»   » अक्षय कुमार की फिल्म से दिक्कत है...तो पहले यहां सलमान खान की #Kundali देखिए

अक्षय कुमार की फिल्म से दिक्कत है...तो पहले यहां सलमान खान की #Kundali देखिए

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

सबसे पहले तो ये बता दें कि हमें ऐसा कुछ लिखने के लिए अक्षय कुमार ने कोई पैसे नहीं दिए हैं। और ना ही हम सलमान खान का कोई HATE CLUB चलाते हैं चुपचाप। और तीसरी बात ये कि हम कबीर खान के बहुत बड़े फैन हैं। अब मुद्दे पर आते हैं। 

कबीर खान से हाल ही में करण जौहर ने कॉफी विद करण में पूछा कि हाल फिलहाल की कोई ओवर रेटेड फिल्म बताइए तो कबीर खान थोड़ा सा हिचके पर उन्होंने कहा एयरलिफ्ट। इसके बाद उऩ्होंने अपना बेस्ट एक्टर चुना - सुशांत सिंह राजपूत।

kabir-khan-chooses-ms-dhoni-over-airlift-calls-it-over-rated
 

अब यहां पर हम कबीर खान की चॉइस का पूरा सम्मान करते हैं। हर किसी की अपनी पसंद होती है और जितनी शानदार दर्जे की फिल्में वो बनाते हैं, तो ज़ाहिर सी बात है कि उन्हें एयरलिफ्ट में कुछ कमियां ज़रूर लगी होंगी। 
 [इस फिल्म के लिए सलमान को अपनी #ReleaseDate दे देंगे अक्षय?] 

पर हमें उनकी ये बात सुनते ही बजरंगी भाईजान याद आ गई। मतलब समझिए कि दिमाग में फर्राटे से दौड़ गई। कारण ये कि हमें बजरंगी भाईजान भी थोड़ा हकीकत से परे Over rated सी फिल्म लगी थी।

अब ये भी हमारा अपना निजी मानना है। हमारी सोच है। तो हमने सोचा कि चलिए इन दो ओवर रेटेड फिल्मों की तुलना भी कर ही ली जाए। अगर आपने दोनों फिल्में देखी है तो हमें कमेंट बॉक्स में इस तुलना पर अपनी टिप्पणी ज़रूर दीजिएगा -
 

दो कॉमन आदमी

दो कॉमन आदमी

दोनों ही फिल्में एक कॉमन आदमी पर थी। बजरंगी भाईजान एक नॉर्मल कॉमन आदमी था वहीं रंजीत कात्याल एक अमीर लेकिन कॉमन बिज़नेसमैन। क्योंकि ऐसे कितने ही अमीर हर देश में हैं।

एक मुश्किल

एक मुश्किल

रंजीत कात्याल को रातोंरात एक मुश्किल समझ में आती है और वो उससे खुद निकलने के रास्ते ढूंढता है। उसे केवल अपनी चिंता और वो मुश्किल से छुटकारा चाहता है। ऐसा ही कुछ बजरंगी के साथ भी था, वो केवल मुन्नी से पीछा छुड़ाना चाहता था, उसे मुन्नी के घर में कोई इंटरेस्ट नहीं था।

 BEFORE VS AFTER

BEFORE VS AFTER

अपने ड्राईवर को सामने मरता देख रंजीत कात्याल को लगता है कि उसकी पहचान केवल हिंदुस्तानी हैं और वो अपने साथ 1 लाख 70 हज़ार की मदद करता है। लेकिन बजरंगी के साथ कुछ उल्टा था। मुन्नी को ऑलमोस्ट बेचने के बाद उसे Guilt होता है, और फिर वो उसे घर पहुंचाने की ठानता है।

मसीहा आदमी

मसीहा आदमी

रंजीत कात्याल के कैरेक्टर में कहीं भी हीरो के गुण नहीं दिखाए गए। वो एक कॉमन आदमी था जिसने गलतियां की, उनसे सीखा, अपने साथ लोगों को जो़ड़ा और एक कामयाब मिशन बनाया। लेकिन बजरंगी भाईजान एक मुन्नी को पाकिस्तान पहुंचा आए...बिना किसी की मदद के...वो मसीहा ही रहे होंगे।

मुश्किल पर मुश्किल

मुश्किल पर मुश्किल

बजंरगी और रंजीत दोनों ने मुश्किलों का सामना किया। लेकिन रंजीत ने मुश्किलों के हल नहीं निकाले...उसने वो आदमी ढूंढे जो हल निकाल सके, क्योंकि वो नॉर्मल था। लेकिन बजरंगी बिना किसी की मदद के बॉर्डर पार कर, तार के नीचे से...मुन्नी को घर पहुंचा आए...मसीहा इफेक्ट!

गलतियां पर सीखना

गलतियां पर सीखना

रंजीत अपनी गलतियों से सीखता है और धीरे धीरे उन्हें दूर करता है। कभी वो सफल हुआ कभी बुरी तरह असफल हुआ। लेकिन बजरंगी ने कोई गलतियां की ही नहीं, उनके साथ बस सब होता चला गया और पाकिस्तान में वो बिना पासपोर्ट के एक बच्ची को छोड़ आए! wow!

डर, परेशानी सब थी

डर, परेशानी सब थी

अक्षय कुमार का रंजीत वाकई रियल है - उसमें डर है, परेशानी है, नाउम्मीदी है। उसके पास रास्ते नहीं है और वो निकालने की कोशिश कर रहा है तब वो फाइनल प्लान पर पहुंचता है। लेकिन बजरंगी के पास मुश्किल, परेशानी थी पर रास्ते ढूंढने की बजाय वो मुन्नी सहित उन परेशानियों में कूद गए....बजरंगी का नाम लेकर!

 रोमांस था पर नहीं

रोमांस था पर नहीं

रंजीत के पास रोमांस का वक्त नहीं था लेकिन फिर भी एयरलिफ्ट में एक पति - पत्नी के बीच के रिश्ते को मुश्किल की घड़ी में खूबसूरती से दिखाया है। लेकिन बजरंगी भाईजान में करीना का एंगल क्या था शायद ही किसी को समझ आया!

हिंदुस्तानी? कहां था

हिंदुस्तानी? कहां था

रंजीत की कहानी कहीं से भी रंजीत को हीरो नहीं बनाती पर हिंदुस्तान को बनाती है। ऐसा नहीं था कि उसकी मुश्किल कोई समझ रहा था पर उसने समझाने की कोशिश की क्योंकि हल हिंदुस्तान था। लेकिन बजरंगी की परेशानी ना हिंदुस्तान - पाकिस्तान ने समझी ना उसने समझाने की कोशिश की। बस अचानक से उसका साथ देने कुछ लाख लोग बॉर्डर तक चले आए!

सलमान खान या अक्षय कुमार

सलमान खान या अक्षय कुमार

अगर आपको ये तुलना पसंद आई तो हमारे पास एक और तुलना है जो आपको बहुत ही ज़्यादा पंसद आएगी -

MUST READ
बेबी Vs बजरंगी भाईजान, सलमान या अक्षय, कौन था असली हीरो?

    English summary
    Kabir Khan chooses MS Dhoni over Airlift calls it overrated.

    रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more