For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    5 महीनों से बंद हैं सिनेमाघर- मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ने की केंद्र से सिनेमाघरों को खोलने की अपील

    |

    भारत में सिनेमाघरों में रिलीज हुई आखिरी फिल्म थी 'अंग्रेजी मीडियम', जिसकी रिलीज के अगले ही दिन कोरोना वायरस के कहर की वजह से देशभर में सिनेमाघरों को बंद करने की घोषणा कर दी गई। लगभग 5-6 महीनों से भारत में सभी मल्टीप्लेक्स और सिंगल स्क्रीन थियेटर्स पूरी तरह से बंद हैं। जिससे लाखों की रोजी रोटी भी छिन गई है।

    अब बॉलीवुड के कई कलाकार, निर्माताओं समेत मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने सरकार ने मांग की है कि देश में अब सिनेमाघरों को खोल दिये जाएं। एसोसिएशन ने कई ट्विट्स किये हैं और लिखा कि, यदि मेट्रो, मॉल और रेस्तरां को खोलने की अनुमति मिल सकती है, तो सिनेमा उद्योग भी एक अवसर पाने का हकदार है।

    सरकार द्वारा 'अनलॉक-4' के लिए जारी किए गए जारी दिशा-निर्देशों में सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति नहीं दी गई है। जिसके बाद मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ने अपनी मांग रखी है। एसोसिएशन ने #SupportMovieTheatres के साथ ट्विट किया कि सिनेमा उद्योग देश की संस्कृति का न सिर्फ अंतर्निहित हिस्सा है, बल्कि अर्थव्यवस्था का अभिन्न हिस्सा भी है जिससे लाखों लोगों की आजीविका चलती है।

    ज्यादातर देशों में खुल चुके हैं सिनेमाघर

    ज्यादातर देशों में खुल चुके हैं सिनेमाघर

    एसोसिएशन ने आगे लिखा, "ज्यादातर देशों में सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति मिल गई है। हम भारत सरकार से भी सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति देने का आग्रह करते हैं। हम सुरक्षित और स्वस्थ सिनेमा अनुभव देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"

    फिल्म निर्माताओं ने दिया साथ

    फिल्म निर्माताओं ने दिया साथ

    फिल्म निर्माता- निर्देशक अनुभव सिन्हा, बोनी कपूर, प्रवीण डबास और शिबाशीष सरकार समेत ट्रेड एनालिस्टों ने भी सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति देने की मांग का समर्थन किया।

    करोड़ों का नुकसान

    करोड़ों का नुकसान

    रिपोर्ट की मानें तो कि पिछले 5 से 6 महीनों में इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को लगभग 10 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है। अकेले बॉक्स ऑफिस का करीब पौने 4 हजार करोड़ का घाटा उठाना पड़ा है। फिल्में अब धीरे धीरे ओटीटी पर रिलीज हो रही है, लेकिन वह इंडस्ट्री के लिए खास फायदे का सौदा नहीं है।

    कई फिल्में हो चुकी हैं रिलीज

    कई फिल्में हो चुकी हैं रिलीज

    सिनेमाघर बंद होने की वजह से 'गुलाबो सिताबो', 'शकुंतला देवी', 'गुंजन सक्सेना द कारगिल गर्ल', 'सड़क 2' जैसी कई बड़ी फिल्में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुईं।

    सिनेमाघर को बड़ा नुकसान

    सिनेमाघर को बड़ा नुकसान

    जो फिल्‍में डायरेक्ट ओटीटी पर गई हैं, उनके चलते सिनेमाघरों का कुल बीस हफ्ते का बिजनेस खत्‍म हो चुका है। कई सिनेमाघर तो स्थाई तौर पर बंद हो गए हैं। पिछले पांच महीनों में कुल 75 करोड़ रुपए का बोझ तो अकेले पीवीआर सिने चेन पर है।

    लाखों बेरोजगार

    लाखों बेरोजगार

    मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन का कहना है कि लाखों लोग इस बिजनेस से जुड़े हुए हैं। पांच- छह महीनों से सिनेमाघर के बिल्कुल बंद होने से करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ा है, जिस वजह से अब वो सैलेरी देने में भी असमर्थ हैं।

    CBI के सामने रिया चक्रवर्ती ने स्वीकार ली ड्रग्स चैट की बात? वकील ने कहा- 'इन सबके लिए वक्त नहीं है'

    English summary
    Several Bollywood producers, actors along with the Multiplex Association of India urged the Centre to open the cinema halls, which have remained closed amid corona pandemic.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X