For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सचिन जोशी पर कर्मचारियों ने लगाए गंभीर आरोप, पेश किए ईमेल के सुबूत

    |

    हाल ही में एक्टर सचिन जोशी पर उंगलियां तब उठी जब वो कोरोना सहायता राशि में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते दिखे। उनकी कंपनी के पूर्व कर्मचारियों ने उन पर आरोप लगाया कि सचिन ने कर्मचारियों को अब तक उनका मेहनताना यानि कि सैलेरी नहीं दी है।

    मामला बढ़ा और सचिन जोशी ने अपनी तरफ से सफाई पेश करते हुए कहा कि वो करीब 1000 परिवारों का पेट पालते हैं। अगर केवल कुछ लोगों को सैलेरी नहीं मिली है तो कोई तो कारण होगा।

    सचिन ने इन कर्मचारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये कर्मचारी कंपनी के पूर्व सीईओ के साथ मिलकर काम कर रहे थे और इसलिए ये पूरा मामला कोर्ट में लंबित है।

    अब सचिन जोशी की कंपनी के कुछ पूर्व कर्मचारियों ने अपना पक्ष रखते हुए पूरी बात साफ करने की कोशिश की है। इन पूर्व कर्मचारियों ने सबसे पहले साफ किया कि जिस केस की बात हो रही है वो केस थिंकटैंक नाम की कंपनी के साथ है।

    ex-employees-accuse-sachiin-joshi-for-salary-fraud-bust-his-allegations-with-email-proofs

    लेकिन ये सारे कर्मचारी, वाईकिंग्स नाम की कंपनी का हिस्सा थे और इनका कोई भी मामला किसी भी कोर्ट में लंबित नहीं है। वहीं कंपनी में सचिन को रिपोर्ट करने वाली पूर्व कर्मचारी तसकीन नाईक ने बताया कि मीडिया में खबर आने के बाद सारी बातों को केवल घुमाया जा रहा है।

    शेयर हुए ईमेल

    शेयर हुए ईमेल

    तसकीन ने एक ईमेल शेयर किया जो कि कंपनी के चेयरमैन सचिन जोशी ने अपने कर्मचारियों को लिखा है। इस ईमेल से काफी बातें बिल्कुल साफ हो जाती है। ईमेल में सचिन अपने कर्मचारियों से वेतन समय पर ना दे पाने के लिए माफी मांगते दिखाई दे रहे हैं।

    सचिन ने किया था वादा

    सचिन ने किया था वादा

    वहीं इस ईमेल को ध्यान से पढ़ा जाए तो सचिन जोशी ने कर्मचारियों को वादा भी किया कि आने वाले समय में वो कई ऐसे कदम उठाएंगे जिससे कर्मचारियों को समय पर वेतन मिल पाए।

    सबको किया था धन्यवाद

    सबको किया था धन्यवाद

    इसी ईमेल में सचिन ने अपने कर्मचारियों को धन्वाद तक कहा था कि ऐसे मुश्किल समय में भी कंपनी पर उनका भरोसा करना काबिले तारीफ है। सचिन ने उन्हें विश्वास दिलाया था कि वो बहुत जल्द सबकी सैलेरी दे देंगे। उन्होंने किसी को भी हताश ना होने की सलाह दी थी और पूरे ज़ोर और उत्साह से कंपनी में काम करने के लिए प्रेरित भी किया था।

    दान से नहीं है दिक्कत

    दान से नहीं है दिक्कत

    इन पूर्व कर्मचारियों ने साफ किया कि उन्हें सचिन जोशी के दान पुण्य के काम से कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन कम से कम कर्मचारियों की मेहनत का पैसा तो उन्हें दे दें। एक पूर्व कर्मचारी ने ये स्क्रीनशॉट शेयर किया जिसमें कंपनी के बकाए राशि की जानकारी है जो कि 3 करोड़ से भी ऊपर है। कुछ कर्मचारियों के कहने पर किसी के नाम नहीं उजागर किए गए हैं।

    हमेशा सैलेरी में आनाकानी

    हमेशा सैलेरी में आनाकानी

    कंपनी के एक पूर्व कर्मचारी कृष्णा का कहना है कि उन्होंने वाईकिंग वेनचर्स अक्टूबर 2018 में जॉइन की थी उनकी पोस्ट सीनियर मार्केटिंग मैनेजर की थी। केवल एक महीने की सैलेरी समय पर मिली। इसके बाद लगातार सैलेरी मिलने में दिक्कत होती थी। फरवरी 2019 के बाद किसी को सैलेरी ही नहीं मिली और थक हारकर उन्होंने जून 2019 में नौकरी छोड़ दी। वो अभी भी अपनी सैलेरी का इंतज़ार कर रहे हैं।

    सैलेरी की इतनी दिक्कत

    सैलेरी की इतनी दिक्कत

    कंपनी के एक और पूर्वकर्मचारी आदित्य का कहना है कि उन्होंने केवल एक महीना कंपनी में काम किया लेकिन जब देखा कि सैलेरी की इतनी दिक्कत है तो उन्हें नौकरी छोड़नी पड़ी। इसके बाद लगातार कंपनी के HR से बात करने की कोशिश की लेकिन सब फिज़ूल रहा। कंपनी अपने पूर्वकर्मचारियों की बात सुनने को तैयार ही नहीं है।

    आना जाना भी बंद

    आना जाना भी बंद

    आदित्य ने जानकारी देते हुए कहा कि कंपनी के हेड ऑफिस में किसी को भी जाने की इजाज़त ही नहीं है। कोई फोन पर भी बात नहीं करना चाहता है। ना ईमेल का जवाब आता है। हर कोई एक साल से केवल अपने पैसों के भुगतान का इंतज़ार कर रहा है।

    अमीर लोगों की हेकड़ी

    अमीर लोगों की हेकड़ी

    इन कर्मचारियों का कहना है कि यहां से केवल दो ही रास्ते हैं या तो मीडिया के ज़रिए उन्हें उनका हक मिल पाएगा या फिर ये अमीर लोग अपनी पहुंच और पैसे का इस्तेमाल कर हर किसी का मुंह बंद करवा देंगे। इन कर्मचारियों को केवल अपने हक का पैसे चाहिए लेकिन क्या वाकई ये इतनी मुश्किल बात है?

    ईमेल पर ईमेल

    ईमेल पर ईमेल

    तसकीन का कहना है कि उन्होंने लगातार ईमेल भेज कर जवाब मांगने की कोशिश की है। हर बार उन्हें कोई नई तारीख बताई गई जब उनके पैसों का भुगतान कर दिया जाएगा लेकिन अभी तक ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है ।

    सफेद झूठ बोल रहे हैं सचिन

    सफेद झूठ बोल रहे हैं सचिन

    कंपनी के पूर्व कर्मचारी कृष्णा का कहना है कि जिस कोर्ट के मामले की सचिन जोशी बात कर रहे हैं, अगर वाकई ऐसा कोई मामला है तो उन्हें आज तक इस बात के लिए कोई नोटिस क्यों नहीं मिला? क्योंकि सचिन केवल बातें बना रहे हैं। अब ये पूर्व कर्मचारी अडिग हो चुके हैं कि सचिन जोशी का सच सबके सामने लाकर ही रहेंगे।

    English summary
    Actor Businessman Sachiin Joshi has been accused for non payment of dues by ex emplyees who present screenshots as a proof.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X