For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'मैंने बहुत रिजेक्शन झेले हैं, एक समय पर मैंने सुसाइड की कोशिश की थी'- सिंगर ने किया खुलासा

    |

    मशहूर सिंगर कैलाश खेर ने म्यूजिक इंडस्ट्री में 15 साल पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर एक इंटरव्यू में कैलाश खेर ने अपने संघर्ष के दिनों को फैंस के साथ शेयर किया है। सिंगर ने कहा कि शुरुआत में उन्हें काफी रिजेक्शन का सामना करना पड़ा था। इसकी वजह से वह सुसाइड करने की भी कोशिश कर चुके हैं लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी।

    कैलाश खेर ने बतौर इंडिपेंडेंट म्यूजिशियन म्यूजिक इंडस्ट्री में कदम रखा, और जल्द ही अपनी आवाज और गानों से लोगों के दिलों पर राज किया। फिल्म 'अंदाज' के गाने 'रब्बा इश्क ना होवे' से सिंगर ने बॉलीवुड में कदम रखा। फिर 'अल्लाह के बंदे' के साथ सीधे सुर्खियों में छा गए।

    फना, मंगल पांडे से लेकर बाहुबली तक.. कैलाश खेर की आवाज का जादू दर्शकों के सिर पर चढ़ता गया। कैलाश खेर म्यूजिक इंडस्ट्री में पद्मश्री से पाने वाले सबसे कम उम्र गायक हैं। लेकिन इनका सफर आसान नहीं रहा है।

    संगीत से भटका नहीं

    संगीत से भटका नहीं

    सिंगर ने कहा, "मेरी जर्नी बहुत सुंदर रही है। शुरुआत में किसी ने मेरे अंदर विश्वास नहीं जताया। एक वक्त ऐसा भी आया जब मैं टूट गया। मैंने बहुत सारे रिजेक्शन देखे और इसकी आदत हुई। लेकिन इससे मैं कभी भटका नहीं।"

    न्यूजिक इंडस्ट्री में 15 साल हो गए हैं

    न्यूजिक इंडस्ट्री में 15 साल हो गए हैं

    "अब 15 साल हो गए हैं और भगवान की कृपा से, मैं संगीत के क्षेत्र में पद्म श्री पुरस्कार पाने वाला सबसे युवा हूं। हालांकि मुझे यह 2017 में मिला, इसके लिए मेरा पहला नामांकन 2013 में आया जब एक अलग सरकार सत्ता में थी।"

    म्यूजिक एक थैरेपी है

    म्यूजिक एक थैरेपी है

    कैलाश खेर ने आगे कहा, "म्यूजिक सिर्फ एंटरटेनमेंट के लिए नहीं है। ये एक थेरैपी है। भारत अपने आप में एक दुनिया है और जब मेरे देश में लोग मुझे बधाई देते हैं, तो यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है।"

    लोग की प्रशंसा मेरा असली इनाम है

    लोग की प्रशंसा मेरा असली इनाम है

    "जब लोग मुझे बताते हैं कि मेरे म्यूजिक ने उन्हें एक नया जीवन दिया है, चीजों को देखने का एक नया दृष्टिकोण दिया है, यह मुझे खुश करता है। ऐसे कई लोग हैं जो मेरी प्रशंसा करते हैं, लेकिन जब मैं इस तरह के शब्द सुनता हूं, तो मुझे लगता है कि मुझे मेरा असली इनाम मिला है।"

    मैंने सुसाइड की कोशिश की थी

    मैंने सुसाइड की कोशिश की थी

    कैलाश खेर ने अपनी प्रेरणा के बारे में कहा, "मेरे पास कोई नहीं था और यही मुझे प्रभावित करता है। जब मैं मुंबई आया, तो मुझे बहुत सारे रिजेक्शन का सामना करना पड़ा। मुझे जीवन में इतना दुख हुआ कि मैंने खुद को मारने की भी कोशिश की। मैंने सब कुछ खो दिया था और हारने के लिए और कुछ नहीं था और यही मुझे प्रेरित करता है।"

    काला हिरण शिकार मामला: सलमान खान को पेशी से मिली छूट, कोरोना महामारी का हवाला

    English summary
    Kailash Kher opened up about battling suicidal thoughts during his struggling days in the industry. He said, I realised how ruthless and thankless people here are.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X