For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Youth Day: बॉलीवुड की टॉप 6 फिल्में, जो युवा न करें मिस

    |

    आज भारत के महान चिंतक, देशभक्त, दार्शनिक, युवा संन्यासी, युवाओं के प्रेरणास्रोत और एक आदर्श व्यक्तित्व के धनी स्वामी विवेकानंद जी की जयंती है। भारत में स्वामी विवेकानंद की जयंती यानि की 12 जनवरी को हर साल राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

    बॉलीवुड की बात करें तो फिल्मों के माध्यम बॉलीवुड ने भी युवाओं को काफी कुछ दिया है। अमिताभ बच्चन से लेकर ऋतिक रोशन और रणबीर कपूर तक ने अपनी अलग अलग फिल्मों से युवाओं को कितने ही संदेश दिए हैं। जिसे कभी लोगों ने नजरअंदाज किया तो कभी गांठ बांध लिया। बॉलीवुड फिल्मों ने हमेशा युवाओं से जुड़ी समस्याओं को बड़े पर्दे पर लाकर क्रांति लाने का भी काम किया है। रोजगार, शिक्षा पद्धति, परिवार, दोस्ती, प्यार..बॉलीवुड किसी भी हिस्से से अछूता नहीं है।

    लिहाजा, आज हम आपको यहां बता रहे हैं, बॉलीवुड की 6 फिल्में, जो आपको कभी मिस नहीं करनी चाहिए।

    युवा

    युवा

    कॉलेज पॉलिटिक्स से आज कौन सा छात्र बच पाया है। सीधे या घुमा फिरा कर, हम कर कॉलेज पॉलिटिक्स का हिस्सा बनते हैं। लिहाजा, मणिरत्नम की फिल्म 'युवा' इस अहम मुद्दे को दिखाती है। अजय देवगन, अभिषेक बच्चन, विवेक ओबेरॉय, रानी मुखर्जी, ईशा देओल और करीना कपूर की बेहतरीन अदाकारी ने फिल्म को अलग ही स्तर पर पहुंचा दिया था। पॉलिटिक्स और पर्सनल स्तर जूझते ये युवा काफी कुछ सिखा गए थे।

    दिल चाहता है

    दिल चाहता है

    फरहान अख्तर की फिल्म 'दिल चाहता है' हर मायने में युवाओं की खास है। क्योंकि इसकी थीम थी दोस्ती। दोस्ती हर यूथ की लाइफ का स्पेशल हिस्सा होता है और जिसके बिना वह अधूरा होता है। इस फिल्म में इस स्पेशल रिश्ते को काफी उतार- चढ़ाव से गुजरते दिखाया है। फिल्म काफी कॉमिडी और इमोशनल थी, साथ ही आमिर, सैफ और अक्षय खन्ना ने अपनी एक्टिंग के जरीए फिल्म में जान डाल दी थी।

    जाने तू या जाने न

    जाने तू या जाने न

    कॉलेज, दोस्ती, रोमांस....यह सब युवाओं की जिंदगी का अहम हिस्सा होता है। कॉलेज लाइफ को भरपूर जीने की इच्छा किसकी नहीं होती और इसी बीच कभी कभी मिल जाता हमें अपना लाइफ-पार्टनर। फिल्म 'जाने तू या जाने न' एक सामान्य सी कॉलेज प्रेम कहानी थी। जो दोस्ती से शुरू होती है। फिर थोड़ा कंफ्यूजम, फिर दूर होने का डर और अंत में प्यार। जेनेलिया और इमरान की दोस्ती को लोगों ने, खासकर युवाओं ने काफी पसंद किया था।

    रंग दे बसंती

    रंग दे बसंती

    युवा फिल्मों की बात हो और रंग दे बसंती का नाम न आए, ऐसा नामुमकिन है। दोस्ती, प्यार, पॉलिटिक्स और कुछ भी कर गुजरने की चाह..इस फिल्म में सब कुछ बेस्ट था। करप्ट सरकार का सामना करते युवाओं को दर्शकों ने दिलों जान से चाहा था। इस फिल्म में हर कोई अपने किरदार में बेस्ट था। कई लोगों ने फिल्म देखकर आंसू बहाए, कई ने दोस्तों को गले लगाया, तो कई ने जिंदगी में कुछ कर दिखाने की कसमें खाईं। रंग दे बसंती, हर युवा को एक बार तो जरूर देखनी चाहिए।

    लक्ष्य

    लक्ष्य

    बिना लक्ष्य के जिंदगी कैसी होती है, यह जानने के लिए इस फिल्म को न देंखे। बल्कि लक्ष्य हो तो जिंदगी क्या हो जाती है, फिल्म देखकर यह महसूस करें। फरहान अख्तर ने इस फिल्म में भी रितिक रोशन के जरीए, एक युवा की जिंदगी को खोलकर रख दिया। लक्ष्य हीन और मनमौजी लड़के से एक आर्मी जवान में तब्दील होता करण शेरगिरल सबके दिलों-दिमाग को एक झटका तो जरूर दे गया।

    3 इडियट्स

    3 इडियट्स

    आज के जमाने को देखते हुए इस फिल्म को इस लिस्ट से निकाला नहीं जा सकता। डॉक्टर, इंजीनियर्स बनने की रेस छोड़कर, जो आपका दिल करे, वो करो। लेकिन जो भी करो, पूरे दिल से करो। राजकुमार हिरानी द्वारा निर्देशित इस फिल्म को युवाओं ने खासा पसंद किया था। फिल्म में कई बातों पर फोकस किया था। दोस्ती और प्यार के बीच फिल्म के मुख्य मुद्दे को गंभीरता के साथ दिखाया गया था।

    English summary
    Today is National Youth Day. So, here are top 6 bollywood youth centric movies, which one should watch.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X