For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

अमिताभ पिताजी के नाम पर खोलेंगे ट्रस्ट, सभी चाहते हैं इससे जुड़ना

|

अमिताभ बच्चन ने अपने ब्लॉग में आज लिखा है कि वो अपने पिता हरिवंश राय बच्चन की याद में एक मेमोरियल ट्रस्ट की स्थापना करने जा रहे हैं। अमिताभ ने अपने ब्लॉग के साथ ही ये डीटेल अपने फेसबुक के फैन पेज पर भी डाली और लिखा कि वो काफी समय से इस खबर की अनाउसमेंट करना चाहते थे लेकिन वो सही वक्त का इंतजार कर रहे थे। लेकिन अब उस ट्रस्ट को खोलने के लिए सभी कागजी कारवाई कर चुके हैं और अब ट्रस्ट जल्द ही फंक्शनल हो जाएगा। हमने अपने जान पहचान के लोगों से और अपने द्वारा इस ट्रस्ट के लिए काफी फंड इकट्ठा कर लिया है। और अब हम जरुरतमंद लोगों को इसके जरिये मदद करने के लिए तैयार हैं।

अमिताब बच्चन ने लिखा काफी समय से हम मेरे पिताजी हरिवंस राय बच्चन के नाम पर एक मेमोरियल ट्रस्ट खोलने का इंतजार कर रहे थे और आखिरकार सालों से इस ट्रस्ट के लिए पेपर वर्क पूरे करने के बाद अब आखिरकार हम ये अनाउंस करते हैं कि अब ये ट्र्स्ट काम करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस ट्रस्ट का नाम है हरिवंश राय बच्चन ट्रस्ट। भविष्य में हम इस ट्रस्ट के जरिये हम कोशिश करके और फंड्स इकट्ठा करते जरुरतमंद लोगों की मदद करेंगे। हमारी ये कोशिश उन लोगों की मदद के लिए है जिनके पास घर नहीं ह या जो अपाहिज हैं, बल्ड बैंक्स, कैंसर, गरीब, गरीब बच्चों के लिए शिक्षा, आंध्र और विदर्भ के गरीब किसानों के लोन के लिए भी हम प्रयास करेंगे। आप लोग भी आइये और हमारे इस प्रयास में हमारी मदद करिये।

अमिताभ बच्चन के इस प्रयास के बारे में जानकर लोग काफी प्रभवित हुए हैं और सभी ने अपनी अपनी तरफ से अमिताभ बच्चन जी को इस काम के लिए बहुत बहुत शुभकामनाएं और विशेस दीं।

अमित जी नेक काम कर रहे हैं

अमित जी नेक काम कर रहे हैं

अमित जी आप एक बहुत ही नेक काम कर रहे हैं उसके लिए आपको ढेर सारी शुभकामनाएं। सिर्फ आप ही किसानों के बारे में सोच सकते हैं। मुझे ये जानकर बेहद खुशी हुई इस तरह के काम की सोच हर एक इंसान में होनी चाहिए। ताकि कोई गरीब ना रहे ना कोई भूखा सोए और सभी को आपके साथ इस काम में जुड़ जाना चाहिए।

हमें स्कूल भी खोलने चाहिए

हमें स्कूल भी खोलने चाहिए

सर ये एक बहुत ही नेक काम है और शुरुआत है। लेकिन मुझे लगता है कि हरिवंश राय बच्चन जी के नाम पर कुछ स्कूल भी खोलने चाहिए ताकि गरीब बच्चों को शिक्षा भी मिल सके। क्योंकि शिक्षादान एक सबसे बड़ा दान है। बच्चे ही कल का भविष्य हैं और उन्हें सपोर्ट की जरुरत है।

अमित जी की सोच महान है

अमित जी की सोच महान है

अमित जी आपकी सोच काफी महान है और आप हमेशा से इसी वजह से लोगों के आदर्श रहे हैं। आप इस देश और समाज के लिए जो कर रहे हैं वो अतुलनीय है और काफी अच्छा है। हम सभी को इस काम में आपका साथ देना चाहिए।

हम भी चाहते हैं साथ देना

हम भी चाहते हैं साथ देना

सर मेरी तरफ से दिल से शुभकामनाएं आपके हरिवंश राय बच्चन मेमोरियल ट्रस्ट के लिए। मैं भी इस ट्रस्ट के लिए काम करना चाहता हूं और मुझे पूरा यकीन है कि मेरे जैसे कई लोग इसका हिस्सा बनना चाहेंगे।

सभी चाहते हैं हरिवंश राय बच्चन ट्रस्ट से जुड़ना

सभी चाहते हैं हरिवंश राय बच्चन ट्रस्ट से जुड़ना

इसके अलावा अमिताभ बच्चन के कई फैन्स इस ट्रस्ट के लिए अपना योगदान देना चाहते हैं और साथ ही चाहते हैं कि अमिताभ बच्चन जी उन्हें तरीका बताएं जिससे वो अपना योगदान दे सकें।

English summary
Amitabh Bachchan posted on his blog that he is opening a trust on the name of his father arivansh Rai Bachchan. Amitabh Bcahchan posted that "For long we have been wanting to open a Trust a Memorial in the name of my revered Father Dr Harivansh Rai Bachchan.. and after years of waiting and proper paper work to be established, we have it functional now. It is called Harivansh Rai Bachchan Memorial Trust, or HRB Memorial Trust"

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more