For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    गुरुद्वारे में कीर्तन गाने से शुरू हुआ बर्थडे ब्वॉय दिलजीत दोसांझ का सफर, बन गये ‘अर्बन पेंडू’

    |

    पंजाबी इंडस्ट्री का एक गायक जो सिर्फ पंजाबी ही नहीं बल्कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में भी सबका चहेता बन गया है। जी हां, हम बात कर रहे हैं एक्टर-गायक दिलजीत दोसांझ की। दिलजीत दोसांझ ने अपना करियर गुरुद्वारे में कीर्तन गाने से की थी लेकिन आज वह पंजाबी पॉप इंडस्ट्री के किंग बन गये हैं। 6 जनवरी को दिलजीत दोसांझ अपना हैप्पी वाला बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। दिलजीत का बचपन काफी तंगहाली में गुजरा लेकिन आज वह पंजाबी इंडस्ट्री में लोकप्रिय सिंगर्स में से हैं।

    आइए बर्थडे ब्वॉय दिलजीत दोसांझ की सफलता के इस सफर के बारे में बताते हैं :

    10वीं से आगे की नहीं हुई पढ़ाई :

    10वीं से आगे की नहीं हुई पढ़ाई :

    दिलजीत दोसांझ का बचपन तंगहाली में गुजरा था। आर्थिक तंगी की वजह से ही दिलजीत ने 10वीं कक्षा से आगे की पढ़ाई नहीं की। दिलजीत दोसांझ का असली नाम यह नहीं है। दरअसल, दिलजीत पंजाब के जालंधर जिले के दोसांझ गांव के रहने वाले हैं। उनका नाम दलजीत सिंह है। पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री में आने के बाद उन्होंने अपना नाम बदलकर दिलजीत दोसांझ रख लिया।

    बचपन से था गाने का शौक :

    बचपन से था गाने का शौक :

    दिलजीत दोसांझ को बचपन से ही गाने का काफी शौक रहा है। वह गुरुद्वारे में गुरबाणी कीर्तन किया करते थे। गुरुद्वारे में आने वाले लोगों को उनकी आवाज में कीर्तन सुनना भी काफी पसंद था। वहां लोगों को उनकी आवाज पसंद आने लगी और दिलजीत को काम भी मिलता चला गया। दिलजीत ने गुरुद्वारे के अलावा स्टेज शो और शादियों में भी परफॉर्म किया है।

    फैंस बुलाते हैं ‘अर्बन पेंडू’ :

    फैंस बुलाते हैं ‘अर्बन पेंडू’ :

    गुरुबानी कीर्तन गाते-गाते दिलजीत दोसांझ को पहचान मिलने लगी और वह पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री में भी छाने लगे। दिलजीत को उनके फैंस 'अर्बन पेंडू' के नाम से बुलाते हैं। अर्बन का मतलब शहरी होता है और पेंडू का मतलब पिंड यानी गांव होता है। इसलिए 'अर्बन पेंडू' मतलब होता है 'शहरी देहाती'।

    पहले एल्बम से बदला नाम :

    पहले एल्बम से बदला नाम :

    दिलजीत दोसांझ का पहला एलबम 'इश्क दा उड़ा अड़ा' 2004 में आयी थी। यह वह समय था जब दलजीत सिंह ने अपना नाम बदलकर दिलजीत दोसांझ रख लिया। दिलजीत ने पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री में 2011 में अपने कदम फिल्म 'द लायन ऑफ पंजाब' से रखा। इसका गाना 'लख 28 कुड़ी दा' लोगों को काफी पसंद आया। 2016 में दिलजीत ने फिल्म 'उड़ता पंजाब' से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा। इसके बाद दिलजीत 'सूरमा', 'फिल्लौरी', 'गुड न्यूज' में नजर आ चुके हैं।

    English summary
    Diljit Dosanjh started his career by singing kirtans in Gurudwara but today he has become the king of Punjabi pop industry. People started liking his voice and Diljit kept getting work. Diljit Dosanjh is celebrating his birthday on 6th January.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X