For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    दूल्हा मिल गया : बासी खिचड़ी

    By Staff
    |

    निर्देशक - मुदस्सर अजीज
    निर्माता - विवेक वासवानी
    कलाकार - सुष्मिता सेन, फरदीन खान, इशिता शर्मा, मोहित चड्ढा
    रिलीज डेट - 8 जनवरी 2010
    रेटिंग मीटर - 1/5

    समीक्षा - फिल्म दूल्हा मिल गया कई फिल्मों का जोड़-तोड़ है। माई फेयर लेडी, मनपसंद, हम तेरे आशिक हैं, दुल्हनिया वही जो पिया मन भाये जैसी बॉलीवुड फिल्मों की खिचड़ी परोसी गयी है, दूल्हा मिल गया में। सुष्मिता के ढलते करियर के लिए यह फिल्म संजीवनी जैसी है। लेकिन ये फिल्म दर्शकों पर अपना कोई प्रभाव छोड़ पाएगी इसमे संदेह है।

    शाहरुख इस फिल्म का मुख्य आकर्षण हैं। इस फिल्म की शूटिंग शाहरुख ने महज तीन दिनों में पूरी की है। खबर है कि उन्होने ये भूमिका विवेक से अपने संबंधों के चलते स्वीकार की। उनकी डेट्स की समस्या की वजह से ये फिल्म काफी दिनों तक अटकी भी रही।

    स्टोरी - फिल्म में चार कैरेक्टर हैं जिनके चारों ओर पूरी फिल्म घूमती है। पहला कैरेक्टर है, शिमर यानी सुष्मिता सेन ग्लैमर की दुनिया का चमकता सितारा हैं। उसकी जिंदगी में सबसे ज्यादा उसकी स्वतंत्रता और सफलता मायने रखती है। वह शादी और इससे जुड़ी जिम्मेदारियों से दूर ही रहना बेहतर समझती है।

    दूसरा कैरेक्टर है, पवन राज गांधी (शाहरुख खान) एक करोड़पति है। लेकिन उसकी जिंदगी में रिश्तों की बड़ी अहमियत है। तीसरा कैरेक्टर है रिश्तों और शादियों से डरने वाले नौजवान का। इस कैरेक्टर को फरदीन खान ने प्ले किया है। चौथा और अंतिम कैरेक्टर है समरप्रीत(इशिता शर्मा) का जो एक प्यारी सी पंजाबी कुड़ी बनी है।

    ये चारों कैरेक्टर आपस में गुंथे हुए हैं। इनकी मिसअंडरस्टैंडिंग, इमोशंस और कॉमेडी से मिल कर ये फिल्म बनी है। फिल्म की कहानी बिल्कुल सिंपल है।

    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X