For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    ये हैं टीवी के सदाबहार शो..याद करोगे तो बचपन फिर से जी लोगे!

    By Shivani Verma
    |

    अगर आप हॉलीवुड की टीवी सीरिज़ के फ़ैन हैं, गेम ऑफ़ थ्रोन्स, हाउस ऑफ़ कार्ड्स जैसे शोज़ देखते हैं और भारतीय टेलीविज़न के सास-बहू सीरियल्स से परेशान होकर कहते हैं कि इन्हें शोज़ बनाने नहीं आते, तो हम आपको कुछ ऐसे शोज़ के बारे में बताते हैं जो कहीं से भी हॉलीवुड की टीवी सीरीज़ से कम नहीं। और इनकी गिनती 30 से ऊपर की है। विश्वास न हो तो इस लिस्ट पर एक नज़र डाल लीजिए।

    अलिफ लैला

    दूरदर्शन पर प्रसारित किया जाने वाला सीरियल अलिफ लैला ने उस समय पर सबके दिलों पर राज किया था। एक कड़ी खत्म हुई नहीं कि दूसरी कड़ी का इंतज़ार शुरू। अलादीन और उसके चिराग की कहानियां, शहजादे और शहजादी का इश्क कोई कैसे भूल सकता है।

    Oops..इस एक्टर ने जैकलीन को कहा 'गुंडी औरत'..लेकिन क्यों!

    विक्रम बेताल

    1985 में शुरू हुआ सीरियल विक्रम बेताल टीवी पर बहुत चर्चित था। यह बेताल पच्चीसी की कहानियों पर आधारित था और इसके 26 एपिसोड दिखाए गए थे। इसमें विक्रम का किरदार अरुण गोविल और बेताल का किरदार सज्जन ने निभाया था। विक्रम के किरदार को काफी लोगों ने पसंद किया था।

    कैप्टन व्योम

    ये देश का पहला हाईटेक शो था, जिसका हीरो पूरे ब्रह्मांड की रक्षा करता था। 90 के दशक के बच्चों का सबसे बड़ा हीरो था कैप्टन व्योम।

    सीरियल नंबर 1..हीरो भी नंबर 1..फिर भी नहीं मिली 9 महीने से सैलरी..SHOCKING!

    मोगली

    जंगल बुक के मोगली को कौन भूल सकता है। ये शो इतना हिट हुआ था कि इसकी रीमेक मूवी हाल ही में रिलीज़ हुई और सुपरहिट रही।शक्तिमान

    शक्तिमान

    शक्तिमान ने कई सालों तक 90 के दशक में लोगों का मनोरंजन किया था। ये सीरियल बच्चों के साथ-साथ बड़ों का भी फेवरेट बन गया था। सॉरी शक्तिमान, थैंक्यू शक्तिमान तो लोगों की ज़बान पर आज भी है। हालांकि शक्तिमान का दूसरा पार्ट जल्द आपके सामने आने वाला है।

    चंद्रकांता

    देवकी नंदन की किताब चंद्रकांता पर आधारित सीरियल चंद्रकांता 1994 में शुरू हुआ था और इसे खूब पसंद किया गया था। इस सीरियल पर काफी विवाद भी हुआ था। विवादों के कारण 1996 में इसे बंद कर दिया गया था। बाद में ये शो स्टार प्लस और सोनी टीवी एंटरटेनमेंट चैनल पर भी चला। चंद्रकांता का किरदार शिखा स्वरूप ने निभाया था।

    ब्योमकेश बख्शी

    बंगाली डिटेक्टिव सीरियल ब्योमकेश बख्शी में दिखाया गया था कि एक बंगाली डिटेक्टिव किस तरह बड़े बड़े मामले सुलझाता है। ब्योमकेश बख्शी का किरदार काफी फेमस हुआ था। यह सीरियल इसी नाम की किताब पर आधारित था।

    मालगुडी डेज़

    स्वामी (मालगुडी डेज़) आर के नारायण के कामों से प्रेरित सीरियल मालगुड़ी डेज की कहानियां थी। यह 1986 में शुरू हुआ था। इसमें स्वामी के किरदार ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं।

    राजा रैंचो

    ये भी एक डिटेक्टिव शो था। इस शो को बहुत पसंद किया गया था। इसमें राजा अपने बंदर रैंचो के साथ मिलकर गुत्थियां सुलझाता था।

    मुंगेरी लाल के हसीन सपने

    इस शो को जिसने भी देखा, इसकी कॉमेडी का दीवाना हो गया। इस शो के बारे में आपको ज़्यादा जानना है, तो अपने माता-पिता से पूछिए। उनकी यादों में आज भी ये शो होगा।

    English summary
    these are the populer Tv serial of 90s that will remember.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X