For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

भूतनाथ रिटर्न्स की पाठशाला- हर किरदार ने सिखाया जिंदगी का पाठ!

|

बच्चों का इंतजार खत्म हुआ और भूतनाथ आर थियेटरों में रिलीज हो गयी। भूतनाथ की ही तरह भूतनाथ रिटर्न्स फिल्म भी बच्चों के साथ ही बड़ों का भी मनोरंजन करेगी। फिल्म में रोमांस को छोड़कर सारे मसाले हैं। चूंकि ये बच्चों की फिल्म है तो फिल्म में किसी भी तरह का कोई रोमांटिक सीन या फिर एडल्ड सीन नहीं डाला गया है। यहां तक कि फिल्म के गानों में भी कोई दोहरे अर्थ वाले शब्दों का प्रयोग नहीं किया गया है। हालांकि फिल्म में कुछ गालियों का प्रयोग किया गया है लेकिन उन्हें भी मजाक के तौर पर दिखाया गया है। इसके अलावा भूतनाथ रिटर्न्स का हर एक किरदार फिल्म में कोई ना कोई संदेश और कुछ अच्छी बातों को लिये हुए है। आइये देखते हैं भूतनाथ रिटर्न्स के किरदारों द्वारा फिल्म में दिये गये कुछ संदेश।

भूतनाथ रिटर्न्स में इस बार कई सारे किरदार हैं जिनेमें भूतनाथ, अखरोट, जेम्स पोर्टो, मिष्टी। इसके अलावा शाहरुख खान और रणबीर कपूर भी फिल्म में केमियो के रुप में जनता को उनके महत्वपूर्ण वोट के अधिकार का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते दिखेंगे। सबसे पहले बात करते लहैं भूतनाथ यानी कि अमिताभ बच्चन की। भूतनाथ ने फिल्म में कई सारे सबक सिखाये हैं उनमें से पहला और सबसे महत्वपूर्ण सबक है जरुरतमंदों की मदद करना।

भूत नहीं भविष्य हैं ये- भूतनाथ रिटर्न्स रिव्यू

भूतनाथ जब धरती पर आते हैं तो उनकी मुलाकात अखरोट से होती है। अखरोट जो कि धारावी के छोटी सी बस्ती में रहता है। अखरोट के पिता नहीं हैं, मां ने ही उसे एक अच्छा इंसान बनाया और साथ ही उसे गलत काम से हमेशा दूर रहने की शिक्षा दी। भूतनाथ अखरोट की हर तरह से मदद करते हैं। सिर्फ अखरोट की ही नहीं बल्क पूरे धारावी क्षेत्र की मदद करने के लिए भूतनाथ बिना किसी लालच के धारावी क्षेत्र से चुनाव भी लड़ते हैं ताकि वो वहां के लोगों की मुसीबतों को दूर कर सकें। इसके पीछे भूतनाथ का कोई मतलब नहीं था लेकिन वो लोगो की मदद करते हैं।

भूतनाथ ने ये भी सिखाया कि अगर हमें अपनी बुराईयों को दबाकर रखना है तो अच्छाई से डरना होगा। जब तक इंसान के अंदर अच्छाईयों का डर होगा तब तक वो कोई गलत काम नहीं करेगा। अब बात करते हैं अखरोट की। अखरोट के किरदार में पार्थ ने भी कई शिक्षा दी। पार्थ ने सबसे पहले बताया कि कभी भी कोई गलत काम करके अपने लिए बेहतर भविष्य की नींव नहीं रखनी चाहिए। इसके अलावा पार्थ ने ये भी सिखाया कि बच्चों को अपनी मां का हमेशा आदर करना चाहिए क्योंकि वो बहुत मुसीबतें सहकर उन्हें पालती है और बड़ा करती है। इसके अलावा पार्थ सिर्फ अपने लिए नहीं बल्कि देश के बारे मे भी सोचता है। उसने ये भी सिखाया कि बच्चे जो कि देश का भविष्य हैं उन्हें आज से ही देश को बेहतर बनाने में अपना योगदान देना चाहिए और बड़ों को भी कभी कभी सच का आईना दिखा देना चाहिए। मुसीबत में डरना नहीं चाहिए और सच बोलना चाहिए।

मिष्टी के किरदार में संजय मिश्रा ने सिखाया कि हम हमेशा अपने उसूलों के हिसाब से ही काम करना चाहिए। सही का साथ देना चाहिए। संजय मिश्रा फिल्म में वकील के किरदार में हैं। वकीलों को झूठ बोलने की आदत को हमेशा ही मजाक के रुप में पेश किया जाता है। लेकिन संजय मिश्रा ने ये दिखाया कि वकील भी अगर सच का साथ दें तो जीत उनकी होती है।

कुल मिलाकर फिल्म में हर एक किरदार कहीं ना कहीं बच्चों और बड़ों को कुछ ना कुछ सिखा जाएगा। तो आप भी अपने बच्चों, बड़ों, दोस्तों के साथ जरुर देखें भूतनाथ रिटर्न्स।

English summary
Bhootnath Returns is entertainment movie but still movie has lots of lessons to teach people, children. Amitabh Bachchan has taught people to always help people and think about our country. Partho in Akhrot Character teaches Children that even they are small still they can do lot of things to improve out country.
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more