For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अमिताभ बच्चन धोखेबाज़ और बेईमान: यश चोपड़ा का सिलसिला के बाद बड़ा झगड़ा, मीडिया में दिए थे बयान

    |

    बॉलीवुड में अगर दोस्ती आम बात है तो लोगों के बीच मनमुटाव भी आम बात है। दिक्कत तब होती है जब ये मनमुटाव इतना बढ़ जाए कि दो दोस्त एक दूसरे के खिलाफ मीडिया में जमकर बोलने लगें। ऐसा ही एक मनमुटाव था यश चोपड़ा और अमिताभ बच्चन के बीच। दोनों ने ही एक दूसरे के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली थी।

    बात 1981 की है जब यश चोपड़ा अमिताभ बच्चन के लिए सिलसिला बना रहे थे। यश चोपड़ा चाहते थे कि फिल्म की कास्टिंग जया और रेखा के साथ हो। अमिताभ बच्चन ने यश चोपड़ा से दोनों हीरोइनों को मनाने को कहा।

    उस समय अमिताभ बच्चन अपने करियर में एक नई उम्मीद ढूंढ रहे थे और इसलिए जया बच्चन ने फिल्म करने के लिए हां कर दी। लेकिन फिल्म एक झूठ के दम कर बेचने की कोशिश की गई। इसे अमिताभ - जया - रेखा के बीच के असली लव ट्राएंगल की तरह प्रसारित किया गया।

    नतीजा ये हुआ कि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हुई। अमिताभ बच्चन और यश चोपड़ा दोनों को ही सिलसिला से काफी उम्मीदें थीं। इसके बाद जो हुआ वो किसी ने नहीं सोचा था।

    बहुत बड़ा झगड़ा

    बहुत बड़ा झगड़ा

    सिलसिला रिलीज़ हुई, फ्लॉप हुई और अमिताभ बच्चन और यश चोपड़ा के बीच बहुत बड़ा झगड़ा हुआ। इसके सालों बाद जब तूफान और जादूगर रिलीज़ हुई तो यश चोपड़ा ने मीडिया में बयान दिया कि अमिताभ बच्चन एक बेईमान और धोखेबाज़ एक्टर हैं।

    धोखेबाज़ हैं अमिताभ बच्चन

    धोखेबाज़ हैं अमिताभ बच्चन

    यश चोपड़ा ने कहा कि दोनों ही फिल्मों में अमिताभ बच्चन एक जादूगर की भूमिका निभा रहे हैं लेकिन ये बात ना उन्होंने तूफान के प्रोड्यूसर मनमोहन देसाई को बताई और ना ही जादूगर के प्रोड्यूसर प्रकाश मेहरा को। गौरतलब है कि दोनों ही फिल्में 1989 में रिलीज़ हुई थीं। यश चोपड़ा की ये बात सुनकर अमिताभ बच्चन को काफी गुस्सा आया और उन्होंने भी मीडिया में यश चोपड़ा के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली।

    मुझसे करवाया ऐसा काम

    मुझसे करवाया ऐसा काम

    अमिताभ बच्चन ने कहा कि जब यश चोपड़ा ने सिलसिला से परवीन बाबी और स्मिता पाटिल को निकालने का फैसला किया था तो ये बात उन्होंने खुद उन दोनों हीरोइनों को नहीं बताई। बल्कि अमिताभ बच्चन से बताने को कहा। अमिताभ बच्चन ने मीडिया में कहा - दोनों हीरोइनें, सेट पर मेकअप करके खड़ीं थीं और यश जी ने मुझसे कहा कि जाओ दोनों को बता दो कि अब दोनों फिल्म की हीरोइन नहीं हैं और कास्ट बदल दी गई है।

    बेईमान हैं यश चोपड़ा

    बेईमान हैं यश चोपड़ा

    अमिताभ बच्चन ने गुस्से में पूछा क्या यश चोपड़ा बेईमान और धोखेबाज़ नहीं हुए? यश चोपड़ा को उन दोनों हीरोइनों को ये बात खुद बतानी चाहिए थी। अमिताभ बच्चन ने इस इंटरव्यू में इस बात का भी खुलासा किया कि यश चोपड़ा और प्रोड्यूसर गुलशन राय के बीच पैसों को लेकर कहासुनी हुई थी।

    यश चोपड़ा भी तो धोखेबाज़

    यश चोपड़ा भी तो धोखेबाज़

    अमिताभ ने दबी ज़ुबान में स्वीकार किया कि यश चोपड़ा पैसों को लेकर गुलशन राय को धोखा दे रहे थे और उनसे काफी पैसे ले चुके थे। अमिताभ बच्चन ने यहां तक कहा कि यश चोपड़ा तो अपने खुद के स्टाफ को धोखा देते हैं। यश चोपड़ा को रोमेश शर्मा सहित कई और लोगों को पैसे देने हैं। यश चोपड़ा का ईमान तब कहां गया था?

    हर दिन तिकड़म भिड़ाते अमिताभ

    हर दिन तिकड़म भिड़ाते अमिताभ

    सिलसिला की डबिंग के दौरान अमिताभ बच्चन ने यश चोपड़ा को फिर धोखा दिया। अमिताभ बच्चन अधिकतर अपनी डबिंग बहुत ही जल्दी पूरी कर लेते थे लेकिन सिलसिला की डबिंग करने में उन्होंने बहुत समय लिया। पहले दिन से ही वो केवल लगभग एक घंटे के लिए डबिंग करते थे। इसके बाद वो डबिंग का शेड्यूल कैंसिल करने लगे और इसे टालने लगे। कभी कभी वो कह देते थे कि उनका डबिंग का मूड ही नहीं है। तो किसी दिन उनकी आवाज़ खराब हो जाती थी।

    असली मुद्दा तब समझे

    असली मुद्दा तब समझे

    बाद में यश चोपड़ा को समझ आया कि आखिर असली मुद्दा क्या है। दरअसल, अमिताभ बच्चन अपनी फिल्म याराना के बॉम्बे के डिस्ट्रीब्यूटर थे। फिल्म 2 साल पहले ही पूरी हो चुकी थी लेकिन रिलीज़ किसी कारण से अटकी हुई थी। आखिरकार फिल्म रिलीज़ हो रही थी और अमिताभ बच्चन की सलाह पर कुछ सीन वापस शूट किए गए थे जिससे कि फिल्म फ्रेश लगे।

    अमिताभ का धोखा

    अमिताभ का धोखा

    याराना की रिलीज़ डेट 31 जुलाई 1981 तय की गई। अमिताभ बच्चन उस समय सिलसिला रिलीज़ नहीं करना चाहते थे क्योंकि याराना पर बहुत बुरा असर पड़ता। सिलसिला समय पर पूरी ना हो पाए इसलिए अमिताभ बच्चन ने फिल्म की डबिंग करने में बहुत समय लगाया।

    बदलनी पड़ी थी रिलीज़ डेट

    बदलनी पड़ी थी रिलीज़ डेट

    उनकी इस हरकत से यश चोपड़ा को बहुत दुख हुआ था। उनका कहना था कि अगर अमिताभ बच्चन ने उन्हें सच बता दिया था तो वो अपने आप उनकी मदद करने के लिए सिलसिला की रिलीज़ को आगे बढ़ा देते। आखिरकार सिलसिला की रिलीज़ 31 जुलाई 1981 से बढ़ाकर 14 अगस्त 1981 करनी पड़ी थी।

    फिर से यश चोपड़ा ने संभाला

    फिर से यश चोपड़ा ने संभाला

    गौरतलब है कि यश चोपड़ा ने अमिताभ बच्चन को एक बार फिर तब संभाला जब उन्हें काम की ज़रूरत थी और वो काम मांगने यश चोपड़ा के पास गए। यश चोपड़ा के बेटे आदित्य चोपड़ा उस समय मोहब्बतें बना रहे थे और अमिताभ बच्चन की दूसरी पारी की शुरूआत यहीं से हुई थी।

    English summary
    Amitabh Bachchan and Yash Chopra called each other dishonest prefessionals and cheaters after having a big fallout after silsila.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X