For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    आसान नहीं था 'गजोधर भैया' राजू श्रीवास्तव के लिए कानपुर से मुंबई तक का सफर

    |

    कॉमेडी किंग गजोधर भैया राजू श्रीवास्तव ने 21 सितंबर को दुनिया को अलविदा कह दिया। पिछले 10 अगस्त से दिल्ली के एम्स में जारी उनकी जंग आखिरकार खत्म हो गयी और 58 साल की उम्र में राजू श्रीवास्तव ने आखिरी सांस ली। जिम में वर्कआउट करते समय सीने में दर्द की शिकायत के बाद राजू श्रीवास्तव को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जिसके बाद से वह लगातार कोमा में थे। अगस्त में ही राजू के दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था जिसके बाद श्रीवास्तव को ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया था। राजू पिछले करीब 40 दिनों से अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झुल रहे थे। कानपुर की गलियों से लेकर स्टारडम तक का रास्ता राजू श्रीवास्तव के लिए कभी आसान नहीं था।

    आइए जानते हैं दिवंगत इस कॉमेडियन की कानपुर से मुंबई तक की जर्नी के बारे में

    कानपुर में हुआ जन्म :

    कानपुर में हुआ जन्म :

    राजू श्रीवास्तव का जन्म कानपुर के श्रीवास्तव परिवार में 25 दिसंबर 1963 में हुआ था। राजू श्रीवास्तव का असली नाम सत्य प्रकाश श्रीवास्तव था। राजू के पिता रमेश चंद्र श्रीवास्तव कवि थे जिन्हें बलाई काका के नाम से जाना जाता था। साल 1993 में लखनऊ की रहने वाली शिखा से राजू की शादी हुई। राजू और शिखा के दो बच्चे अंतरा और आयुष्मान हैं। राजू बचपन से लोगों को हंसाने में माहिर थे। राजू ने स्टैंड अप कॉमेडी शो 'द ग्रेट इंडियन लाफ्टर शो' में हिस्सा लिया था जिसमें उन्होंने दूसरा स्थान प्राप्त किया था। इसके बाद राजू ने कई और स्टैंड अप कॉमेडी शो में हिस्सा लिया और कॉमेडी किंग का खिताब जीता।

    अमिताभ बच्चन की मिमिक्री कर बॉलीवुड में बनी थी जगह :

    अमिताभ बच्चन की मिमिक्री कर बॉलीवुड में बनी थी जगह :

    राजू श्रीवास्तव को अमिताभ बच्चन की मिमिक्री करने के लिए सबसे ज्यादा ख्याति मिली थी। मेगास्टार अमिताभ बच्चन की नकल करते हुए उनके फेमस डायलॉग से लेकर उनकी तरह बोल-चाल की वजह से राजू ने अपने फैंस से प्रशंसा बटोरी थी। अपने एक्टिंग स्किल और कॉमिक टाइमिंग की वजह से राजू को कई फिल्मों में जैसे सलमान खान की 'मैंने प्यार क्यूं किया', शाहरुख खान की 'बाजीगर', 'बॉम्बे टू गोवा' में काम करने का मौका मिला था।

    ताकि लोग मुझे चोटी का कलाकार समझे :

    ताकि लोग मुझे चोटी का कलाकार समझे :

    राजू श्रीवास्तव के कॅरियर में एक समय ऐसा भी आया जब वह सबसे ज्यादा भुगतान किए जाने वाले कॉमेडियन बन गये थे। राजू श्रीवास्तव एक ऐसे कॉमेडियन थे, जो बिना तैयारी अचानक बातों-बातों में चुटकुले सुना सकते थे। एक इंटरव्यू में जब उनके अतरंगी कपड़ों को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि मेरे शो लखनऊ-पटना जैसे शहरों में लगने वाले मेलों में होते हैं, जहां भारी भीड़ जमा होती है। अतरंगी कपड़े पहनने पर लोग दूर से ही देखकर पहचान जाते हैं कि वो देखो गजोधर भैया जा रहे हैं। साथ ही श्रीवास्तव ने मजाकिया लहजे में कहा था कि मैंने चोटी इसलिए रखी है ताकि लोग मुझे चोटी का कलाकार समझें। एक दौर ऐसा भी आया, जब कपिल शर्मा का कॉमेडी शो उस दौर के सभी कॉमेडियन पर हावी होने लगा था लेकिन राजू श्रीवास्तव इन सबके बीच अपनी खास जगह बना पाने में सफल रहे।

    English summary
    Raju Srivastava died at the age of 58 in AIIMS, Delhi. Born in the Srivastava family of Kanpur, the journey from the streets of Kanpur to Bollywood was not an easy one for Raju. At one point Raju Srivastava also became the highest paid comedian.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X