For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    ग्रैंड मस्ती ने ABCD को भी वल्गर बना दिया- फिल्म रिव्यू

    |

    2004 में आई फिल्म मस्ती ने लोगों को नॉनवेज कॉमेडी का ऐसा डोज दिया था कि लोग हंसते हंसते पागल हो गये थे और साथ ही फिल्म में कॉमेडी के साथ साथ कुछ सेंसिबल चीजें भी थीं जिन्होंने लोगों को फिल्म से बांधकर रखा था। लेकिन इस बार मस्ती के सीक्वल के चक्कर में लोगों को कॉमेडी का ग्रैंड डोज देने के लिए फिल्म के निर्देशक ने फिल्म ग्रैंड मस्ती को कुछ ज्यादा ही वल्गैरिटी दे दी जिसने फिल्म को सिर्फ और सिर्फ नॉनवेज जोक बनाकर रख दिया। हालांकि फिर भी लोगों को ये फिल्म देखकर काफी हंसी भी आई लेकिन वहीं कुछ लोगों का कहना है कि फिल्म में कुछ ज्यादा ही मस्ती के चक्कर में फिल्म को वल्गर बना दिया गया है।

    ग्रैंड मस्ती में आफताब शिवदासानी, रितेश देशमुख और विवेक ऑबरॉय अपने उसी पुराने मूड में दिखे और कई जगह बहुत ही बेहतरीन एक्स्प्रेशन के जरिये लोगों को हंसने पर मुजबूर कर दिया। लेकिन एडल्ट कॉमेडी के साथ ही एक फैमिली टच और इमोशन्स का कनेक्शन जो कि मस्ती में था कहीं ना कहीं ग्रैंड मस्ती में मिसिंग था। फिल्म के किरदार वही हैं और उनकी प्रॉबल्म वही है लेकिन बस फिल्म में लड़कों की पत्नियां और उनकी गर्लफ्रैंड्स बदल गयी हैं। फिल्म में अधिकर वही जोक्स यूज किये गये हैं जो कि मोबाइल मैसेजेस के जरिये यंग जेनरेशन एक दूसरे के साथ शेयर करती है।

    हालांकि ये कहा जा सकता है कि फिल्म कलेक्शन अच्छा करेगी लेकिन फिल्म की ऑडियंस की पहुंच इस बार काफी कम होगी। क्योंकि कुछ ज्यादा ही इस बार खुलापन दिखा दिया गया है। एबीसीडी से लेकर रिश्तों की परिभाषा भी बिल्कुल बदल दी गयी है।

    मीत, अमर और प्रेम कॉलेज फ्रैंड्स

    मीत, अमर और प्रेम कॉलेज फ्रैंड्स

    मीत, प्रेम और अमर कॉलेज टाइम से दोस्त हैं और कॉलेज खत्म होने के बाद तीनों अपनी फैमिली में व्यस्त हो जाते हैं। मीत, प्रेम और अमर तीनों की शादी हो जाती है और तीनों की पत्नियां तीनों को सेक्स के नाम पर ठेंगा देती हैं।

    तीनों की कोशिश अपनी पत्नियों संग वक्त बिताने की

    तीनों की कोशिश अपनी पत्नियों संग वक्त बिताने की

    मीत प्रेम और अमर को एक दिन उनके कॉलेज की तरफ से रीयूनियन का इनविटेशन मिलता है और वो तीनों अपनी अपनी पत्नियो को काम, परिवार से दूर ले जाकर कुछ अच्छा समय बिताने का प्लान करते हैं। लेकिन तीनों की पत्नियां कुछ ना कुछ बहाना बनाकर जाने से मना कर देती हैं।

    तीनों की मुसीबत

    तीनों की मुसीबत

    तीनों दोस्त मिलते हैं और अपनी प्रॉब्लम्स को शेयर करते हैं। फिर प्रेम के दिमाग में आइडिया आता है और वो कहता है कि हम तीनों यानी प्रेम, मीत और अमर को अकेले रीयूनियन पार्टी में जाना चाहिए और इतने समय बाद फिर से वही मस्ती करनी चाहिए।

    मीत, अमर और प्रेम अकेले गये रीयूनियन पार्टी में चांस मारने के लिए

    मीत, अमर और प्रेम अकेले गये रीयूनियन पार्टी में चांस मारने के लिए

    तीनों साथ में मिलकर अपने कॉलेज जाते हैं और रीयूनियन पार्टी पर जाकर लड़कियों पर चांस मारने की कोशिश करते हैं। लेकिन इस चक्कर में वो किसी और ही चक्कर में फंस जाते हैं और मुसीबत में पड़कर उससे निकलने का रास्ता ढूंढते हैं।

    प्रेम, मीत और अमर की मुसीबत

    प्रेम, मीत और अमर की मुसीबत

    लेकिन प्रेम, मीत और अमर अपनी अपनी पत्नियों से अपनी मुसीबत को छुपाने की कोशिश में काफी कुछ ऐसा कर जाते हैं जिससे कि उनकी पत्नियों को उनपर शक हो जाता है। और तीनों की पोल पट्टी खुल जाती है। अब आगे क्या होता है ये देखने के लिए देखिये ग्रैंड मस्ती।

    English summary
    Grand Masti movie starring Vivek Oberoi, Aftab Shidasani and Ritesh Deshmukh is a sequel of Masti Movie. Grand Masti is fully based on nonveg mobile jokes also this movie has lots of adult stuff that makes it little vulgar.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X