For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Exclusive Interview: लोगों के लिए सोशल मीडिया पर नफरत है, मैं उनमें से नहीं- अदा शर्मा

    |

    हेमा मालिनी, श्रीदेवी, माधुरी दीक्षित और कंगना रनौत ऐसी चुनिंदा सुपरस्टार रही हैं। जिन्होंने पर्दे पर दोहरी भूमिका( डबल रोल) में अलग पहचान स्थापित की है। इस फेहरिस्त में नया नाम शामिल होने जा रहा है अदा शर्मा का। अदा शर्मा की हाल में एरोस नाउ की नई फिल्म 'सोल साथी' रिलीज हुई। कमांडो फेम अभिनेत्री यहां डबल किरदार में दिख रही हैं।

    अदा की एक खूबी ये है कि कम समय में सोशल मीडिया पर उनके फैंस की लंबी कतार बन गई है। फिलहाल इन दिनों सोशल मीडिया पर सिनेमा के कई स्टार्स के खिलाफ हैशटैग चलाए जा रहे हैं। कोरोना में फिल्में ओटीटी पर रिलीज हो रही हैं। ऐसे में अदा शर्मा ने फिल्मीबीट Filmibeat Hindi से खास बातचीत में सोल साथी में चुनौती पूर्ण किरदार,कोरोना का कलाकारों को मिला फायदा और नेपोटिज्म को लेकर अनोखा उदाहरण दिया।

    अदा ने बताया कि उनका बिल्ली तकिया इन दिनों कमाई कर रहा है। इसकी वजह ये है क्योंकि ये अदा शर्मा का तकिया है। सुनने में आपको ये थोड़ा अजीब लग रहा होगा। हमारी इस पूरी बातचीत में जानिए आखिर ऐसा कहने के पीछे की वजह अदा के लिए क्या है?

    सोशल मीडिया पर फैंस की संख्या लगातार बढ़ी हैं। आप काफी लोकप्रिय हुई हैं।

    सोशल मीडिया पर फैंस की संख्या लगातार बढ़ी हैं। आप काफी लोकप्रिय हुई हैं।

    मेरा हमेशा से मकसद लोगों को एंटरटेन करना है। खुशी के मायने मेरे लिए एक ही है। आप अपनी खुशी किसी दूसरी चीज या किसी दूसरे पर निर्भर रहकर नहीं पा सकते। जैसे अगर मैं ये सोचूं कि मेरी फिल्म रिलीज हो तो मैं खुश रहूं या फिर मेरी कोई अगली फिल्म साइन करूंगी तभी मैं सुख से रहूं? तो ऐसा नहीं होता। या फिर ये इंसान जब मुझे प्यार करे तभी मैं मेरी जिंदगी में खुशियां आयेंगी? दूसरे के भरोसे कभी जीवन को खुशमय नहीं कर सकते। हमें अपना आनंद खुद से जोड़कर रखना है। ये मुझे सकारात्मक रखता है।

    चुनिंदा अभिनेत्रियां हैं जिन्हें डबल रोल निभाने का मौका पर्दे पर मिला है? डबल किरदार वाली कहानी भी नहीं लिखी जाती अब तो..

    चुनिंदा अभिनेत्रियां हैं जिन्हें डबल रोल निभाने का मौका पर्दे पर मिला है? डबल किरदार वाली कहानी भी नहीं लिखी जाती अब तो..

    जी , मैं आपकी बात से सहमत हूं। मैं खुद को भाग्यशाली मानती हूं कि सोलसाथी ने मुझे ये अवसर दिया है। सोल साथी डबल रोल के मामले में अलग है। यहां वो जुड़वा भूमिका वाला मामला नहीं है। इसमें मेरी सोल( आत्मा) है जो मेरे साथ पूरी कहानी में रहती है।

    मतलब आप समझ लें कि मेरा शरीर और दूसरी आत्मा। मेरी पिछली रिलीज फिल्म कमांडो 3 में भरपूर एक्शन था। ये रॅाम कॅाम है। परियों की कहानी की तरह। जहां प्यार से मिलने के लिए सोल आपको प्रेरित करता है। आदर्श जीवन साथी के मिलने का एक लड़की के लिए सफर है।

    आपकी पहली फिल्म 1920 के बाद संघर्ष रहा है? एक्ट्रेस की लंबी फेहरिस्त में खुद को साबित करने का मौका मिल रहा है या नहीं?

    आपकी पहली फिल्म 1920 के बाद संघर्ष रहा है? एक्ट्रेस की लंबी फेहरिस्त में खुद को साबित करने का मौका मिल रहा है या नहीं?

    कई सारी अभिनेत्रियों का होना उपयुक्त है। लोग अपनी सीमा से बाहर आकर प्रतिभा दिखा सकते हैं। वही सभी के लिए लाभदायक होगा। रेस में हर किसी को क्षमता दिखाने का अवसर मिलना चाहिए। फिर तो योग्यता पर निर्भर करता है।इस कोरोना से हम सब ये सीख सकते हैं कि महामारी ने सबको एक तुल्य बना दिया है।

    हर फिल्म ओटीटी पर रिलीज हो रही है। बड़े से बड़े स्टार्स हो या नए कलाकार सब समान हैं यहां। सबकी फिल्में साथ में रिलीज हो रही है। एक के बाद एक। दर्शक तय कर सकते हैं कि उनको किसकी फिल्म देखनी है और कौन सा कंटेंट अच्छा लग रहा है।

    टीवी और फिल्म दोनों के दर्शक वेब के लिए एक हो गए हैं..इसका फायदा कलाकारों को मिल रहा है?

    टीवी और फिल्म दोनों के दर्शक वेब के लिए एक हो गए हैं..इसका फायदा कलाकारों को मिल रहा है?

    जी बिल्कुल सही, प्रतिभावान कलाकारों को आखिरकार मौका मिला है। कोरोना बहुत भयानक रहा है। कई सारी बुरी चीजें हुई हैं। अच्छा ये है कि इसने सभी को एक बराबरी का मौका दिया। आप कौन हैं? कहां से आए हैं?अब इस पर कुछ निर्भर नहीं करता। अगर दर्शकों को आपका कंटेंट पसंद आया तो वो देख रहे हैं। मेरे ख्याल से कंटेंट के लिए बहुत उचित समय है।

    आपने ने कुछ भी नहीं छोड़ा है।हिंदी फिल्में, वेब सीरीज और तमिल और तेलुगु फिल्में भी?

    आपने ने कुछ भी नहीं छोड़ा है।हिंदी फिल्में, वेब सीरीज और तमिल और तेलुगु फिल्में भी?

    साधारण तौर पर देखा जाए तो एक्ट्रेस साउथ सिनेमा के बाद हिंदी में आती हैं। मैंने '1920' के बाद हंसी तो फंसी में काम किया। उसके बाद मैंने तेलुगु फिल्में की। मुझे तमिल और तेलुगु में अच्छी भूमिका मिली। जहां पर मेरे खुद के दर्शक वर्ग हैं। फैंस बेस मिला है।लोकप्रियता मिली है।

    कोई भी भाषा में आपका काम पसंद किया जा रहा है तो मुझे खुशी होती है। मेरे ख्याल से मैं किसी भी भाषा में कोई भी काम कर सकती हूं।शॉर्ट फिल्म,बड़ी फिल्म, वेब सीरीज जो भी हो..अगर अच्छा रोल है किसी भी भाषा में तो मैं करूंगी।

    वो आगे कहती हैं...

    वो आगे कहती हैं...

    मैंने कभी खुद को केवल इसमें बांध कर नही रखा कि टॅाप के डायरेक्टर या एक्टर के साथ काम करना है। ये तो खुद को सीमित करना हुआ। अगर आप इस उद्देश्य से काम करते है तो सही नहीं है। मैं फिल्म में कहां हूं ? क्या किरदार है ? ये जरूरी है।

    ना कि मैं सामने वाला इंसान कौन है ये देखकर काम करूं। ऐसे तो मैं दोषी महसूस करूंगी। मैं एक्ट्रेस बनना चाहती हूं सिर्फ इस वजह से नहीं कि मुझे किसी फलाना नाम के साथ काम करना है। मेरे पास कई वाजिब वजह हैं। इस तरह से सोचना तो अपनी कला के साथ नाइंसाफी होगी।

    सोल साथी में 'एकला चलो रे' सांग है, क्या आपने करियर में कभी ये अनुभव किया है?

    सोल साथी में 'एकला चलो रे' सांग है, क्या आपने करियर में कभी ये अनुभव किया है?

    देखिए, अकेले तो कोई कुछ नहीं कर सकता। मैंने खुद किया ये वाला मामला नहीं होता है। हां,मैंने खुद से काफी कुछ बनाया है। मेरे पहले निर्देशक विक्रम भट्ट थे 1920 में। उन्होंने मुझे मौका दिया। मैं नई थी तब। ऑडिशन से मुझे फिल्म मिली। मैं सेल्फ मेड स्टार नहीं हूं।

    मैं ऑडियंस मेड स्टार हूं। कोई मुझे कास्ट भी कर रहा है क्योंकि मेरी लोकप्रियता दर्शकों के बीच है। दर्शक ही मेरे गॉडफादर हैं। मैं खुश हूं कि मेरे पास ईमानदार दर्शक वर्ग है।

    इन दिनों चर्चा में फिर से है नेपोटिज्म, आप की क्या राय है?

    इन दिनों चर्चा में फिर से है नेपोटिज्म, आप की क्या राय है?

    मेरी पहली फिल्म से ये पूछा जा रहा है। अब मैं नेपोटिज्म के सकारात्मक पहलू पर बात करूंगी। मैं अब खुद के पैरेंट्स को तो नहीं बदल सकती। मैंने खुद के लिए ही स्टार किड बना लिया है। जो मेरी बिल्ली तकिया है। उसका इंस्टाग्राम अकाउंट बना। अभी वो बिल्ली शॉर्ट फिल्म में डेब्यू किया वो ब्रांड भी साइन कर रही है। उसकी कमाई भी है।

    अगर अभी तकिए को काम मिल रहा है क्योंकि वो अदा शर्मा का है। तो मेरे ख्याल से नेपोटिज्म पर मुझे कुछ बोलना नहीं चाहिए।अगर तकिए को काम मिल रहा है तो बहुत अच्छा है। वो तकिया बॅालीवुड की अगली सुपरस्टार भी बन सकती है।

    सोशल मीडिया पर इंडस्ट्री और कई स्टार्स के खिलाफ हैशटैग चल रहे हैं, जमकर स्टार्स की ट्रोलिंग हो रही है..

    सोशल मीडिया पर इंडस्ट्री और कई स्टार्स के खिलाफ हैशटैग चल रहे हैं, जमकर स्टार्स की ट्रोलिंग हो रही है..

    सोशल मीडिया के कई आशावादी पहलू भी हैं। हां, ट्रोलिंग भी है। वो सब भी है। सौभाग्यवश मेरे दर्शक हैं। जहां पर भी आप मेरा एक ट्रोल कमेंट देखेंगे तो उसके नीचे आप 200 अच्छी प्रतिक्रिया भी देखेंगे। मेरे फैन खुद ही बोलते हैं कि अदा के बारे मे ऐसा कैसे बोल सकते हैं?

    काफी लोगों के लिए नफरत भी है सोशल मीडिया पर लेकिन संयोग से मैं उनमें से नहीं। ये काफी मुश्किल हो सकता है। अगर किसी चीज का अच्छा तरफ है तो बुरा भी होाता है। जिंदगी में सबकुछ 50/ 50 है।

    English summary
    Adah Sharma Exclusive talk about eros now film Soulsathi, Nepotism and social media and corona Virus impact on film industry and stars, here read interesting interview
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X