For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    मोदी के गुजरात से टीवी को हुआ प्यार

    By अंकुर शर्मा
    |

    कहते हैं साहित्य और फिल्मों में वो ही दिखाया जाता है जो कि समाज में घटित हो रहा होता है जो कि शायद सही भी है। आज पूरे देश में जो राजनीतिक माहौल है उसके मुताबिक गुजरात देश के अग्रणी राज्यों में गिना जाता है। लोग गुजरात के विकास के लिए नरेन्द्र मोदी को उसके विकास का श्रेय देते हैं खैर हम यहां पर मोदी को लेकर कोई बात नहीं करने वाले हैं। बल्कि हम यहां पर बात कर रहे हैं गुजरात का असर हमारे टीवी शो पर।

    हो सकता है कि यह अमिताभ बच्चन के एड का असर भी हो कि आजकल टीवी पर जितने शो प्रसारित हो रहे हैं उन सभी में गुजरात की महक देखी जा रही है। गुजरात के बड़े घराने, सांस्कृतिक घरानों को तो जैसे टीवी पर दिखाने की होड़ मच गयी है।

    पहले टीवी की दुनिया में पंजाबी संस्कृति हावी थी जिसे राजस्थान के कल्चर ने खत्म किया लेकिन अब गुजराती रीति-रिवाजों ने अपना टीवी पर वर्चस्व जमा लिया है। जो हिट है वो ही बिकता है कि तर्ज पर आज टीवी पर गुजरात की खुशबू महक रही है।

    आईये ऐसे ही चंद शो के बारे में आपको बताते हैं जिन्होंने टीवी दर्शकों को अपना मुरीद बना लिया है।

    साथ निभाना साथिया

    साथ निभाना साथिया

    स्टार प्लस पर गोपी, राशी और संस्कारों की कहानी कहता यह शो पूरी तरह से गुजरात की खुशबू महका रहा है। शो की लीड हिरोईन गोपी के बदल जाने के बावजूद यह शो लगातार टीआरपी चार्ट में बना हुआ है।

    संस्कार

    संस्कार

    हाल ही में कलर्स पर शुरू हुए इस शो ने अच्छी-खासी टीआरपी पकड़ ली है। इस शो में गुजरात के आदर्श संस्कार को दिखाया जा रहा है जिसकी सच्चाई विदेशी धरती पर धूमिल नहीं पड़ती है। गुजरात की खुशबू अमेरिका वालों को भी प्रभावित कर रही है।

    सरस्वती चंद्र

    सरस्वती चंद्र

    स्टार प्लस के मेगा धारावाहिक से पहली बार छोटे पर्दे पर उतरे निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली ने भी गुजराती कहानी को अपने लिए चुना। बेहतरीन और भव्य सेट में उन्होंने पूरी तरह से गुजरात की महक को अपने शो में महकाया है। जिसने कि पूरी तरह से लोगों को अपने मोहपाश में बांध लिया है।

    तारक मेहता का उल्टा चश्मा

    तारक मेहता का उल्टा चश्मा

    पिछले कई सालों से कॉमेडी में टॉप पर रहा यह शो भी गुजराती ही है। जिसने गुजरात की एक स्वस्थ छवि लोगों के दिलों में पैदा की है। इसकी टीआरपी मेंटेन रहने की वजह से आज भी लोग इसे देख रहे हैं।

    खिचड़ी

    खिचड़ी

    टीवी की दुनिया में इतिहास लिखने वाला शो खिचड़ी ना केवल टीवी पर हिट रहा बल्कि इसने बॉक्सऑफिस पर भी लोगों को एकत्र किया। संयुक्त परिवार की गुजराती कहानी को लोगों ने दिल से सराहा।

    क्यूंकि सास भी कभी बहू थी

    क्यूंकि सास भी कभी बहू थी

    गुजराती शो की बात हो और एकता कपूर के शो 'क्यूंकि सास भी कभी' बहू थी का जिक्र ना हो यह कैसे हो सकता है।पूरे आठ साल तक लगातार चलने वाले इस शो ने टीवी की दुनिया में इतिहास रचा था। लोग आज भी वीरानी फैमिली और तुलसी को याद करते हैं।

    एक दूसरे से करते है प्यार हम

    एक दूसरे से करते है प्यार हम

    स्टार प्लस का यह शो भी गुजरात की मीठी कहानी कहता है। शो की मिठास का ही नतीजा था कि लोग आज खाखरा नाश्ते में खाने लगे हैं।

    English summary
    Gujarati shows dominate television. From showing a typical Gujarati household to their festivals, functions and colorful wardrobe, the shows spread the vibrant colours of the state to the remotest parts of the country.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X