»   » सुपरस्टार बनने के सारे गुण लेकिन फिर भी वो गए फ्लॉप..करियर में इतनी गलतियां

सुपरस्टार बनने के सारे गुण लेकिन फिर भी वो गए फ्लॉप..करियर में इतनी गलतियां

Written By: Shweta
Subscribe to Filmibeat Hindi

अभिषेक के पास हर वो हथियार था या बोले हैं जिसके बल पर वो सुपरस्टार बन सकते थे। जे.पी. दत्ता की 'रिफ्यूजी' के साथ फिल्म जगत में कदम रखने वाले अभिषेक बच्चन इतने साल बाद भी बॉलीवुड में वह मुकाम नहीं हासिल कर सके हैं, जो मुकाम उनके साथ ही करियर शुरू करने वाली करीना कपूर या ऋतिक रोशन हासिल कर चुके हैं।

अभिषेक के नाम हिट से ज्यादा फ्लाप फिल्में हैं। ।बिग बी और जया बच्चन जैसे दिग्गजों की संतान होने के कारण अभिषेक पर खुद को साबित करने का दबाव शुरुआत से ही था लेकिन वह इसमें कुछ हद तक वो सफल रहे।अभिषेक बच्चन का जन्म पांच फरवरी 1976 में मुंबई में हुआ।

[हर खान-कपूर के साथ काम..बॉलीवुड की 'मस्त मस्त' गर्ल लेकिन बनाई अपनी पहचान]

फिल्मी कलाकारों की संतानों की बात करें तो कई ऐसे भी नाम गिनाए जा सकते हैं जो काफी फ्लॉप रहे हैं लेकिन संजय दत्त, करीना, करिश्मा कपूर, शाहिद कपूर, सन्नी देओल जैसे कुछ ऐसे नाम भी हैं, जिन्होंने अपने परिवार की अभिनय विरासत को आगे बढ़ाया।

अभिषेक ने 2007 में ऐश से शादी की लेकिन उसके बाद इस चीज को इतना हाइप मिला की इसका नुकसान कहीं ना कहीं अभिषेक और ऐश दोनों को भुगतना पड़ा। लोग उनकी पर्सनल लाइफ को प्रोफेशनल लाइफ से ज्यादा तरजीह देने लगे।

अब अभिषेक ने खेल में ज्यादा देना शुरू किया है। कबड्डी लीग में भी उनती टीम और इंडियन सुपर लीग में भी चेन्नईयन एफ सी टीम उतार चुके हैं।देखिए कहां हुई अभिषेक से चुक।

गलत सेलेक्शन

गलत सेलेक्शन

अभिषेक ने डेब्यू के लिए सहीं फिल्म नहीं चुन पाए।उन्हें कोई ऐसी फिल्म चुननी चाहिए थी जिसमें वो एक नॉर्मल स्मार्ट उस जमाने के लड़के की तरह होते जैसी डेब्यू ऋतिक ने की थी।

मेहनत में कमी

मेहनत में कमी

कहीं ना कहीं अभिषेक मेहनत करने में चुक गए। उन्हें फिल्मों में रोल के हिसाब से ज्यादा मेहनत नहीं की जिससे उनकी इमेज एक मेहनती एक्टर की बनती जो रणबीर कपूर के साथ हुआ। जब-जब उन्होंने ऐसा किया वो हिट रहे चाहे वो युवा, बंटी और बबली या गुरू हो।

हर फिल्म को हां

हर फिल्म को हां

अभिषेक ने कई ऐसी फिल्में की जो उन्हें नहीं चुनना चाहिए था जैसे अभिषेक की ‘तेरा जादू चल गया', ‘ढाई अक्षर प्रेम के', ‘बस इतना सा ख्वाब है', ‘हां मैंने भी प्यार किया है', ‘शरारत', ‘मैं प्रेम की दीवानी हूं', ‘मुंबई से आया मेरा दोस्त', ‘कुछ ना कहो', ‘जमीन', ‘रन', ‘फिर मिलेंगे', ‘नाच', ‘दस', ‘लागा चुनरी में दाग', ‘झूम बराबर झूम', ‘द्रोणा', ‘रावण', ‘खेले हम जी जान से' व अन्य फिल्में बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी.

स्पोर्टिंग एक्टर

स्पोर्टिंग एक्टर

अभिषेक का स्पोर्टिंग एक्टर के लिए हां कहना उनपर भारी पड़ गया और गेस्ट जैसे कभी धूम, बोल बच्चन, और हैप्पी न्यू इयर।

नहीं बन पाए ट्रेंडसेटर

नहीं बन पाए ट्रेंडसेटर

कोई बी स्टार बॉलीवुड में आते हीं अगर ट्रेंडसेटर बनता है तो लोग उसे फॉलो करते हैं जैसे ऋतिक अपने स्टाइल और ड्रेसिंग के मामले में ट्रेंड सेट किए तो करीना भी इसी राह पर चलीं।

पा के स्टारडम का दबाब

पा के स्टारडम का दबाब

इसमें कोई शक नहीं है कि अभिषेक को उपर अमिताभ के बेटे होने का शुरू से दबाब था। हालांकि वो इससे अच्छी तरह से निपटे लेकिन दबाब का असर फिल्मों पर जरूर दिखा तभी वो शायद गलत फिल्में भी लगातार कर बैठे

'बच्चन' होने का दबाब

'बच्चन' होने का दबाब

बच्चन फैमिली के मेंबर होने के कारण उनकी हर एक्टिविटी पर लोगों की नजर रहने लगी।

ऐश से शादी!

ऐश से शादी!

अभिषेक ने 2007 में ऐश से शादी की लेकिन उसके बाद इस चीज को इतना हाइप मिला की इसका नुकसान कहीं ना कहीं अभिषेक और ऐश दोनों को भुगतना पड़ा। लोग उनकी पर्सनल लाइफ को प्रोफेशनल लाइफ से ज्यादा तरजीह देने लगे।

भटका ध्यान

भटका ध्यान

अभिषेक बच्चन ने प्रो कबड्डी लीग में अपनी एक टीम उतारी और उसे जयपुर पिंक पैंथर्स नाम दिया। उनके इस प्रयास को अमिताभ ने भी सराहा है लेकिन कहीं इसका असर उनके फिल्मी करियर पर ना पड़े जैसा प्रीति जिंटा के साथ हुआ कि वो बिजनस में इतनी बिजी हो गई कि फिल्मों के लिए समय हीं नहीं बचा।

English summary
Mistakes that Abhishek Bachchan did in his career because of which he did not became superstar.
Please Wait while comments are loading...