For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    ये हैं वासु, इनसे सेक्स कंट्रोल नहीं होता- हंटर फिल्म रिव्यू

    |

    Rating:
    4.0/5

    हंटर को अगर सिर्फ सेक्स कॉमेडी बोलें तो गलत होगा, आज थियेटर में रिलीज हो रही इस फिल्म में सेक्स तो है लेकिन कॉमेडी के साथ साथ एक सच्चाई भी है जो कि अक्सर हम अपने आस पास देखते हैं। हंटर में सिर्फ एक किरदार ही हंटर नहीं है बल्कि ये एक मेल सोसाइटी की सोच है जिसे निर्देशक ने बड़ी ही खूबसूरती व मस्तीभरे अंदाज में पेश किया है।

    कहानी

    शुरु करते हैं वासु से हालांकि इनका असली नाम मंदार (गुलशन देवइया) है लेकिन ये अपना नाम वासु बताते हैं। वासु का अर्थ ये बताते हैं ऐसा इंसान जो सेक्स की इच्छा को कंट्रोल नही कर पाता और किसी के साथ भी सो जाता है। लेकिन हम आम बोल चाल की भाषा में ऐसे शख्स को ठरकी कहते हैं। खैर तो ये कहानी है मंदार की जो लड़कियों को सिर्फ सेक्स करने की वस्तु समझते हैं।

    इनकी इस सोच से टकराती हैं सविता भाभी (रचेल डिसूजा), पारुल (वीरा सक्सेना) और ज्योत्सना (साइं तमंकर)। लेकिन फिर एक उम्र पार करने के बाद मंदार को शादी करके सेटल होने का ख्याल आता है और उनकी मुलाकात होती है तृप्ति (राधिका आप्टे) से। राधिका से मिलने के बाद भी मंदार की वासुगीरी बंद नहीं होती।

    लेकिन क्या राधिका मंदार का ये सच जानने के बाद भी उससे शादी करती है और क्या मंदार अपनी इस वासुगीरी से छुटकारा पा पाता है। जानने के लिए आपको हंटर देखने पड़ेगी। लेकिन फिल्म से जुड़ी कुछ खास बातें हम जरुर आपसे शेयर करेंगे।

    कहानी

    कहानी

    हंटर फिल्म की कहानी बहुत ही रियलिस्टिक तौर पर लिखी गयी है। फिल्म की कहानी से आप रियल लाइफ को काफी आसानी से रिलेट कर सकते हैं। हालांकि कहीं कहीं पर कहानी थोड़ी से ओवर जरुर लगी है। सेक्स को सिर्फ फिल्म के प्रमोशन के लिये यूज नहीं किया गया है बल्कि इसे एक समाज में उपेक्षित बनाने की वजह से लोगों की सोच पर किस तरह का असर पड़ा है ये दिखाया गया है।

    किरदार

    किरदार

    किरदारों की बात करें तो कहानी के हिसाब से फिल्म का एक एक किरदार काफी सोच समझकर सेलेक्ट किये गये हैं। मंदार का किरदार फिल्म का मुख्य किरदार है और उसपर निर्देशक ने बहुत मेहनत की है। कहानी में भी मंदार के किरदार को काफी अच्छे से पिक्चराइज किया गया है। बचपन से लेकर 35 साल तक की उम्र को बिताने के दौरान किस तरह से उसकी सोच में परिवर्तन होता है ये दिखाया गया है।

    अभिनय

    अभिनय

    हंटर का हर एक किरदार खूबसूरत है और सभी ने बेहतरीन अभिनय किया है। गुलशन देवइया जो कि फिल्म के मुख्य कलाकार हैं उन्होंने बहुत ही बेहतरीन तरह से अपना किरदार निभाया है। एक्सप्रेशन, संवाद हर किसी में उन्होंने अपना बेस्ट दिया है। राधिका आप्टे की बात करें तो उन्होंने हमेशा की तरह हंटर में भी अपनी अभिनय प्रतिभा को साबित किया है। साइं तमंकर ने इंटिमेट सीन्स को बहुत ही खूबी के साथ पेश किया है वहीं रचेल के पास करने के लिए कुछ खास था नहीं उन्हें सिर्फ शो पीस कहा जा सकता है।

    संगीत

    संगीत

    हंटर का संगीत फिल्म की रिलीज से पहले ही काफी सुर्खियां बटोर चुका है। बप्पी लहरी की आवाज में 303 गाना तो सबसे ज्यादा फेमस हुआ है। इसके अलावा भी फिल्म के गाने जैसे चोरी चोरी, नैना, बचपन आदि बहुत खूबूसरत हैं। अलताफ राजा का दिल लगाना दर्शकों को थोड़ा निराश कर गया। उसका टाइमिंग कुछ ऐसा था कि दर्शकों को वो कहानी के साथ सिंक होता नहीं दिखा।

    देखें या नहीं

    देखें या नहीं

    हंटर जैसा कि आपको अभी तक पता चल ही गया होगा कि परिवार के साथ देखने लायक नहीं है। लेकिन एडल्ट फिल्म होने के नाते ये एक एंटरेटनिंग फिल्म है। निर्देशक ने हर एक पहलू का ध्यान रखा है और खूबसूरती के साथ उसे पेश किया है। कुल मिलाकर देखने लायक फिल्म है। कहीं कहीं पर ज्यादा फ्लैशबैक के चलते फिल्म से कनेक्ट करने में थोड़ी मुश्किल होती है।

    English summary
    Hunterrr movie is releasing today on Box Office, Hunterr is based on story of Male character played by Gulshan Devaiah who cant control his sex feeling. Here is Hunterr Review in hindi.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X