»   » Important..महज 20 दिनों की शूटिंग...और आपके लिए तैयार है..साल की मोस्ट वांटेड फिल्म...

Important..महज 20 दिनों की शूटिंग...और आपके लिए तैयार है..साल की मोस्ट वांटेड फिल्म...

By: PRACHI DIXIT
Subscribe to Filmibeat Hindi

एक तरफ जहां सारे एक्टर स्क्रिप्ट के साथ एंटरटेनमेंट को महत्व देते हैं। वहीं राजकुमार राव ने हमेशा से ही यूनिक कॉन्सेप्ट को तवज्जो दिया है। एंटरटेनमेंट को पेश करने का उनका तरीका हमेशा सबसे अलग रहा है। 

उन्होंने कभी भी म्यूजिक या फिर बोल्ड सीन को अपनी फिल्म की यूएसपी बनने का मौका नहीं दिया है। उनके लिए दर्शकों से जुड़ने का सबसे कारगार तरीका किरदार और कहानी के अनोखेपन में खोज निकाला है। ट्रैप्ड भी इसी फेहरिस्त में शामिल है।

trapped poster

इस साल उनकी तीन फिल्में रिलीज होने की कगार पर हैं। ट्रैप्ड, न्यूटन और बहन होगी तेरी। बहन होगी तेरी से वह जहां कॅामेडी और रोमांटिक जोनर की तरफ बढ़ रहे हैं। वहीं ट्रैप्ड और न्यूटन एक गंभीर भी दर्शकों को बांधे रखने में कामयाब हो सकती है। 

गौरतलब है कि ट्रैप्ड के दिलचस्प ट्रेलर ने इस वक्त सभी का ध्यान राजकुमार राव की अदायगी की तरफ मोड़ दिया है। लेकिन इस फिल्म का फिल्मांकन करना उतना ही कठिन था। जी हां, ऐसी कई खूबियां हैं, जो इस फिल्म को मार्च में रिलीज होने वाली सभी फिल्मों से अलग खड़ा करती है। आइए जानते हैं कि क्यों इस फिल्म को देखना आपके लिए बेहद जरूरी है।

कमरे में बंद और चाबी खो जाए

कमरे में बंद और चाबी खो जाए

जी हां, राजकुमार राव की फिल्म की कहानी कुछ ऐसी ही है कि एक कमरे में बंद हो और चाबी खो जाए। कंटेंट के लिहाज से इस फिल्म में बारीकी से काम किया गया है। अपने घर में कैद एक आदमी कैसे बाहर निकलने का रास्ता खोजता है, और इस बीच वह कितने दिनों तक बंद रहता है बिना किसी साधन के। यही मुख्य पाइंट इस फिल्म को दर्शकों से जोड़े रखेंगे।

किरदार की तैयारी

किरदार की तैयारी

एक बंद कमरे में भूखे -प्यासे और परेशान मजबूर इंसान का किरदार निभाने के लिए राजकुमार राव ने खुद शूटिंग के कई दिनों तक बिना खाए रहे हैं। अगर उन्हें भूख भी लगती तो केवल ब्लैक कॅाफी और गाजर खा लिया करते थे। फिल्म देखने के दौरान आप इसका अनुभव जरूर करेंगे।

शूटिंग के 20 दिन

शूटिंग के 20 दिन

जहां एक फिल्म बनने में तकरीबन दो महीने का समय लगता है। वहीं अपनी इस ढाई घंटे की फिल्म की शूटिंग विक्रमादित्य मोटवानी ने तकरीबन 20 दिनों के भीतर पूरी कर ली थी। वो भी लगाताार इस फिल्म की शूटिंग की गई। बिना ब्रेक के।

22 बिल्डिंग की खोज

22 बिल्डिंग की खोज

इस फिल्म के लिए एक बिल्डिंग के घर में शूटिंग करना जरूरी था। इस वजह से परफेक्ट लोकेशन के लिए22 बिल्डिंग की खोज करने के बाद 23 बिल्डिंग में स्क्रिप्ट की जरुरत के मुताबिक घर मिला। उन्हें एक ऐसे घर की तलाश थी जिसके बगल में पड़ोसी ना हो औरबिल्डिंग काफी ऊंची हो।

राजकुमार राव

राजकुमार राव

भले ही राजकुमार राव का स्टारडम खान और कपूर जितना ना हो लेकिन वह हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के टॅाप एक्टरों में से एक हैं। उनकी फिल्मों ने हमेशा से ही दर्शकों की सराहना बटोरी है। फिर चाहे वह शाहिद हो या अलीगढ़।

सस्पेंस दमदार

सस्पेंस दमदार

इस फिल्म में भले ही रोमांस और कॅामेडी का तड़का ना हो। लेकिन यह तय है कि स्क्रिप्ट में अपने लगातार बढ़ते हुए सस्पेंस के कारण ट्रैप्ड दर्शकों को अपनी कुर्सी से उठने नहीं देगी।

दर्शकों की नजर से

दर्शकों की नजर से

दर्शकों के लिहाज से यह फिल्म इस साल की सबसे उम्दा फिल्मों में से एक है। वह जमाना गुजर चुका है,जब दर्शक स्टार को महत्व देते थे। वर्तमान में केवल अच्छे सिनेमा और बेहतरीन कंटेंट का बोलबाला और ट्रैप्ड में यह सारी खूबी मौजूद है।

English summary
Do you know why this film become a most awaited film of the year without any big star cast..We have all the deatils
Please Wait while comments are loading...