For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Exclusive Interview: 5 साल मैंने धक्के खाए, सलमान ने बिना ऑडिशन 'राधे' में मौका दिया - गौतम गुलाटी

    |

    19 साल का लड़का मुंबई एक्टर बनने आता है। काम की तलाश उसे ऑडिशन तक ले जाती है। वो टीवी शो करने लगता है। एक दिन वह अपनी बाइक से मुंबई के बांद्रा स्थित सलमान खान के घर के बाहर पहुंचता है। जहां भीड़ के बीच वो एक्टर भी एक फैन की तरह अपनी बाइक एक कोने में खड़ा कर, सलमान खान की एक झलक का इंतजार करता है। सलमान खान को गाड़ी से बाहर निकलता हुआ देखकर, उस दिन उसका एक ख्वाब पूरा होता है।

    तभी उसके मन में एक नया सपना जन्म लेता है, इस सुपरस्टार के साथ काम करने का। 13 साल बाद जब खुद सलमान खान बिना किसी ऑडिशन के इस ख्वाब को हकीकत में बदलते हैं तो उस एक्टर को मिलती है अपने करियर की सबसे बड़ी फिल्म 'राधे योर मोस्ट वांटेड भाई'। ये एक्टर कोई और नहीं बल्कि खुद गौतम गुलाटी हैं। सलमान खान की 'राधे' में गौतम खलनायक की भूमिका में हैं।

    'बिग बॉस 8' के विजेता गौतम को किसी पहचान की जरूरत नहीं। इस शो से उन्होंने फैंस के साथ सलमान खान के दिल में भी एक खास जगह बनाई। गौतम गुलाटी कई बार ये कह चुके हैं कि सलमान सर के कारण उन्हें 'राधे' में जगह मिली। लेकिन इसके पीछे की जज्बात से भरी कहानी कुछ और ही है। गौतम इस वक्त लंदन में हैं। फिल्मीबीट से हुई खास बातचीत नें उन्होंने अपने 13 साल के करियर में सलमान खान का आना एक करिश्मा बताया है।। चलिए जानते हैं खुद गौतम गुलाटी से।

    काफी साल बाद मेरी सलमान सर से मुलाकात हुई

    काफी साल बाद मेरी सलमान सर से मुलाकात हुई

    बिग बॅास 8 के काफी साल बाद जब मेरी सलमान सर से मुलाकात हुई तो उन्होंने मुझसे पूछा कि तू क्या कर रहा है, मैंने कहा कि कुछ खास नहीं सर, एक- दो फिल्में आ रही हैं। रिलीज थोड़ी अटकी हुई है। मुझे याद है कि उन पांच सालों में मैंने काफी धक्के खाए थें। ताकि मैं अच्छे निर्माण वाली फिल्में कर सकूं। उसके बाद भी वो नहीं हुआ।

    फिल्म इंडस्ट्री में कई बार लोग लटकाते हैं। इस बीच मुझे कई फिल्में और बड़े टीवी शोज का भी प्रस्ताव मिला। फिल्में ऐसी थी कि जिनकी रिलीज की कोई खबर नहीं होती। वो मुझे पैसे अच्छा देते थे लेकिन मेरा हमेशा ध्यान, ऐसे प्रोजेक्ट का हिस्सा बनना है जिसका निर्माण अच्छे से हो। जैसी राधे है।

    सलमान सर ने बोला और ये मेरे लिए सपना था

    सलमान सर ने बोला और ये मेरे लिए सपना था

    खैर, जब सलमान सर से मेरी मुलाकात हुई तो उन्होंने कहा कि गौतम, एक रोल है, निगेटिव है, करेगा? मुझे लगा कि उन्होंने कुछ और बोला होगा, मुझे ठीक तरीके से सुनाई नहीं दिया। मैंने फिर पूछा, आपने क्या बोला? तो उन्होंने कहा कि मेरे साथ फिल्म है। निगेटिव किरदार है। मुझे विश्वास नहीं हुआ। मैंने कहा कि सर, आप मजाक कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि नहीं ये हकीकत है।

    उन्होंने अपनी टीम से एक नंबर दिया और बोला कि इसके संपर्क में रहना। वो मेरे लिए खूबसूरत समय बन गया। हमारी मुलाकात के दो दिन बाद ही दिवाली थी। उसके बाद मैंने अगले दिन उनकी टीम को फोन किया। दो दिन बाद मुझे सेट पर बुलाया, एक लुक टेस्ट हुआ ताकि फिल्म के निर्देशक प्रभुदेवा को दिखाया जाए।

    बिना ऑडिशन के मुझे लुक टेस्ट पर राधे मिल गई

    बिना ऑडिशन के मुझे लुक टेस्ट पर राधे मिल गई

    प्रभुदेवा सर के सामने मेरा परिचय सम्मान के साथ किया गया। बोला गया कि ये गौतम गुलाटी हैं। टीवी में भी काफी लोकप्रिय रहे हैं, ये अभी हमारे साथ राधे फिल्म कर रहे हैं। ये सुनने के बाद प्रभुदेवा सर के मन में मेरे लिए कोई सवाल था ही नहीं।कोईऑडिशन नहीं हुआ सिर्फ एक लुक टेस्ट के साथ 'राधे' मेरी झोली में आ गई। फिर सलमान सर ने मुझे बुलाया और गले लगाकर पूछा कि तू खुश है ना? मेरे पास शब्द नहीं थे।

    13 साल के करियर में सबसे बड़ी फिल्म है राधे

    13 साल के करियर में सबसे बड़ी फिल्म है राधे

    उस दिन मुझे अहसास हुआ कि मैं अकेला नहीं हूं। सलमान खान जैसे लोग इंडस्ट्री में और होने चाहिए। जो हम लोगों को समर्थन करें। मुझे हमेशा से अपने काम में विविधता चाहिए। मुझे इसके लिए किसी का सहारा नहीं मिल रहा था। इंडस्ट्री में केवल सलमान खान ही ऐसे हैं,जिन्होंने मुझे गले लगाया।

    'राधे' में मेरा काम देखकर सलमान सर ने मुझे अपनी आर्टिस्ट मैनेजमेंट कंपनी में शामिल कर लिया।13 साल के करियर में मेरे लिए इससे बड़ा और बेहतर कुछ नहीं हो सकता। ड्रग माफिया का मेरा किरदार है। सोशल मीडिया पर मेरे किरदार की लुक की काफी तारीफ की गई है। इसका श्रेय भी सलमान खान को जाता है। उन्होंने मेरे लुक को फाइनल किया है।

    पैसा देखकर मैं काम नहीं करता

    पैसा देखकर मैं काम नहीं करता

    बिग बॅास जीतने के बाद मैंने चुनिंदा काम किए। काम को ना बोलना काफी मुश्किल होता है। मुझे क्रिएटिविटी के हिसाब से काम करना था। मैं पैसे के हिसाब से नहीं सोचता। मुझे बीते सालों में बड़ी संख्या में आर्थिक नुकसान हुआ है।

    आज के समय में कई फिल्म मेकर्स ऐसे हैं जो बोलते हैं कि हमें ये लड़का चाहिए। फिल्म भी बन जाती है। अच्छी फीस मिल जाएगी। लेकिन जब आप फिल्म रिलीज के लिए पैसा नहीं लगाओगे तो फिल्म देखेगा कौन? टीवी भी इसलिए नहीं किया कि बेहतरीन निर्माण की गईं फिल्में और सीरीज करनी हैं। जो छूट गया मुझे उसका कोई पक्षतावा नहीं। चाहे मुझे कितने भी पैसे का घाटा क्यों ना हुआ हो।

    सलमान सर ने महसूस कराया मैं अकेला नहीं हूं

    सलमान सर ने महसूस कराया मैं अकेला नहीं हूं

    खैर,हर इंसान की एक दिन अच्छी शुरुआत होती है सब्र का फल मीठा होता है। देखिए, मेरे साथ यही हुआ है।मुझे याद है कि राधे के सेट पर कुछ समय काम करने के बाद प्रभुदेवा सर ने मेरा काम देखने के बाद बोला कि तू कहां छिपा था इतने दिन? उनके मुंह से ये सुनना बतौर एक्टर मेरा खुद पर यकीन बढ़ाता है। उन्होंने मुझसे पूछा कि तुम साउथ फिल्में करोगे?

    मैंने कहां आप जो बोलेंगे वो करूंगा ।मुझे कोई दिक्कत नहीं है। सलमान सर भी मेरे बारे में सोचते हैं। मेरे कर्म अच्छे है कि ऐसे लोग मेरे संपर्क में हैं। मेरी इतनी बड़ी फिल्म में शुरुआत भी करवाई है।अब मुझे अकेला महसूस नहीं होता।

    विलेन बनने में कोई दिक्कत नहीं

    विलेन बनने में कोई दिक्कत नहीं

    जहां सवाल काम का आता है तो जरूरी नहीं है कि आप फिल्म में लीड भूमिका में हो या ना हो। या भले ही साधारण सा किरदार क्यों ना हो, मुझे काम से संतुष्टि मिलनी चाहिए। मुझे विलेन बनने से कोई हिचक नहीं है। वर्तमान में इंडस्ट्री में कोई भी यंग विलेन नहीं है। अगर याद भी आता है तो पद्मावत में रणवीर सिंह का खिलजी वाला किरदार। आप ऐसा रोल दे दो तो मैं उसमें कुछ ना कुछ बेहतर कर दूंगा। मुझे विलेन दे दो या हीरो का किरदार, मैं संभाल सकता हूं। राधे में विलेन की भूमिका निभाकर बहुत खुश हूं।

    सलमान सर नहीं होते तो ये ख्वाब अधूरा रहता

    सलमान सर नहीं होते तो ये ख्वाब अधूरा रहता

    13 साल पहले जब मैं आया था तो मैं एक दम नया था। बच्चे की तरह था। कमाई भी हो रही थी। एक साथ 3 टीवी शोज कर रहा था। मैं अपने घर पर 10 बार कॅाल करता था। तब मैं केवल 19 साल का था। उस वक्त मैं सलमान सर को देखने उनके घर के बाहर गया था। मैंने उन्हें देखा, मेरे लिए वो पल सपने के पूरे होने जैसा था। तब उम्मीद थी कि एक दिन उनके साथ काम भी करूंगा। 'राधे' में वो सपना पूरा भी हुआ। अगर सलमान सर नहीं होते तो ये ख्वाब अधूरा रहता।

    सलमान सर मेगा स्टार हैं, बिजनेस की फिक्र नहीं की

    सलमान सर मेगा स्टार हैं, बिजनेस की फिक्र नहीं की

    सलमान सर मेगा स्टार हैं उन्हें इतनाफर्क नहीं पड़ता है कि राधे बिग स्क्रीन पर रिलीज नहीं हो रही है। सलमान सर का कहना है कि ये मत सोचो कि क्या बिजनेस होगा, लोगों के लिए रिलीज कर दो, इस वजह से ये रिलीज हो रही है। राधे की कमाई का हिस्सा कोविड केयर में सुविधा के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदे जायेंगे। ये भी सलमान सर की अच्छाई है। मैंने मेरी आंखों से देखा है कि वो किसी ना किसी की मदद करते रहते हैं।

    English summary
    In an Exclusive Interview Gautam gulati said Salman Khan fulfilled my dream by taking me to Radhe your most wanted bhai, here read interesting conversation
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X