उठना, कैटरीना कैफ का सोनिया गांधी के लुक में दिखना, आदि ने राजनीति को रिलीज होने से पहले ही काफी पॉपुलर कर दिया है।हम अगर इससे पहले की फिल्‍मों की बात करें तो काइट्स की अभिनेत्री बारबरा मोरी से जुड़े विवादों ने जमकर सुर्खियां बटोरीं।

    क्लिक करें- फिल्‍म राजनीति से जुड़ी खबरें

    पिछले साल 3 इडियट्स के लिए आमिर खान का चोरी छिपे शहरों में जाना, 'कुर्बान' के पोस्टरों में करीना की नग्न पीठ, 'फूंक 2' में रामू का हॉल में अकेले बैठकर फिल्म देखने का न्यौता देना, 'वेक अप सिड' में मुंबई की जगह 'बाम्बे' का इस्तेमाल के लिए करण जौहर का बाला साहेब से माफी मांगना, 'माई नेम इज खान' से पहले शाहरुख के नाम के साथ 'खान' जुड़ा होने के कारण उनका लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे पर रोका जाना। यह सभी पब्लिसिटी के अलग-अलग पैंतरे हैं, जो बॉक्स ऑफिस पर दर्शकों की भीड़ जुटाने के लिए धड्डले से इस्तेमाल किए जा रहे हैं।

    खैर जो भी हो कुल मिलाकर हम यह कह सकते हैं कि इस सप्‍ताह रिलीज होने वाली राजनीति असल में कांग्रेसी नेताओं की कहानी है, या नहीं, यह फिल्‍म देखने के बाद ही पता चलेगा। मगर इस बात से इंकार नहीं कर सकते कि 'राजनीति' को कांग्रेसी राजनीति में रंगा दिखाकर ये फिल्म अच्छी- खासी पब्लिसिटी बटोर चुकी है।

    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X