»   » आम लड़की की कहानी नहीं है टर्निंग 30

आम लड़की की कहानी नहीं है टर्निंग 30

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
Turning 30
कलाकार: गुल पनाग, पूरब कोहली, समीर मल्होत्रा, सिद्धार्थ मक्कड़, ईरा दूबे, राहुल सिंह, अनीता कंवर, आदि।
निर्माता: प्रकाश झा
निर्देशक: अलंकृता श्रीवास्तव
रेटिंग: 2/5

प्रकाश झा के निर्देशन का नाम आते ही आप सोच रहे होंगे कि टर्निंग 30 भी गंगाजल और राजनीति जैसी धमाकेदार फिल्‍म होगी। लेकिन ऐसा नहीं है। जैसा कि फिल्‍म रिलीज होने के पहले हमने आपको बताया था कि 'टर्निंग 30' 30 की उम्र तक पहुंच चुकी महिलाओं की कहानी है। बात तो सही है, लेकिन यह कहानी आम लड़की की कहानी नहीं है। मध्‍यम वर्गीय परिवार की लड़की की कहानी तो बिलकुल मत समझिएगा।

यह कहानी है उस लड़की की जो मॉल कल्‍चर से प्रेरित है, डिस्‍को में रातें गुजारती है, जमकर काम करती है और शादी! ऊफ ये क्‍या कह दिया आपने इस लड़की को शादी की जल्‍दी नहीं है। यही कारण है कि यह हिन्‍दी व अंग्रेजी में संवाद से भरी यह फिल्‍म एक विशेष वर्ग के लिए है। यदि आप परिवार के साथ फिल्‍म देखने जा रहे हैं, तो बेहतर होगा टर्निंग 30 मत देखें। कुछ बोल्‍ड सीन की वजह से इसे 'ए' सर्टिफिकेट मिला हुआ है।

फिल्‍म को देख आपको साफ लग जाएगा, कि प्रकाश झा ने इस पर ज्‍यादा ध्‍यान नहीं दिया। न तो डायलॉग अच्‍छे ढंग से लिखे गए हैं और न ही फिल्‍म का संपादन ठीक से हुआ यही नहीं अभिनय में भी कुछ लोग काफी पीछे रह गए हैं। असल में फिल्‍म के अधिकांश शॉट का निर्देशन प्रकाश झा की सहायक अलंकृता श्रीवास्‍तव ने किया है। फिल्‍म ने युवा वर्ग को टार्गेट तो किया, लेकिन कहानी या डॉयलॉग के बल पर नहीं, बल्कि बोल्‍ड सीन के बल पर।

फिल्‍म की कहानी की बात करें तो एक विज्ञापन कंपनी में काम करने वाली नैना सिंह (गुल पनाग) अपनी अलग ही दुनिया में जीना पसंद करती है। रोजाना डिस्‍को, पब में जाना, शराब पीना, दोस्‍तों के साथ पार्टियां करना उसके शौक हैं। पाश्‍चात्‍य संस्‍कृति में डूबी नैना जब 30 की होती है, तब उसे लगता है कि उसे शादी कर लेनी चाहिए।

वो अपने खास दोस्‍त (पूरब कोहली) के करीब आने के प्रयास करती है, लेकिन नैना की खराब आदतों की वजह से उसका दोस्‍त जो अब तक उसके साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहा था, उससे दूर चला जाता है। यहां से फिल्‍म बॉलीवुड की घिसीपिटी कहानियों जैसा रुख अपना लेती है और अंत में नैना को उसका प्‍यार मिल जाता है।

अभिनय की बात करें तो गुल पनाग और पूरब के अलावा किसी की भी ऐक्टिंग जोरदार नहीं लगी। फिल्‍म में गीत ठीक-ठाक सिचुवेशन पर फिल्‍माए गए हैं, लेकिन उनकी खास जरूरत नहीं थी। कुल मिलाकर यदि आप कुछ अलग चाहते हैं, तो शायद यह फिल्‍म आपको अच्‍छी लगे, लेकिन अगर आप फुल एंटरटेनमेंट और मस्‍ती की तलाश में हॉल जा रहे हैं, तो टर्निंग 30 का टिकट मत लीजिएगा।

English summary
Turning 30 is the story of modern girl who loves Mall Culture, pub, disco and all. When she made wedding plan, it was too late for her. This A certified film does not make much impact on public.
Please Wait while comments are loading...