For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    द कश्मीर फाइल्स विवाद EXCLUSIVE: पुनीत इस्सर ने Nadav Lapid को लताड़ा, कहा- शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों को

    |

    The Kashmir Files IFFI controversy: IFFI जूरी के प्रमुख नदाव लैपिड ने 'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर दिये बयान से बड़ा विवाद खड़ा कर दिया है। 53वें आईएफएफआई गोवा के समापन समारोह में लैपिड ने विवेक अग्निहोत्री की फिल्म को 'वल्गर और प्रोपेगेंडा' कहा। कहने की जरूरत नहीं है, इस बयान ने सोशल मीडिया पर हंगामा खड़ा कर दिया है।

    विवेक अग्निहोत्री निर्देशित फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' में अहम किरदार निभाने वाले अभिनेता पुनीत इस्सर ने विवाद पर प्रतिक्रिया दी है। फिल्मीबीट के साथ एक विशेष इंटरव्यू में, वरिष्ठ अभिनेता ने फिल्म उद्योग में काम कर रहे 'पॉवरफुल लोगों' के बारे में बात की।

    'द कश्मीर फाइल्स' को शुरु हुए विवाद पर पुनीत इस्सर ने कहा, "हमारी फिल्म इंडस्ट्री में एक बहुत बड़ा गिरोह काम कर रहा है, जो इंडिपेडेंट फिल्ममेकर्स के खिलाफ है जिन्होंने सच बोलने की हिम्मत की है। ये नदाव लैपिड जैसे लोग उनके माउथपीस हैं, जिन्होंने ऐसे अपशब्द इस्तेमाल किये हैं। क्या यह व्यक्ति उस नरसंहार के बारे में भूल गया है जो यहूदियों को जर्मन द्वारा सहना पड़ा था। इतनी अनगिनत फिल्में बनी हैं वर्ल्ड वॉर 2 के दौरान यहूदियों के साथ जो अत्याचार हुआ, उस पर। एक इजरायली होकर, एक यहूदी होकर, आपको इस विषय पर संवेदना होनी चाहिए। लेकिन आपने ना फिल्म ढ़ंग से देखी, ना कुछ सोचा और आप ऐसे शब्द इस्तेमाल कर रहे हैं।"

    ये शब्द उनके मुंह में डाले गए हैं

    ये शब्द उनके मुंह में डाले गए हैं

    अभिनेता ने आगे कहा, "आप ये बोल सकते थे कि मुझे अच्छी नहीं लगी फिल्म। वो समझा जा सकता था। लेकिन आप कह रहे हैं कि ये वल्गर है! मतलब किस एंगल से ये वल्गर है। ये शब्द ही गलत है और इसका मतलब यही है कि आपने फिल्म देखी ही नहीं है। और दूसरा आप कह रहे हैं कि ये प्रोपेगेंडा फिल्म है। ये तो क्लीयर है कि ये शब्द उनके मुंह में डाले गए हैं। ऐसी फिल्म जिसने सारे रिकॉर्ड तोड़ हैं। जिस छोटी सी फिल्म ने 400 करोड़ का बिजनेस किया है। वो फिल्म जिसने रिएलिटी दिखाई है, वो फिल्म जिसे क्रिटिक्स ने भी पसंद किया है, आप उस फिल्म को लेकर ऐसी बातें कह सकते हैं!"

    शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों को

    शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों को

    पुनीस इस्सर ने कहा कि व्यक्तिगत विचार की हम इज्जत करते हैं। लेकिन जिस तरह के शब्द का उन्होंने इस्तेमाल किया है, मैं उससे हैरान हूं.. कि कैसे कोई जिम्मेदार व्यक्ति इस तरह की बात कर सकता है। शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों को। मुझे तो यकीन है कि उन्होंने फिल्म देखी ही नहीं है। उन्हें बोला गया है कि आप ऐसा बोल दो।

    फिल्म में सच्चाई दिखाई गई है

    फिल्म में सच्चाई दिखाई गई है

    एक्टर ने कहा, "प्रोपेगेंडा की बात करें तो आम पब्लिक पागल नहीं हैं, जिन्होंने ये फिल्म देखी। एक 'मोदी' फिल्म भी तो आई थी, वो तो नहीं चली। लोग जो प्रोपेगेंडा की बात करते हैं, गलत बात करते हैं। इस फिल्म में फैक्ट्स के साथ आपको सच्चाई दिखाई गई है। कई इंटरव्यू और वीडियो तो पब्लिक में उपलब्ध हैं, उसके बावजूद आप इसे प्रोपेगेंडा कह रहे हैं! तो ये हैरान करने वाली बात है। वो कहा जाता है कि ना कि सौ बार झूठ कहो, तो वही सच मान लिया जाता है। लेकिन यहां ऐसा नहीं होगा। ये शुतुरमुर्ग बन गए हैं, आंख बंद करके बैठे हैं कि हमने तो सत्य देखा ही नहीं।"

    जो सत्य कहना चाहते हैं, उन्हें रोका जाता है

    जो सत्य कहना चाहते हैं, उन्हें रोका जाता है

    फिल्म के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री को अपने दोस्त और भाई बताते हुए पुनीस इस्सर कहते हैं, "जिस फिल्म ने इतना बिजनेस किया, उसके निर्देशक को फिल्मफेयर में बुलाते नहीं हैं। फिल्म के किसी कलाकार को नहीं बुलाया गया। फिल्म का नाम तक नहीं लिया गया। इससे समझ आता है कि ये पॉवरफुल लोग जो कई वर्षों से फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा हैं, वो इंडिपेंडेंट फिल्ममेकर्स को, जो सत्य कहना चाहते हैं, उन्हें रोकते हैं।"

    English summary
    In an exclusive conversation with Filmibeat, actor Puneet Issar lashed out at Nadav Lapid on The Kashmir Files controversy. He said, shame on such people for giving such statements.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X