For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सलमान से शाहरूख खान तक गुजर चुके हैं इस नाइंसाफी से!

    By Shweta
    |

    पिछले कई दिनों से उड़ता पंजाब की मुसीबत कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। फिल्म अब कब रीलिज होगी इसका भी फिलहाल कुछ कहा नहीं जा सकता। फिलहाल तो पूरा मामला बंबई हाईकोर्ट तक चला गया है।पॉलिटिकल पार्टी भी इसमें जुड़ गई।

    इसी से लगता है हमारे हिंदी फिल्म जगत में फिल्में बनाना इतना भी आसान नहीं है। कभी किसी फिल्म में बकरे का नाम शाहरुख रख दो तो विवाद हो जाता है, कभी भगवान राम की लीलाओं से ना जुड़े होने पर भी राम-लीला नाम पर विवाद हो जाता है।

    [सिर्फ हाउसफुल और गोलमाल नहीं...इन फिल्मों का भी बनना चाहिए सिक्वल!]

    कभी फिल्म में पाकिस्तानी एजेंट के होने में मुश्किल है तो कभी फिल्म में लेस्बियन रिलेशनशिप दिखाने से परेशानी है। कभी भगवान के नाम पर तो कभी इंसान के नाम पर। यानी कि एक फिल्म बनाने से पहले आपको इतना सोचना पडता है कि फिल्म बनाना और भी मुश्किल हो जाता है।

    शायद यही वजह है कि जब भी हमारे निर्माता कुछ अलग हटकर करने के लिए आगे बढ़ते हैं तो कई विवाद उनका रास्ता रोक देती हैं। तो आइये जानते हैं बॉलीवुड की टॉप फिल्मों के बारे में जो सबसे ज्यादा पॉलिटिकल राजनैतिक विवादों में घिरी रहीं।

    माई नेम इज खान

    माई नेम इज खान

    माई नेम इज खान काफी समय तक विवादों में रही और खबर आई कि जब शाहरुख अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए अमेरिका गये थे तो उन्हें वहां पर रोका गया था और उनके साथ काफी बुरी तरह से व्यवहार किया गया। इसके अलावा शाहरुख ने ये भी कमेंट किया ता कि पाकिस्तानी क्रिकेट प्लेयर्स इंडिया में आकर आईपीएल क्यों नहीं खेल सकते जिसके चलते शिव सेना वालों ने भी शाहरुख का विरोध किया।

    मद्रास कैफे

    मद्रास कैफे

    मद्रास कैफे श्रीलंका और तमिल सिविल वॉर पर आधारित फिल्म थी जिसमें 1980-1990 के हालात दिखाए गए। फिल्म में राजीव गांधी की हत्या भी दिखाई गई।फिल्म के ट्रेलर के आते तमिल की ही कई पार्टी बैन की मांग करने लगी।फिल्म के लिए पिटिशन भी डाला गया लेकिन आखिरकार फिल्म रीलिज भी हुई और हिट भी।

    हैदर

    हैदर

    अब अगर फिल्म में कश्मीर की बात हो और कंट्रोवर्सी ना हो ये तो हो ही नहीं सकता। हैदर के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ।इस फिल्म के बारे में कहा गया कि इसमें इंडियन आर्मी को गलत दिखाया गया।

    पीके

    पीके

    पीके में धर्म पर कटाक्ष किया गया था जिसके बाद कई धार्मिक संगठनों को भी एतराज हुआ कि फिल्म में धार्मका भावनाओं के साथ छेड़छाड़ किया गया है।

    बजरंगी भाईजान

    बजरंगी भाईजान

    बजरंगी भाईजान के कंटेट को लेकर नहीं बल्कि नाम को लेकर कंट्रोवर्सी हुई थी। मतलब बजरंगी के साथ भाईजान शब्द को जोड़ने पर आपत्ती जताई थी हालांकि फिल्म पर इस कंट्रोवर्सी का असर नहीं हुआ।

    कुर्बान

    कुर्बान

    सैफ अली खान और करीना कपूर खान की कुर्बान का एक पोस्ट था जिसमें करीना कपूर खान की पीठ दिखाई गयी थी। वो भी बिना कपड़ों के। जिसके चलते शिव सेना वालों ने उनके खिलाफ आवाज उठाई।

    विश्वरूपम

    विश्वरूपम

    इस फिल्म में तो इतनी कंट्रोवर्सी हुई थी की तमिलनाडु की चीफ मिनिस्टर जयललिता भी सवालों के घेरे में आ गई थी।फिल्म पर मुस्लिमों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया था।

    हे राम

    हे राम

    हे राम में भी कमल हासन और शाहरूख खान थे। फिल्म के बारे में कहा गया कि फिल्म एंटी गांधी है और इसमें निगेटिव चीजों को दिखाया गया है। हालांकि फिल्म का इसपर असर पड़ा और फिल्म फ्लॉप हुई।

    आंधी

    आंधी

    आंधी फिल्म 1975 में आई थी और फिल्म में इंदिरा गांधी से प्रेरित।फिल्म में संजीव कुमार और सुचित्रा सेन थे।इसे देखने के बाद कांट छांट कर रीलिज करने की अनुमती मिली थी।

    कंट्रोवर्सी में भी नंबर 1!

    कंट्रोवर्सी में भी नंबर 1!

    MUST READ

    टॉप सिंगर..एक से बढ़कर एक गाने..कंट्रोवर्सी में भी नंबर 1!

    English summary
    like udta punjab Many bollywood movies got trouble before its release, see the list.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X