For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    न शाहरुख न सलमान.. इस सुपरस्टार का राज.. सेट पर लेकर पहुंचे भैंस.. दिलचस्प किस्सा

    By Utkarsh
    |

    "कितने आदमी थे.." 42 साल बाद भी ये डायलॉग आज तक हर किसी की जबान पर है। ये डॉयलॉग है 1975 में आई फिल्म शोले का और इसे अमर बनाया 'गब्बर' यानी अमजद खान ने। वे उस दौर के सबसे मशहूर और पसंद किए जाने वाले सुपरस्टार थे। अमजद खान 25 सालों पहले गुजर गए लेकिन हाल ही में उनके जन्मदिन पर एक बेहद दिलचस्प किस्सा याद आ गया।

    [Proof Pics..इनके स्टारडम के आगे सब फेल..साथ में नजर आते ही हो जाता है धमाका]

    अमजद खान दोस्तों के बीच हंसी-मसखरी के लिए खूब मशहूर थे। जहां बैठ जाते थे महफिल जमा लेते थे। वहीं अपने मसखरे अंदाज के चलते एक बार उन्होंने फिल्म के सेट पर ऐसा कारनामा कर दिया कि देखने वाले मुंह ताकते रह गए। फिल्म के सेट पर पहुंचे अमजद खान एक दफा अपने साथ भारी-भरकम भैंस लेकर पहुंच गए और लेजाकर सेट के बीचों-बीच बांध दी। ये नजारा देखकर फिल्म के सेट पर हर कोई हैरान था।

    वहीं, जब उनसे वजह पूछी गई तो अमजद का जवाब सुनकर सब इतना हंसे कि पेट ही दुख गया। आगे जानें क्यों सेट पर भैंस लेकर पहुंचे अमजद खान और ऐसा क्या जवाब दे दिया उन्होंने। साथ ही जाने कई और दिलचस्प किस्से-

    मसखरा अंदाज

    मसखरा अंदाज

    वैसे 'गब्बर' की जिंदगी भी काफी रोचक थी। उनके किस्से सेट पर और दोस्तों के बीच काफी मशहूर थे। वे अपनी मसखरे अंदाज के लिए जाने जाते थे।

    चाय वाला किस्सा

    चाय वाला किस्सा

    खासकर उनका चाय वाला किस्सा तो आज भी मशहूर है। अमजद खान को चाय का बेहद शौक था। जिसके चलते एक बार सेट पर उन्होंने ऐसा कारनामा किया कि लोग आज तक याद करते हैं।

    एक दिन में 30 कप चाय

    एक दिन में 30 कप चाय

    वे रोजाना करीब 30 कप पी जाते थे और जब उन्‍हें चाय नहीं मिल पाती तो वे परेशान हो जाते थें। एक बार वे पृथ्वी थियेटर में किसी प्ले की ‌‌रिहर्सल कर रहे थे, उस दौरान उन्हें चाय नहीं मिल पाई, जिससे वे परेशान हो गए।

    भैंस लेकर पहुंच गए

    भैंस लेकर पहुंच गए

    जब सेट पर उन्होंने पूछा तो बताया कि दूध खत्म हो गया है। बस फिर क्या था अगले दिन अमजद ने सेट पर दो भैंस लाकर बांध दी। साथ ही सबको हिदायत भी दी कि चाय बनती रहनी चाहिए।

    बॉलीवुड के गब्बर

    बॉलीवुड के गब्बर

    अमजद खान ने गब्बर के किरदार में इतना डूब गए थे कि लोग उन्हें इसी नाम से जानने लगे थे, जिस विलेन की दमदार आवाज आज भी लोगों के कानों में गूंजती है।

    तो ये होते गब्बर

    तो ये होते गब्बर

    शोले के गब्बर सिंह का रोल के लिए अमजद खान पहली पसंद नहीं थे। डायरेक्टर रमेश सिप्पी चाहते थे कि ये किरदार डैनी निभाएं। डैनी के पास उस समय इतना काम था कि उन्हें रोल करने से इनकार करना पड़ा। जिसके बाद ये रोल अमजद के पास गया।

    जब खुद डर गए गब्बर

    जब खुद डर गए गब्बर

    अमजद खान के पास रमेश सिप्पी जब स्क्रिप्ट लेकर पहुंचे। रोल पढ़ने पर वे डर गए। उन्हें ये किरदार बेहद चैलेंजिंग लगा। वे डरे हुए थे कि रोल उनसे हो भी पाएगा या नहीं।

    नहीं था आवाज में दम

    नहीं था आवाज में दम

    डायलॉग की बारी आई तो फिल्म के दूसरे लेखक जावेद अख्तर को अमजद की आवाज में दम नहीं लगा और उन्हें ड्रॉप करने की तैयारी होने लगी। बाद में अमजद ने इसे चुनौती की तरह लिया और बार-बार प्रैक्टिस के बाद आखिरकार वो कारनामा कर दिया जो लोगों को आज भी याद है।

    English summary
    amjad khan once braught a buffalo on film set..know the whole story here
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X